‘बाल हितैषी पुलिसिंग’

पुलिस को बाल अपराध की जांच संवेदनशीलता से करनी चाहिए-प्रभा दुबे

राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग की अध्यक्ष प्रभा दुबे ने बुधवार को ‘बाल हितैषी पुलिसिंग’ विषय पर तीन दिवसीय कार्यशाला के समापन अवसर पर अपने सम्बोधन में कहा कि पुलिस को बाल अपराध मामलों की जांच और विवेचना सरलता, संवेदनशीलता और शालीनता से करना चाहिए। पुलिस के इस सरल व्यवहार से बहुत से अपराधी प्रवृत्ति के बच्चे भी समाज की मुख्य धारा में आ सकते हैं और उनको नया जीवन मिल सकता है। उल्लेखनीय है कि पुलिस मुख्यालय छत्तीसगढ़ (अपराध अनुसंधान विभाग) और यूनीसेफ के संयुक्त तत्वावधान में तीन दिवसीय कार्यशाला का आयोजन स्थानीय होटल कोर्टयाड मैरिएट में किया गया था। कार्यशाला में छत्तीसगढ़ सहित नौ राज्यों से आए बाल स