मनरेगा

मनरेगा के तहत भुगतान नहीं मिलने से परेशान ग्रामीण, डाकघर के चक्कर लगाने को मजबूर

मनरेगा के तहत भुगतान नहीं मिलने से परेशान ग्रामीण, डाकघर के चक्कर लगाने को मजबूर

वैसे तो धमतरी जिले को मनरेगा में बेहतर काम करने के लिए कई पुरस्कार मिल चुके हैं, लेकिन फिर भी मनरेगा के तहत काम कर रहे ग्रामीणों का यहां बुरा हाल है.

दरअसल मनरेगा के तहत काम किए मजदूरों का भुगतान सालों से लंबित है, जिसके कारण उनके सामने भूखों मरने की नौबत आ गई है. मजदूरी के लिए वे दर-दर भटक रहे हैं, उसके बावजूद उन्हें उनकी मजदूरी नहीं मिल पा रही है.

11 माह से मनरेगा मजदूरों को नहीं मिली मजदूरी

11 माह से मनरेगा मजदूरों को नहीं मिली मजदूरी

11 माह से मजदूरी लंबित होने से परेशान अकलतरा के ग्राम हरदी से मनरेगा के मजदूर मंगलवार को जिला मुख्यालय के प्रधान डाकघर पहुंचकर शीघ्र भुगतान की मांग की। उनके साथ जिला पंचायत सदस्य संदीप यादव भी मौजूद थे। मजदूरों का कहना है कि पंचायत विभाग की ओर से उनके खाते में रकम डाले जाने की बात कही जा रही है, ऐसे में डाक विभाग की लापरवाही से मजदूरों को मजदूरी नहीं मिल पा रही । पैसे नहीं मिलाने से परेशान लोगों ने चेतावनी दी है कि अगर जल्द ही उनकी मजदूरी नहीं मिली तो फिर के आंदोलन करने पर विवश होंगे ।
00 डाकघर पहुंचे मनरेगा मजदूर :