राज्योत्सव

राज्योत्सव एक दिन का

राज्योत्सव 2018 के अवसर पर केवल एक दिन 1 नवम्बर की रात्रि में सभी जिला मुख्यालयों और शासकीय भवनों पर रोशनी की जाएगी। आदर्श आचार संहिता लागू होने के कारण जिला मुख्यालयों में राज्य स्थापना दिवस राज्योत्सव आयोजित नहीं किया जाएगा।

राज्योत्सव पर जिला मुख्यालय के शासकीय भवनों में रोशनी करने के निर्देश

विधानसभा निर्वाचन के तहत् आदर्श आचरण संहिता प्रभावशील होने के कारण इस वर्ष जिलों में राज्य स्थापना दिवस आयोजित नहीं किया जाएगा, केवल 1 नवम्बर की रात्रि में जिला मुख्यालय के शासकीय भवनों में रोशनी करने के निर्देश दिए गए हैं। कलेक्टर रानू साहू ने उक्त निर्देश का पालन सुनिश्चित करने के लिए अधिकारियों को निर्देशित किया है।

इस बार केवल तीन दिनों का होगा राज्योत्सव का आयोजन, अटल नगर में आयोजित किये जायेंगे रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम

इस बार केवल तीन दिनों का होगा राज्योत्सव का आयोजन, अटल नगर में आयोजित किये जायेंगे रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम

मुख्य सचिव अजय सिंह की अध्यक्षता में आज मंत्रालय में राज्योत्सव 2018 के आयोजन के संबंध में बैठक आयोजित हुई,जिसमें तय किया गया कि राज्योत्सव 2018 का आयोजन राज्य स्तर पर किया जाएगा। एक से तीन नवम्बर तक राज्योत्सव का आयोजन अटल नगर (नया रायपुर) स्थित पंडित श्यामा प्रसाद मुखर्जी औद्योगिक एवं व्यापार परिसर में किया जाएगा। मुख्य सचिव अजय सिंह ने कहा कि इस वर्ष विधानसभा आम चुनाव 2018 को ध्यान में रखते हुए प्रदेश के जिलों में राज्योत्सव का आयोजन नहीं होगा।

राज्योत्सव : चौथे दिन के सांस्कृतिक कार्यक्रम

नया रायपुर में आयोजित राज्योत्सव में चतुर्थ दिवस कल 4 नवम्बर को विभिन्न आकर्षक सांस्कृतिक आयोजन होंगे। स्कूली और कॉलेज के विद्यार्थी सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत करेंगे। सरगुजा अंचल के लोक कलाकारों का शैला और कर्मा नृत्य पंडित राम राजवाड़े और साथी कलाकार प्रस्तुत करेंगे। एकल नृत्य में पलक तिवारी कथक नृत्य, अनन्या चौकसे भारतनाट्यम, आर्या नंदे और अंकिता राउत ओडिसाी प्रस्तुत करेंगी।
पदमश्री जीसीडी भारती बंधु कबीर गायन करेंगे। इंदौर मध्यप्रदेश की इंडिया गाट टेलेंट की रागिनी मक्कड़ कार्यक्रम प्रस्तुत करेगी। इसके बाद अखिल भारतीय कवि सम्मेलन का आयोजन होगा।

राज्योत्सव : गुजरात-ओडिसा के कलाकार बांटेंगे संस्कृति

छत्तीसगढ़ में चल रहे राज्योत्सव 2017 में गुजरात और ओडिसा के कलाकार अपने राज्यों की संस्कृति शुक्रवार को छत्तीसगढ़ के कलाकरों के बीच साझा करेंगे। इस दौरान छत्तीसगढ़ के कलाकार भी छत्तीसगढ़ी संस्कृति अन्य राज्यों के कालाकरों संग बांटी।
गुरुवार को देर रात राज्योत्सव स्थल नया रायपुर के पं. श्यामा प्रसाद मुखर्जी औद्योगिक परिसर में कलाकारों, स्कूली और कॉलेज के छात्रों, बस्तर के लोक नृत्य, चिन्हारी लोकमंच, रॉक बैंड सहित अन्य सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति दी, जिसे दर्शकों ने खूब सराहा।

राज्योत्सव में सांसद होंगे मुख्य अतिथि

राज्योत्सव का कार्यक्रम 3 नवम्बर को वशिष्ट कम्युनिटी हॉल जशपुर में किया जाएगा। संसदीय सचिव शिवशंकर साय पैकरा व राज्यसभा सांसद राजा रणविजय सिंह जूदेव मुख्य अतिथि के रूप में मौजूद रहेंगे। सरगुजा विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष और जशपुर विधायक राजशरण भगत कार्यक्रम की अध्यक्षता करेगें।

राज्योत्सव 3 को

जिला मुख्यालय में राज्योत्सव 3 नवम्बर को होगा। स्थानीय बेसिक स्कूल मैदान में इस एकदिवसीय महोत्सव कार्यक्रम के सूचारु संचालन के लिए कलेक्टर कार्तिकेया गोयल की ओर से अधिकारियों को दायित्व सौंपे गए है। अधिकारियों को सौंपे गए दायित्वों को गंभीरता तथा तत्परतापूर्वक संपादन सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए है।

राज्योत्सव के लिए अधिकारियों की जिम्मेदारी निर्धारित

जिले में राज्य स्थापना दिवस पर 3 नवम्बर को जिला मुख्यालय के सरदार पटेल मैदान में राज्योत्सव के सफल बनाने के लिए बुधवार को अधिकारियों की जिम्मेदारी निर्धारित की है। राज्योत्सव के संबंधी समस्त कार्यों के सम्पादन और अन्य आवश्यक व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए अनुविभागीय अधिकारी राजस्व बालोद हरेष मण्डावी को नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है।

राज्योत्सव पर 3 को होंगे कई कार्यक्रम

जिला मुख्यालय में 3 नवम्बर को एक दिवसीय राज्योत्सव का कार्यक्रम किया गया है। कार्यक्रम में विभिन्न विभागों की ओर से प्रदर्शनी लगाकर योजनाओं का प्रचार किया जाएगा। शाम को स्थानीय कलाकार प्रस्तुति देंगे। कार्यक्रम में वन, विधि और विधायी कार्य मंत्री मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित रहेगें।

राज्योत्सव दुर्ग में प्रेम प्रकाश पांडे होंगे मुख्य अतिथि

राज्य स्थापना दिवस के अवसर पर जिला मुख्यालयों में 03 नवम्बर को आयोजित होने वाले राज्योत्सव एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम के लिए मंत्रीगण एवं संसदीय सचिवों को मुख्य अतिथि बनाया गया है।