उडऩे वाली गिलहरी

जंगल में जवानों को मिली उडऩे वाली गिलहरी

जंगल में जवानों को मिली उडऩे वाली गिलहरी

छत्तीसगढ़ में कांकेर के कोसरोंडा जंगल में एसएसबी के जवानों को उडऩे वाली गिलहरी मिली है। 26 मई को गश्त पर निकले जवानों ने जंगल से इसे पकड़ा। कैंप लाकर इसकी जानकारी लेने के बाद उसे वापस जंगल में छोड़ दिया गया। इसकी कुल लंबाई 3 फीट थी। ग्रामीणों के अनुसार 50 साल पहले तक यह प्रजाति यहां बड़ी संख्या में पाई जाती थी, लेकिन अब इनकी संख्या तेजी से घट रही है। कांकेर में पाई जाने वाली उडऩ गिलहरी भारतीय विशाल उडऩ गिलहरी प्रजाति की है। इसे वैज्ञानिक भाषा में टेरोमायनी या पेटौरिस्टाइनी कहते हैं।