Bijapur

Bijapur

सीआरपीएफ की बस ने जीप को मारी टक्कर, 7 घायल-2 गंभीर

CRPF

बीजापुर थाना क्षेत्र के धनोरा में शुक्रवार को सीआरपीएफ की बस और जीप मेें जोरदार टक्कर हो जाने से 9 लोग घायल हो गए। इनमें से 2 की हालत गंभीर बताई जा रही है। 7 घायलों का इलाज बीजापुर के जिला अस्पताल में तो वहीं 2 गंभीर लोगों को जगदलपुर रेफर कर दिया गया है। ये जानकारी पुलिस अधीक्षक केएल ध्रुव ने दी। उन्होंने बताया कि ये बस 230वीं वाहिनी सीआरपीएफ की थी, जो प्रशिक्षण कर चुके 20 जवानों को लेकर वापस आ रही थी।

शिक्षक के ट्रांसफर से नाराज छात्र बैठे धरने पर

wp-1502959537900..jpeg

पढ़ाई को लेकर अक्सर ही शिक्षकों पर उंगलियां उठाई जाती है लेकिन ऐसा बहुत ही कम मामला देखने में मिलता है जब किसी शिक्षक के लिए छात्र पढ़ाई छोड़कर हड़ताल पर बैठ गए हों। मामला कांकेर जिले के ग्राम पंचायत बारदा हायर सेकेंडरी स्कूल का है। जहां शिक्षक के स्थानांतरण से नाराज हो कर छात्र-छात्राएं स्कूल छोड़कर हड़ताल पर बैठ गए।

अस्पताल को राज्य स्तरीय पुरस्कार

Bijapur

बेहतर स्वास्थ्य सुविधाओं और आधुनिक उपकरण के साथ विशेषज्ञ चिकित्सकों के जरिए कायाकल्प कर मरीजों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा देने के लिए राज्य स्तर पर पुरस्कार के लिए जिला अस्पताल बीजापुर का चयन किया गया है। 15 अगस्त स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर राजधानी में उत्कृष्ट स्वास्थ्य सेवाओं के लिए सीएमएचओ बीजापुर को पुरस्कार प्रदान किया जायेगा।

नक्सलियों से लोहा लेने महिला कमांडो तैयार

Mahila Camando

बस्तर संभाग के बीजापुर जिला में इलाके की पहली महिला कमांडो की टीम नक्सलियों से लोहा लेने तैयार हो गई है। विभिन्न विद्याओं से प्रशिक्षित इस टीम को 10 से 31 जुलाई तक स्पेशल ट्रेनिंग यहां दी गई। इन 20 दिनों में 32 महिलाओं को विस्फोटक, आईईडी, बारूदी सुरंग, आरओपी, एमसीपी, कांबिंग गश्त, एरिया डॉमिनेशन, सिविक एक्शन, एंबुश, मैप रीडिंग, ग्लोबल पोजीशनिंग सिस्टम से लेकर बलवा तक से निपटने में महारत हासिल कराई गई। महिलाओं से संबंधित अपराध नियंत्रण, यातायात सुरक्षा के अतिरिक्त एसएलआर, इंसास, एलएमजी, एके 47, ग्रेनेड, ट्यूब लांचर और 9 एमएम की पिस्टल चलाने जैसी ट्रेनिंग दी गई है।

बिलासपुर को हराभरा करने जनसहभागिता जरूरी : अमर

vriksha ropan

बिलासपुर को हराभरा बनाने यहां के नागरिकों ने जो संकल्प लिया है। यह सिर्फ पेड़ लगाने से नहीं होगा। इसकी सुरक्षा के लिए नागरिकों की सहभागिता जरूरी है। उक्त बातें रविवार को नगरीय प्रशासन, उद्योग व वाणिज्यिक कर मंत्री अमर अग्रवाल ने छठघाट बिलासपुर में पाटली पुत्र संस्कृति विकास मंच की ओर से पौधरोपण समारोह में कही।

गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के लिए विशेष प्रयास करें : कलेक्टर

ग्राम ईटपाल में बनने वाले हाईस्कूल भवन के विवाद को समाप्त करने शुक्रवार को कलेक्टर ने वहां का दौरा किया । पटवारी से भूमि की स्थिति की जानकारी लेकर ग्रामीणों के समक्ष मिडिल स्कूल की पीछे वाली जमीन को हाईस्कूल भवन निर्माण के लिए चयनित किया। ग्राम ईटपाल के पश्चात कलेक्टर डॉ. अयाज तम्बोली ने ग्राम मांझीगुुड़ा का दौरा कर डीएवी मुख्यमंत्री आदर्श विद्यालय का निरीक्षण कर शैक्षणिक और बुनियादी व्यवस्थाओं का जायजा लिया। यहां स्मार्ट कम्प्यूटर लैब के निर्माण का निरीक्षण कर आंशिक परिवर्तन के निर्देश देकर जल्द से जल्द पूरा करने को कहा।

बालक-बालिकाओं को मिल रहा साफ्ट बाल का प्रशिक्षण

vns softboll.jpg

जिले मे खेल और युवा कल्याण विभाग के अंतर्गत संचालित खेल अकादमी की ओर से सांस्कृतिक भवन के मैदान में साफ्ट बाल का प्रशिक्षण दिया जा रहा है। प्रशिक्षण श्रम निरीक्षक और साफ्ट बाल के हेड कोच साफ्ट बाल में राज्य शासन की ओर से पंकज विक्रम अवार्ड मुख्यमंत्री ट्राफी और उत्कृष्ट खिलाडी की ओर से जिले में 48 बच्चों को साफ्ट बाल दिया जा रहा है, जिसमें 15 बालिका और 33 बालक शामिल है, इसमें चारों विकासखण्ड के गंगालूर, उसूर, भोपालपटनम भैरमगढ और चेरपाल के बच्चे प्रशिक्षण में शामिल है।

स्कूलों में पुस्तकालय के लिए मिली धनराशि

माध्यमिक शालाओं में पुस्तकालय के लिए 4 लाख 80 हजार रुपए एवं हाई स्कूलों व उच्च माध्यमिक शालाओं में पुस्तक वितरण के लिए 5 लाख 20 हजार रुपए की राशि स्वीकृत मिली है। कलेक्टर डॉ. तम्बोली अय्याज फ़कीर भाई और सांसद दिनेश कश्यप की अनुशंसा पर इसको शासन ने पुस्तक वितरण के लिए राशि मंजूर कर दी है। कलेक्टर ने कोटेशन बिल की प्रत्याशा के आधार पर वर्ष 2017-18 के लिए जिला शिक्षा अधिकारी बीजापुर को राशि 100 प्रतिशत आंबटित कर दिया है।

बीजापुर में 6 नक्सलियों ने किया आत्मसमर्पण

Naxsali sena

छत्तीसगढ़ के बीजापुर में पुलिस विभाग की समन्वय बैठक के बाद गुरूवार को 6 नक्सलियों ने आत्मसमर्पण किया है। आत्मसमर्पित नक्सलियों ने नक्सली जीवन शैली से त्रस्त होकर और खोखली विचारधारा से क्षुब्ध होकर नक्सलवाद छोडऩे का फैसला किया है। उन्होंने छत्तीसगढ़ शासन के पुनर्वास नीति से प्रभावित होकर समाज के मुख्य धारा में जुडऩे के उद्देश्य से जिला कलेक्टर डॉ.अय्याज तंबोली, पुलिस अधीक्षक बीजापुर के.एल.ध्रुव, केन्द्रीय रिजर्व बल के कमांडेंट के समक्ष आत्मसमर्पण किया।

8 लाख की आर्थिक सहायता मंजूर

कलेक्टर डॉ. अय्याज तम्बोली ने मृतक स्व. सोनधर भास्कर पिता रामा भास्कर ग्राम बांगोली तहसील भैरमगढ़ जिसकी मृत्यु 31 अक्टूबर 2015 को नदी में डूबने से हुई मृत्यु पर उनके निकटतम वारिस पिता रामा भास्कर को 4 लाख रुपए व मृतक स्व. बोमलू पिता कुम्मा निवासी ग्राम टुण्डेर भैरमगढ़ जिसकी मृत्यु 16 सितम्बर 2016 को तालाब में डूबने से हुई मृत्यु पर उनके निकटतम वारिस रानू पिता स्व. बोमलू को 4 लाख रुपए की आर्थिक सहायता राशि जारी की गई है।