कलेक्टर

काम न करने पर पर्यावरण, पीएचई अधिकारियों से कलेक्टर नाराज

कलेक्टर अपने मातहत अफ सरों से अच्छे खासे नाराज चल रहे हैं। वहीं टीएल की बैठक में दो विभाग प्रमुखों पर जमकर बरस पड़े थे। उनका कहना है कि हर विभाग के अधिकारी अपने विभागीय कामकाज में गंभीरता व तेजी लाए। केन्द्र व राज्य सरकार की सभी योजनाओं का लाभ जनता को मिले इसका भरपूर ध्यान रखें। कलेक्टर उमेश अग्रवाल पर्यावरण विभाग के अधिकारी मालू से भी नाराज हैं। सचिव अमनसिंह की चाही गई जानकारी को सही समय उपलब्ध नहीं कराया गया। वहीं पीएचई के 9 इंजीनियर दुर्ग जिले में होने के बाद भी पीएचई के कामकाज से संतुष्ट नहीं है। उन्होंने शहरी सहित ग्रामीण क्षेत्रों में पीएचई के कार्यों में कसावट लाने के निर्देश दिए। उन्ह

कैम्प लगाकर करें बायोमेट्रिक वेरीफिकेशन : कलेक्टर

  कैम्प लगाकर करें बायोमेट्रिक वेरीफिकेशन : कलेक्टर

राष्ट्रीय पेंशन योजना के हितग्राहियों को पेंशन राशि उनके खाते में सीधे ट्रांसफर की जाएगी। इसके लिए सभी हितग्राहियों का खाता व आधार का सत्यापन किया जाना है। कलेक्टर ने सभी ग्राम पंचायतों में कैम्प लगाकर 15 दिन के भीतर शत-प्रतिशत हितग्राहियों को बायोमेट्रिक वेरीफिकेशन करने का निर्देश टीएल की बैठक में दिया।

युवाओं को रोजगार देना कौशल विकास योजना का उद्देश्य : कलेक्टर

मुख्यमंत्री कौशल विकास योजना के तहत जिले के सभी शासकीय-अशासकीय व्यवसायिक प्रशिक्षण देने वालों की 8 नवम्बर को बैठक लेकर कलेक्टर ने उनके कामकाजों की समीक्षा की । बैठक में उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री कौशल विकास योजना का उद्देश्य केवल बेरोजगार युवाओं को प्रशिक्षण देने तक ही सीमित नही है, बल्कि उन्हें रोजगार से जोडऩे का है। इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए शासकीय और अशासकीय व्यवसायिक प्रशिक्षण का कार्य करें। प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत बड़ी संख्या में आवास बनाए जा रहे हैं इसके लिए राजमिस्त्रियों की अधिक आवश्यकता है । इसे ध्यान में रखते हुए राजमिस्त्रियों के लिए प्रशिक्षण दिए जाए । इसी तरह आए दिन नल

जेम के माध्यम से ही हो शासकीय खरीदी : कलेक्टर

जेम के माध्यम से ही हो शासकीय खरीदी। ये बाते शुक्रवार को कलेक्टर मो.कैसर अब्दुल हक ने कलेक्टोरेट में बैठक के दौरान कही। उन्होंने जिले के सभी विभाग प्रमुख अधिकारियों को अपने-अपने विभागों में होने वाले शासकीय खरीदी जेम पोर्टल के माध्यम से ही करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने जिले के सभी अधिकारियों को इस पोर्टल में अपना पंजीयन जल्द से जल्द कराने के निर्देश जारी किए हैं।
कलेक्टर की ओर से समस्त विभागीय अधिकारियों को जेम वेबसाइट के माध्यम से शासकीय सामग्रियों की खरीदी सुनिश्चित करने के निर्देश भी दिए गए हैं।

वैकल्पिक फसलों के लिए किसानों को प्रोत्साहित करें: कलेक्टर

वैकल्पिक फसलों के लिए किसानों को प्रोत्साहित करें: कलेक्टर

बुधवार को जिला कार्यालय के सभाकक्ष में कृषि, पशुधन विकास, बीज निगम, मत्स्य पालन विभाग के कार्यो की कलेक्टर डॉ. एस. भारतीदासन ने समीक्षा की। कलेक्टर ने कहा कि जैविक पद्धति से खेती करना किसानों के लिए लाभप्रद है। बाजार में जैविक उत्पादों की मांग बढ़ी है। किसान इससे अधिक लाभ कमा सकते है। जैविक खेती से भूमि की उर्वरता बनी रहती है। रासायनिक खाद का कम उपयोग पर्यावरण की सुरक्षा और शारीरिक स्वस्थ्य के लिए लाभप्रद है।

कलेक्टर जनदर्शन स्थगित

जिला कार्यालय के जनदर्शन कक्ष में हर सप्ताह मंगलवार को होने वाला कलेक्टर जनदर्शन इस मंगलवार 10 अक्टूबर को नहीं होगा। कलेक्टर ने बताया कि जनदर्शन कार्यक्रम और समय सीमा की बैठक इस सप्ताह स्थगित की गई है

काम-काज की समीक्षा, सी ग्रेड स्कूलों पर विशेष ध्यान दें : कलेक्टर

गुरुवार को जिला कार्यालय के सभाकक्ष में शिक्षा विभाग, आदिम जाति कल्याण विभाग, राजीव गांधी शिक्षा मिशन और साक्षर भारत अभियान के काम-काज की कलेक्टर डॉ एस भारतीदासन ने समीक्षा की। कलेक्टर ने कहा कि सी ग्रेड स्कूलों के स्तर सुधार के लिए विशेष प्रयास करने की आवश्यकता है। इसके लिए संबंधित विकासखण्ड शिक्षा अधिकारी और संकुल प्रभारी इन स्कूलों के शिक्षण कार्य और उपलब्ध संसाधनों की नियमित समीक्षा करें। सी ग्रेड वाले स्कूलों में शिक्षकों की उपस्थिति, वहां की मांग और उपलब्ध संसाधनों के उपयोग की नियमित समीक्षा करें।

थर्ड जेंडर्स को योजनाओं की जानकारी देने बनेंगे सहायता केन्द्र : कलेक्टर

जिले में थर्ड जेंडर्स को योजनाओं की जानकारी देने के लिए सहायता केन्द्र बनाए जाएंगे। मंगलवार को ये बातें कलेक्टर डॉ. सी.आर. प्रसन्ना ने कही । कलेक्टर ने उन्हें मुख्यमंत्री कौशल विकास योजना से जुड़कर प्रशिक्षित होने और आत्मनिर्भर बनने की हिदायत दी।

पेयजल संधारण के लिए 300 युवाओं को करें प्रशिक्षित: कलेक्टर

पेयजल संधारण के लिए 300 युवाओं को करें प्रशिक्षित: कलेक्टर

कलेक्टोरेट में बुधवार को लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के अधिकारियों की बैठक हुई। बैठक में कलेक्टर नरेन्द्र कुमार दुग्गा ने पेयजल के लिए की गई व्यवस्था की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि किसी भी ग्राम में स्थापित हैण्डपंप खराब होने और नलजल योजना की नियमित संचालन नहीं होने की जानकारी मिलती रहती है। इस समस्या के निदान के लिए प्रत्येक ग्राम पंचायत में शिकायत पेटी रखने को कहा। उन्होंने कहा कि शिकायत पेटी का अवलोकन प्रत्येक तीन दिन में करने और शिकायतों का निराकरण करने के लिए लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के सहायक अभियंता को निर्देश दिए। पेयजल स्रोतों के संधारण और मरम्मत के लिए जिले में 300 युवाओं को म

टीकाकरण के लिए समन्वय जरूरी: कलेक्टर

 टीकाकरण के लिए समन्वय जरूरी: कलेक्टर

शत-प्रतिशत बच्चों तथा गर्भवती महिलाओं का टीकाकरण के लिए स्वास्थ्य और महिला एवं बाल विकास विभाग में समन्वय जरूरी है। बुधवार को ये बातें कलेक्टर डा. भारती दासन ने बैठक में कही।