प्राकृतिक खेती

शून्य बजट-प्राकृतिक खेती देश और समाज के लिए कल्याणकारी : कृषिमंत्री

कृषिमंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने कहा है कि रासायनिक उर्वरकों, कीटनाशक दवाओं आदि के उपयोग से कृषि की लागत बढऩे से खेती अब कम लाभकारी व्यवसाय बनती जा रही है, ऐसे में `शून्य बजट - प्राकृतिक खेतीÓ की अवधारणा न केवल किसानों बल्कि देश और समाज के लिए भी कल्याणकारी साबित हो रही है। उन्होंने कहा कि `शून्य बजट-प्राकृतिक कृषि` ऐसी तकनीक है जिसमें कृषि करने के लिए न किसी रासायनिक उर्वरक का उपयोग किया जाता है और ना ही बाजार से कीटनाशक दवाएं खरीदने की जरूरत पड़ती है। श्री अग्रवाल ने इस पद्धति के आविष्कारक पद्मश्री सुभाष पालेकर के प्रति आभार व्यक्त किया और घोषणा की कि छत्तीसगढ़ में कृषि विभाग, बीज निगम और कृषि

शून्य बजट-प्राकृतिक खेती देश और समाज के लिए कल्याणकारी : कृषि मंत्री

कृषि मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने कहा है कि रासायनिक उर्वरकों, कीटनाशक दवाओं आदि के उपयोग से कृषि की लागत बढऩे से खेती अब कम लाभकारी व्यवसाय बनती जा रही है, ऐसे में ``शून्य बजट - प्राकृतिक खेती की अवधारणा न केवल किसानों बल्कि देश और समाज के लिए भी कल्याणकारी साबित हो रही है। उन्होंने कहा कि ``शून्य बजट-प्राकृतिक कृषि ऐसी तकनीक है जिसमें कृषि करने के लिए न किसी रासायनिक उर्वरक का उपयोग किया जाता है और ना ही बाजार से कीटनाशक दवाएं खरीदने की जरूरत पड़ती है। उन्होंने इस पद्धति के आविष्कारक पद्मश्री सुभाष पालेकर के प्रति आभार व्यक्त किया और घोषणा की कि छत्तीसढ़ में कृषि विभाग, बीज निगम और कृषि विज्ञान