सशस्त्र सेना झण्डा दिवस

भारतीय सैनिकों का पराक्रम और बलिदान अतुलनीय-कलेक्टर

कलेक्टर पी. दयानंद की अध्यक्षता में आज यहां मंथन सभाकक्ष में सशस्त्र सेना झण्डा दिवस का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में सभी ने झण्डा दिवस का टिकट लिया और सहयोग राशि जमा की। इस अवसर पर दयानंद ने कहा कि आज के दिन सैनिक कल्याण कोष में सभी लोग योगदान करते हैं। हमारे जवानों की वजह से ही हम सभी चैन की नींद सो पाते हैं। उनके त्याग और बलिदान की कोई तुलना नहीं की जा सकती है, लेकिन शहीद जवानों के परिजनों के लिए हमें सामर्थ्य अनुसार सहायता अवश्य करनी चाहिए। सशस्त्र सेना झण्डा दिवस का आयोजन इसलिए ही किया जाता है कि सभी लोग सहयोग राशि जमा कर कल्याण कोष के माध्यम से जवानों के परिजनों की मद्द कर सकें।

7 दिसम्बर को मनाया जाएगा सशस्त्र सेना झण्डा दिवस

जिला सैनिक कल्याण अधिकारी की ओर से जिले के उप जिलाधीश जीएल जगत की ओर से सशस्त्र सेना झण्डा दिवस 7 दिसम्बर को जिलाधीश प्रात: 11 बजे ध्वज प्रतीक लगाकर इस कार्यक्रम का शुभारंभ किया जाएगा। इसका आयोजन कलेक्टोरेट कार्यालय में की जाएगी। इस अवसर पर आपके छाया पत्रकार उपस्थित रहेंगे।

सशस्त्र सेना झण्डा दिवस 7 दिसंबर को

सशस्त्र सेना झण्डा दिवस समारोह का आयोजन 7 दिसंबर को सुबह 10.30 बजे से दोपहर 12.30 बजे तक कलेक्ट्रेट के मंथन सभाकक्ष में कलेक्टर की अध्यक्षता में किया जाएगा।

सशस्त्र सेना झण्डा दिवस 7 को

जिला सैनिक कल्याण कार्यालय जगदलपुर में प्रतिवर्ष की भांति इस वर्ष भी 7 दिसम्बर को सशस्त्र सेना झण्डा दिवस मनाया जाएगा। सशस्त्र सेना झण्डा दिवस सन 1949 से 7 दिसम्बर को मनाया जा रहा है। इस दिन जल थल तथा वायु सेना के योद्धाओं द्वारा सैन्य सेवा में दिए गए योगदान को स्मरण किया जाता है।