रिश्वत मांगने

रिश्वत मांगने वाले नायब तहसीलदार को 5 साल की सजा

रिश्वत मांगने वाले नायब तहसीलदार को दुर्ग न्यायालय ने मंगलवार को 5 साल की सजा से दंडित किया है । उन्होंने पैतृक जमीन का नामांतरण किए जाने के नाम पर रिश्वत मांगा था। इसके अलावा उक्त नायब तहसीलदार पर 80 हजार रुपए का अर्थदंड भी लगाया गया है।
जिले में यह पहला मामला है जब भ्रष्टाचार से जुड़े किसी मामले में अधिकारी को 5 साल तक की सजा सुनाई गई है । न्यायाधीश गरिमा शर्मा के न्यायालय से यह फैसला आया है। मामले में राज्य शासन की ओर से पैरवी अतिरिक्त लोक अभियोजक विजय कसार ने की।
00 क्या था पूरा मामला :