विधानसभा निर्वाचन

विधानसभा निर्वाचन: 34 उम्मीदवार नहीं बचा पाये जमानत

विधानसभा निर्वाचन 2018 के दौरान कोरबा जिले की चारो विधानसभाओं में कुल 34 उम्मीदवारों की जमानत जब्त हो गई है। लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम 1951 की धारा 158-4 के प्रावधानों के अनुसार सभी 34 उम्मीदवारों से कुल 2 लाख 75 हजार रूपये की राशि राजसात की गई है। इन प्रत्याशियों में आम्बेडकराईट पार्टी आफ इंडिया के चंद्रभूषण कंवर, धर्मेंद्र सिंह धु्रव, दिलीप सिंह कंवर, अलवान सिंह, अधिकार विकास पार्टी के दिलीप सिंह कंवर, निर्दलीय तुलसीराम खैरवार, रामदयाल उरांव, अमरनाथ अग्रवाल, डूडेन खांडे, पवन महंत, रज्जाक अली, राजेश पाण्डेय, रामचरण पटेल, रामलाल सूर्यवंशी, विशाल केलकर, शत्रुघन साहू, शेरे हक, सुशील कुमार विश्वकर

निर्वाचन व्यय लेखा प्रस्तुत करना होगा 10 तक

विधानसभा निर्वाचन अंतर्गत जिले में चुनाव लड़ने वाले अभ्यर्थियों को निर्वाचन व्यय लेखा जिला निर्वाचन अधिकारी को 10 जनवरी तक अनिवार्यतः प्रस्तुत करना होगा। उप जिला निर्वाचन अधिकारी बीबी पंचभाई से मिली जानकारी अनुसार लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम की धारा-78 के अनुसार निर्वाचन लड़ने वाले प्रत्येक अभ्यर्थी को निर्वाचनों के परिणाम घोषित होने के 30 दिनों के अंदर जिला निर्वाचन अधिकारी के पास अपने निर्वाचन व्ययों के लेखा दाखिल करनी होती है। उक्त अवधि 10 जनवरी 2019 को पूर्ण हो रही है। जिले में विधानसभा निर्वाचन 2018 के ऐसे अभ्यर्थी जिन्होंने अभी तक निर्वाचन व्यय लेखा दाखिल नहीं किए हैं, वे 10 जनवरी 2019 को निर

अभ्यर्थी चुनाव खर्च का ब्यौरा जमा कर सकेंगे 10 तक

विधानसभा निर्वाचन लड़ने वाले अभ्यर्थी अपने चुनावी खर्च का ब्यौरा 10 जनवरी को शाम 5 बजे तक जिला निर्वाचन कार्यालय में जमा कर सकेंगे। अभ्यर्थियों को चुनावी खर्च संबंधी लेेखा प्रस्तुत करने के संबंध में मंगलवार को जिला कलेक्टोरेट में विधानसभा क्षेत्र क्रमांक 50 रायपुर नगर उत्तर, 51 रायपुर नगर दक्षिण, 52 आरंग, और 53 अभनपुर के व्यय प्रेक्षक प्रसुन काबरा ने कलेक्टोरेट सभाकक्ष में चारों विधानसभाओं के अभ्यर्थियों और उनके निर्वाचन अभिकर्ताओं की बैठक ली।

विधानसभा निर्वाचन लड़ने वाले अभ्यर्थी 3 जनवरी तक व्यय लेखा जमा करें

विधानसभा निर्वाचन 2018 के लिए निर्वाचन लड़ने वाले 26-लोरमी और 27-मुंगेली (अ.जा.) के सभी अभ्यर्थियों को सूचित किया गया है कि वे अपना मूल व्यय लेखा, मूल व्हाउचर्स, व्यय कथन सार और शपथ पत्र आदि 03 जनवरी तक जिला कोषालय अधिकारी मुंगेली को जांच सत्यापन आदि कार्य के लिए जमा करें। ध्यान रहे विलंब की स्थिति में व्यय लेखा पंजी को जांच उपरांत भारत निर्वाचन आयोग नई दिल्ली और मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी छत्तीसगढ़ रायपुर को प्रेषित किये जाने में अनावश्यक विलंब होगा। अतः व्यय लेखा निर्धारित समय पर अनिवार्यतः जमा करें।

विधानसभा निर्वाचन 2018 अंतर्गत मतगणना 11 दिसंबर को

जिला निर्वाचन कार्यालय बिलासपुर से प्राप्त जानकारी के अनुसार विधानसभा निर्वाचन 2018 के लिए बिलासपुर जिले के सात विधानसभा क्षेत्रों की मतगणना शासकीय इंजीनियरिंग महाविद्यालय कोनी परिसर स्थित इलेक्ट्रॉनिक एवं टेलीकम्यूनिकेशन भवन में 11 दिसंबर 2018 को प्रात: 8 बजे से प्रारंभ होगी। कलेक्टर एवं निर्वाचन अधिकारी ने सभी अभ्यर्थियों को मतगणना की तिथि एवं स्थान से अवगत कराने के लिए सभी विधानसभा क्षेत्रों के रिटर्निंग अधिकारियों को निर्देशित किया है।

मतदान तिथि व उसके एक दिन पूर्व के विज्ञापनों के प्रकाशन के लिए अधिप्रमाणन अनिवार्य

विधानसभा निर्वाचन-2018 के तहत जिले के तीनों विधानसभा क्षेत्रों में मतदान आगामी 20 नवम्बर को किया जाएगा। तत्संबंध में कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी डॉ. सी.आर.

ध्वनि विस्तारक यंत्रों का उपयोग चलायमान स्थिति में ही कर सकेंगे

विधानसभा निर्वाचन के अंतर्गत वाहनों में ध्वनि विस्तारक यंत्रों का उपयोग केवल चलायमान स्थिति में ही वैध किया गया है। स्थायी रूप से सभा के रूप में ध्वनि विस्तारक यंत्रों का प्रयोग प्रतिबंधित किया गया है। उपरोक्त नियमों का पालन नहीं किए जाने पर संबंधित के विरूद्ध कोलाहल अधिनियम के तहत छः माह का कारावास या एक हजार रूपए जुर्माना अथवा दोनों के साथ दण्डित किया जा सकता है।

मतदान केन्द्र की स्थिति के अनुसार लगेंगे ईव्हीएम और व्हीव्ही पैट

विधानसभा निर्वाचन के अंतर्गत मतदान दिवस में मतदान केन्द्र की खिड़की-दरवाजे की दिशा को ध्यान में रखते हुए मतदान कक्ष में ईव्हीएम और व्हीव्ही पैट मशीन के स्थान का चयन किया जाएगा। उल्लेखनीय है कि मतदान केन्द्र में सुबह से शाम तक सूर्य की स्थिति के आधार पर मतदान कक्ष के भीतर प्रकाश और तापमान में परिवर्तन हो सकता है। ऐसे स्थिति में दोपहर में प्रकाश और तेज धूप सीधे मशीन पर पड़ने की स्थिति में मशीन के खराब होने की संभावना रहेगी। उक्त स्थिति को ध्यान में रखते हुए सेक्टर अधिकारी मतदान दिवस पर उपयुक्त स्थान का चयन करेगा।

मतदाताओं ने उत्साह के साथ मताधिकार का उपयोग किया

मतदाताओं ने उत्साह के साथ मताधिकार का उपयोग किया

विधानसभा आम चुनाव के पहले चरण में बस्तर में 12 नवम्बर को मतदान का कार्य सफलतापूर्वक संपन्न हुआ। मतदान केन्द्रों में सुबह से ही मतदाताओं की लम्बी कतार देखी गई। मतदाताओं ने स्वस्फूर्त मतदान केन्द्रों में पहुंचकर मतदान किया। युवा मतदाताओं से लेकर उम्रदराज लोगों में मतदान के प्रति उत्साह देखा गया। बस्तर जिले में शामिल नारायणपुर विधानसभा क्षेत्र के 82 मतदान केन्द्रों में मतदाताओं ने उत्साह और उमंग के साथ मतदान किया। इसके साथ ही सुकमा जिले में स्थित जगदलपुर विधानसभा के चार और चित्रकोट विधानसभा के 16 मतदान केन्द्रों में भी मतदाताओं ने अपने मताधिकार का उपयोग किया।

मतदान कराकर सकुशल लौटे दल, 27 की आज होगी वापसी

मतदान कराकर सकुशल लौटे दल, 27 की आज होगी वापसी

नारायणपुर विधानसभा निर्वाचन के लिए जिले के दुर्गम पहुंचविहीन घने जंगल व पहाड़ों से घिरे अतिसंवेदनशील 22 मतदान केन्द्र में हवाई मार्ग (हेलीकाप्टर) से गए मतदान दलों का लौटने का सिलसिला मतदान समाप्ति के बाद शाम 4 बजे से आसमानी रास्ते से शुरू हो गया। लौटने की प्रथम खेप साढ़े चार बजे जिला मुख्यालय स्थित हाईस्कूल मैदान में बनाये गये हेलीपेड पर उतरी। पहली और दूसरी खेप आकाबेड़ा, नेडऩार से वापस लौटी। इसके बाद विकासखण्ड मुख्यालय ओरछा से आई। मतदान दल के सभी अधिकारी-कर्मचारी और मतदान सामग्री सकुशल जिला मुख्यालय पहुंचे। मतदान दलों को ईव्हीएम एवं सह व्हीव्हीपेट मशीनों को शासकीय स्वामी आत्मानंद महाविद्यालय म