सौंदर्यीकरण का मोहताज

10वीं शताब्दी का तालाब सौंदर्यीकरण का मोहताज

छत्तीसगढ़ के दन्तेवाड़ा में पर्यटन नगरी बारसूर के ऐतिहासिक बूढ़ातालाब के सौंदर्यीकरण की घोषणा पर 5 साल बाद भी अमल नहीं हुआ। बारसूर महोत्सव में आए तत्कालीन वन व पर्यटन मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने बूढ़ातालाब के सौंदर्यीकरण के लिए 2 करोड़ रुपए मंजूर करने की घोषणा की थी। जिला प्रशासन ने 2 साल पहले तालाब की सफाई जरूर की, गई, जलकुंभी और बेशरम की झाडिय़ों को हटाया गया, लेकिन गहरीकरण और सौंदर्यीकरण का कार्य अब तक नहीं हुआ, जिससे तालाब के एक चौथाई हिस्से में ही पानी ठहर पाता है। तालाब का सौंदर्यीकरण करवाकर बोटिंग की सुविधा देने की बात भी कही गई थी, लेकिन इन सुविधाओं का अता-पता नहीं है।