ओमप्रकाश

पतिधर्म के लिए माता पार्वती ने प्राण की आहुति दे दी: ओमप्रकाश

 पतिधर्म के लिए माता पार्वती ने प्राण की आहुति दे दी: ओमप्रकाश

राजा दक्ष की ओर से यज्ञ में भगवान शिव को आमंत्रित नहीं किए जाने से नाराज होकर माता पार्वती ने अपमानित महसूस कर और क्रोध में आकर यज्ञ के अग्रिकुण्ड में कूदकर प्राण आहुति दे दी। पतिव्रता धर्म का पालन किया। उक्त कथा का वाचन व्यास पीठ पर बैठे पं. ओमप्रकाश शर्मा ने खरौद नगर में राधिका-राजेश्वर यादव के निवास पर भागवत कथा यज्ञ के अवसर पर किया।