Bijapur

Bijapur

बीजापुर में जूतों से भरा कंटेनर पकड़ाया

बीजापुर में चुनाव आयोग की टीम ने संदिग्ध कंटेनर को पकड़ा है। इस कंटेनर में जूते भरे पड़े हैं। ऐसी आंशका जताई जा रही है कि चुनाव से पहले बड़ी संख्या में मतदाताओं को बांटने के लिए जूते मंगाए गए थे, लेकिन ऐन मौके पर इसकी जानकारी कांग्रेसियों को लग गई और उन्होंने निर्वाचन आयोग में इसकी शिकायत कर तत्काल ट्रक को जब्त करवाया । कांग्रेसियों का आरोप है कि भाजपा ने सरकारी जूते आचार संहिता लागू होने के बाद भी मंगवाए और इसे गुपचुप तरीके से मतदाताओं के बीच बांटने की तैयारी थी। कांग्रेस का आरोप है कि भाजपा आचार संहिता लागू होने के बाद सरकारी पैसों का दुरूपयोग कर रही है। मामले ने राजनीतिक तूल पकड़ लिया है। ड

डीआरजी और केन्द्रीय रिजर्व पुलिस ने संयुक्त कार्रवाई कर 7 नक्सलियों को पकड़ कर भेजा जेल

डीआरजी और केन्द्रीय रिजर्व पुलिस ने संयुक्त कार्रवाई कर 7 नक्सलियों को पकड़ कर भेजा जेल

नक्सली घटनाओं को अंजाम देकर फरार चल रहे, नक्सलियों को पकड़ने का अभियान जोरों पर है. डीआरजी और केन्द्रीय रिजर्व पुलिस की संयुक्त टीम में जिले के अलग-अलग थाने से 7 फरार स्थायी वारंटी नक्सलियों को गिरफ्तार किया गया. पुलिस के द्वारा दी गई जानकारी के अनुसरा थाना नैमेंड से 3 और थाना बेदरे से 4 नक्सलियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया.

मिली जानकारी के अनुसार इन नक्सलियों के खिलाफ अलग-अलग थानों में मामले दर्ज थे. मुखिबर से मिली सूचना के आधार पर संयुक्त टीम ने क्षेत्र में 10 अक्टूबर को सघन सर्चिंग कर पेद्‌दाकोड़ेपाल, कैका, कडेर, घुमरा की ओर रवाना हुई थी.

थाना नैमडे अंतर्गत पकड़े गये नक्सली

बीजापुर में दो नक्सली गिरफ्तार

बीजापुर में दो नक्सली गिरफ्तार

छत्तीसगढ़ के बीजापुर जिले में आज मंगलवार को अलग-अलग थाना क्षेत्र में 1 पुरुष और 1 महिला नक्सली को गिरफ्तार किया गया है। दोनों के खिलाफ स्थायी वारंट जारी था। थाना जांगला और मिरतुर पुलिस की कार्रवाई है।

सुरेश रैना का मैच देखना कर्मचारियों को पड़ा भारी, चुनाव आयोग ने वनमंत्री महेश गागड़ा समेत 11 कर्मचारियों को थमाया नोटिस

सुरेश रैना का मैच देखना कर्मचारियों को पड़ा भारी, चुनाव आयोग ने वनमंत्री महेश गागड़ा समेत 11 कर्मचारियों को थमाया नोटिस

आचार संहिता का उल्लंघन करने पर वनमंत्री महेश गागड़ा समेत 11 शासकीय कर्मचारियों को नोटिस थमाया गया है. वनमंत्री महेश गागड़ा और क्रिकेटर सुरेश रैना रविवार को बीजापुर पहुंचे थे. सुरेश रैना को देखने और क्रिकेट खेलने 11 कर्मचारी पहुंच गए थे. चुनाव आयोग ने मीडिया और वीडियो से मिले जानकारी के आधार पर स्वत: संज्ञान लिया और कारण बताओ का नोटिस दिया है. शिकायत शाखा के नोडल अधिकारी DC बंजारे ने कर्मचारियों को नोटिस थमाया दिया है.

एनएच-63 बीजापुर से भोपालपट्नम सड़क पर नक्सलियों ने टांगे बैनर, विधानसभा चुनाव का किया विरोध

एनएच-63 बीजापुर से भोपालपट्नम सड़क पर नक्सलियों ने टांगे बैनर, विधानसभा चुनाव का किया विरोध

जहां एक ओर विभिन्न राजनैतिक पार्टियां चुनावी मैदान में उतरने का कमर कस चुकी हैं. वहीं छत्तीसगढ़ की प्रमुख समस्यां रही नक्सलवाद ने भी विधानसभा चुनाव के विरोध में शुर अलाप दिया है. मामला नेशनल हाईवे- 63 बीजापुर से भोपालपटनम सड़क पर पेगड़ापल्ली – केसाइगुड़ा के पास, सड़क में बीती रात नक्सलियों ने बैनर और पर्चे भारी मात्रा में फेंका है. नक्सलियों के द्वारा लगाये गये पोस्टर में आगामी आम चुनाव का बहिष्कार करने जनता से अपील किया है. इतनी ही नहीं जारी किये गये बैनर में नक्सली संगठनों ने लिखा है कि यदि कोई भी नेता क्षेत्र में वोट मागने आए तो उसे जूतों की माल पहना कर विरोध करने तक की बात कहे है.

सात नक्सलियों ने किया आत्मसमर्पण

सात नक्सलियों ने किया आत्मसमर्पण

छत्तीसगढ़ के बीजापुर जिले में आज एक महिला समेत सात हार्डकोर नक्सलियों ने बस्तर रेंज के पुलिस महानिरीक्षक विवेकानंद सिन्हा के समक्ष आत्मसमर्पण किया है। इनमें दो नक्सलियों पर 2 लाख और एक नक्सली पर 1 लाख का ईनाम है।

देश में पहली बार किसी पुलिस थाने को मिला ISO सर्टिफिकेट, गर्व की बात है ये दो थाने CG के नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में है…

देश में पहली बार छत्तीसगढ़ के माओवादी प्रभावित बीजापुर जिले के दो पुलिस स्टेशनों को ISO सर्टिफिकेट मिला है. बीजापुर के भोपालपट्टनम और मद्देड थानो को यह सर्टिफिकेट मिला है. ये सर्टिफिकेट कानून प्रबंधन, आईएसओ 9001: 2015 प्रमाणीकरण की आवश्यकताओं के अनुसार कानून और व्यवस्था, रोकथाम और पहचान के रखरखाव की आवश्यकताओं के अनुसार पाया गया है. अपराध, शांति और शांति स्थापित करना और अपने संबंधित क्षेत्रों में अन्य पुलिस गतिविधियों को प्राप्त करना. दोनों पुलिस स्टेशन नक्सल महाकाव्य में काम कर रहे हैं, मद्देड पुलिस थाना 40 किमी और भोपालपत्तनम जिला मुख्यालय से लगभग 60 किमी दूर है.

ब्रेकिंग : आईईडी ब्लास्ट में डीआरजी का एक जवान घायल, संदिग्ध आरोपी गिरफ्तार…

माओवादियों ने आज गंगालूर से 7 किमी की दूरी पर IED ब्लास्ट कर दिया है. इसके चपेट में डीआरजी का एक जवान आ गया है. घायल जवान को इलाज के लिए जिला अस्पताल लाया गया है, जहां उनका इलाज चल रहा है. जवान का नाम पायकु हेमला बताया जा रहा है.

गौरतलब है कि एरिया डोमिनेशन से लौटते वक्त माओवादियों ने गंगालूर से 7 किमी की दूरी पर IED ब्लास्ट कर दिया. इसमें डीआरजी के एक सहायक आरक्षक जख्मी हो गया. घायल जवान का नाम पायकु हेमला हैं. जवान का जिला अस्पताल में इलाज चल रहा है. डॉक्टरों ने बताया कि जवान को सामान्य चोट आई है.

भाजपा से इस्तीफे के दौर के बाद अब नाराज कार्यकर्ता थाम रहे विपक्ष दलों का दामन, विधानसभा चुनावों में नाराज कार्यकर्ता बढ़ा सकते हैं मंत्री गागड़ा की मुश्किलें…

चुनाव के नज़दीक आते ही बीजापुर में भाजपा की मुसीबतें बढती हुई नजर आ रही है. करीब एक साल पहले 40 से ज्यादा सक्रिय कार्यकर्ता अपने निजी कारणों का हवाला देकर भाजपा से किनारा कर चुके हैं। अब भाजपा के सक्रीय कार्यकर्ता क्षेत्रीय विधायक और प्रदेश में वन मंत्री महेश गागडा पर उपेक्षा का आरोप लगाते हुए विपक्षी पार्टियों का दामन थाम रहे हैं. वहीँ भाजपा से जिला पंचायत अध्यक्षा जमुना शकनी भी अब जोगी कांग्रेस के कार्यक्रम में शामिल होते नजर आ रहीं हैं. ये कयास लगाए जा रहे हैं कि, विधानसभा चुनाव से पहले भाजपा से जिला पंचायत अध्यक्षा भी जोगी कांग्रेस का दामन थाम सकतीं हैं.

बीजापुर के जंगलों में चल रहे नक्सली ट्रेनिंग कैम्प को जवानों ने किया ध्वस्त

छत्तीसगढ़ के बीजापुर में सुरक्षा बल के जवानों और नक्सलियों के बीच दो थाना क्षेत्रों अलग-अलग मुठभेड़ हुई है. बुधवार की शाम को दोनों मुठभेड़ लगभग एक ही समय पर हुई है. एक मुठभेड़ गंगालुर थाना क्षेत्र के तेद्दापाल के पहाड़ी जंगल में हुई. यहां नक्सली ट्रेनिंग कैम्प चला रहे थे. सुरक्षा बल के जवानों ने नक्सलियों के ट्रेनिंग कैम्प को ध्वस्त कर दिया है. हालांकि मौके से नक्सली फरार होने में सफल हो गए. दूसरी मुठभेड़ मिरतुर थाना क्षेत्र के बेच्चापाल के जंगलों में हुई है. यहां नक्सली कैम्प को सुरक्षा बल के जवानों ने ध्वस्त किया. बीजापुर एसपी मोहित गर्ग ने घटना की पुष्टि की है.