नेशनल लोक अदालत

नेशनल लोक अदालत में 132 प्रकरणों का हुआ निराकरण

नेशनल लोक अदालत में 132 प्रकरणों का हुआ निराकरण

सुप्रीम कोर्ट और राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण के निर्देशानुसार 8 दिसंबर को आयोजित नेशनल लोक अदालत में जिला एवं सत्र न्यायालय दंतेवाड़ा सहित व्यवहार न्यायालय बचेली, बीजापुर और सुकमा में न्यायाधीशों की ओर से 132 प्रकरण निराकृत कर 80 लाख 94 हजार 935 रूपए का अधिनिर्णय पारित किया गया। वहीं दंतेवाड़ा जिले में राजस्व संबंधी 758 प्रकरणों का निराकरण किया गया। सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण दंतेवाड़ा महेश साहू ने बताया कि 8 दिसंबर को आयोजित नेशनल लोक अदालत में प्री-लिटिगेशन के तहत बैंक वसूली बिजली पेयजल और दूरसंचार संबंधी 81 तथा न्यायालय में लंबित प्रकरण निराकृत किये गये। इस दौरान जिला एवं सत्र न्यायध

नेशनल लोक अदालत 8 दिसंबर को

राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण नई दिल्ली एवं राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण बिलासपुर के मार्गदर्शन में 8 दिसम्बर को नेशनल लोक अदालत का आयोजन जिला न्यायालय एवं तहसील न्यायालय में किया जा रहा है। नेशनल लोक अदालत के लिए 36 खण्डपीठ का गठन किया गया है। नेशनल लोक अदालत के लिए 1 हजार 990 न्यायालीयन प्रकरण तथा 5 हजार 419 प्री-लिटिगेशन प्रकरण चिन्हांकित किए गए हैं। 1 हजार 34 दाण्डित प्रकरण, 136 विद्युत प्रकरण, 141 क्लेम प्रकरण, 34 पारिवारिक मामले, 572 चेक अनादरण मामले, 73 व्यवहारिक मामले चिन्हांकित किए गए हैं। इसके अतिरिक्त विद्युत, बैंकिंग एवं अन्य के 5 हजार 419 प्री-लिटिगेशन सुनवाई के लिए रखे जाएंगे। नेश

नेशनल लोक अदालत के लिए 6 खंडपीठ गठित

राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण तथा राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के निर्देशानुसार आगामी 8 दिसंबर को नेशनल लोक अदालत का आयोजन किया जायेगा। इस नेशनल लोक अदालत में राजस्व संबंधी प्रकरणों के निराकरण के लिए जिले में 6 खंडपीठ का गठन किया गया है। इस परिप्रेक्ष्य में अपर कलेक्टर एवं अतिरिक्त जिला दण्डाधिकारी दिलीप अग्रवाल की ओर से जारी परिपत्र में खंडपीठ एक के लिए अनुविभागीय अधिकारी राजस्व बीआर ठाकुर को पीठासीन अधिकारी तथा आरएन साय को सुलहकर्ता सदस्य, खंडपीठ दो के लिए तहसीलदार कटेकल्याण लिंगराज सिदार को पीठासीन अधिकारी एवं भीमा पोडिय़ामी को सुलहकर्ता सदस्य, खंडपीठ 3 के लिए तहसीलदार दंतेवाड़ा मनोज बंजारे क