Dantewada

CG-18, Dantewada

10वीं शताब्दी का तालाब सौंदर्यीकरण का मोहताज

छत्तीसगढ़ के दन्तेवाड़ा में पर्यटन नगरी बारसूर के ऐतिहासिक बूढ़ातालाब के सौंदर्यीकरण की घोषणा पर 5 साल बाद भी अमल नहीं हुआ। बारसूर महोत्सव में आए तत्कालीन वन व पर्यटन मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने बूढ़ातालाब के सौंदर्यीकरण के लिए 2 करोड़ रुपए मंजूर करने की घोषणा की थी। जिला प्रशासन ने 2 साल पहले तालाब की सफाई जरूर की, गई, जलकुंभी और बेशरम की झाडिय़ों को हटाया गया, लेकिन गहरीकरण और सौंदर्यीकरण का कार्य अब तक नहीं हुआ, जिससे तालाब के एक चौथाई हिस्से में ही पानी ठहर पाता है। तालाब का सौंदर्यीकरण करवाकर बोटिंग की सुविधा देने की बात भी कही गई थी, लेकिन इन सुविधाओं का अता-पता नहीं है।

किसानों के लिए कृषक प्रशिक्षण कार्यक्रम हुआ

जिले के कटेकल्याण ब्लाक अतंर्गत दूरस्थ को ग्राम तुमकपाल मे कृषि विज्ञान केन्द्र में कृषि कल्याण अभियान का आयोजन किया गया है। एक दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम में प्रमुख वैज्ञानिक डॉ अनिल दीक्षित ने बताया कि देश के 111 एसीपेरेशनल जिलों में से चयनित एसीपेरेशनल ग्रामों में कृषि कल्याण अभियान का संचालन किया जा रहा है। जिला दन्तेवाड़ा भी एसीपेरेशनल जिला में से एक है। जहां 25 ग्रामों में कृषि कल्याण अभियान चलाया जा रहा है। अभियान के अन्तर्गत चयनित ग्रामों मे मृदा नमूना संकलन और वितरण, नाडेप टाका निर्माण, दलहन और तिलहनी मिनी किट वितरण, उद्यानिकी और वानिकी व बॉस के पौध का वितरण, गौवंशीय और बकरियों का शत

सर्चिंग के दौरान जवानों ने नक्सली मिडकोम की पत्नी के घर में किया तोड़फोड़, ग्रामीणों से मारपीट करने का भी आरोप…

सर्चिंग के दौरान जवानों ने नक्सली मिडकोम की पत्नी के घर में किया तोड़फोड़, ग्रामीणों से मारपीट करने का भी आरोप…

पुलिस लंबे समय मिडकोम राजू उर्फ हरिराम नक्सली की तलाश कर रही है. इसी कड़ी में 100 से अधिक जवान गायतापारा पहुंचकर नक्सलियों की तलाश कर रहे थे. जब उन्हें पूरे गांव में तलासने के बाद भी कहीं नहीं मिला तो जवानों ने उसके घर की छत को बुरी तरह से तोड़ दिया है. साथ ही उसके रिश्तेदारों के घरों पर तोड़फोड़ किया है. जिससे उनके रहने का सहारा छीन गया है.

नक्सलियों के बम विस्फोट में जवान घायल

छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित दंतेवाड़ा जिले में शुक्रवार को एक प्रेशर बम विस्फोट में सीआरपीएफ का जवान घायल हो गया। मिली जानकारी के मुताबिक अरनपुर-जगरगुंडा मार्ग पर नक्सलियों के लगाए प्रेशर बम से एक जवान घायल गंभीर घायल हो गया। जवान का नाम एमएम रमेश है,वह सीआरपीएफ की 231 बटालियन में है। जवान को हेलिकॉप्टर से रायपुर रेफर किया गया है। विस्फोट से पैर बुरी तरह से जख्मी हो गया है। स्थिति गंभीर बताई जा रही है। सीआरपीएफ के एडिशनल एसपी गोरखनाथ बघेल ने घटना की पुष्टि की है और कहा कि कमल पोस्ट के पास नक्सलियों ने प्रेशर बम लगाया था, सर्चिंग अभियान के दौरान इसके विस्फोट में जवान रमेश घायल हो गया।

थाने बुलाने के बाद दो बच्चों का पुलिस ने किया रिहा, दो को भेज ​दिया जेल और एक से अभी कर रही है पूछताछ. ग्रामीणों ने जताया विरोध…

थाने बुलाने के बाद दो बच्चों का पुलिस ने किया रिहा, दो को भेज ​दिया जेल और एक से अभी कर रही है पूछताछ. ग्रामीणों ने जताया विरोध…

एक बार​ फिर पुलिस द्वारा की गई कार्रवाई का ग्रामीणों ने जमकर विरोध किया है. ग्रामीणों का आरोप है कि पढ़ने वाले बच्चों को पुलिस नक्सली बता रही है. पुलिस ने पहले 5 बच्चों को पूछताछ के लिए थाने बुलाया, जिसमें से 2 बच्चों को पूछताछ के बाद रिहा कर दिया गया, 1 को पूछताछ के बाद रोक लिया गया और 2 को जेल भेज दिया गया. ग्रामीणों ने पुलिस की इस कार्रवाई का विरोध किया है.

बौखलाए नक्सलियों ने किया आईडी ब्लास्ट, चपेट में आने से एक जवान हुआ घायल…

बौखलाए नक्सलियों ने किया आईडी ब्लास्ट, चपेट में आने से एक जवान हुआ घायल…

एक बार फिर बौखलाएं नक्सलियों की कायराना कारतूत सामने आया है. नक्सलियों ने आईडी ब्लास्ट कर दिया है. जिसमें एक जवान घायल हो गया है. जिसे उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है. जहां उसका इलाज जारी है.

दरअसल पूरा मामला अरणपुर थाना इलाके का बताया जा रहा है. नक्सलियों ने तमनार जगरगुंडा मार्ग के कमलपुष्ठ के पास ये आईडी ब्लास्ट किया है. इस घटना की पुष्टि एडिशनल एसपी गोरखनाथ बघेल ने किया है.

पुलिस को बड़ी सफलता, 8-8 लाख रु के इनामी नक्सली दंपति ने किया आत्मसमर्पण

पुलिस को बड़ी सफलता, 8-8 लाख रु के इनामी नक्सली दंपति ने किया आत्मसमर्पण

पुलिस को आज बड़ी सफलता मिली है. यहां 8-8 लाख रुपए के इनामी नक्सली दंपति ने सरेंडर किया है. इनके नाम फागू कारम उर्फ सन्नू (DAKMS अध्यक्ष) और आयती (KAMS अध्यक्ष) हैं. उन्होंने कहा कि नक्सली विचारधारा से क्षुब्ध होकर वे सरेंडर कर रहे हैं.

एसपी कमलोचन कश्यप के सामने दोनों ने आत्मसमर्पण किया. दोनों नक्सली 14 सालों तक नक्सलियों के संगठन से जुड़े रहे. दोनों कई वारदातों में शामिल रह चुके हैं. नक्सली दंपति 2004 से नक्सली घटनाओं में सक्रिय थे. पुलिस ने इन्हें 10 -10 हजार रुपए का प्रोत्साहन राशि का दिया भी दिया है.

रेलमार्ग बाधित कर घात लगाकर बैठे नक्सलियों को जवानों ने खदेड़ा, ड्राइवर से वॉकी-टॉकी भी छीनकर ले गए

rail03-780x556.jpg

नक्सलियों ने कुपेर और कामालूर के बीच रेलवे ट्रैक पर पेड़ गिरा कर रेलमार्ग बाधित कर दिया . साथ ही रेलगाड़ी के पायलट के मोबाइल और वाकी टॉकी भी नक्सलियों ने छीन ली. जब सुरक्षा बल के जवान ट्रैक को क्लीयर करने पहुंचे तो घात लगाए बैठे नक्सलियों ने फायरिंग शुरू कर दी इसका जवानों ने जोरदार तरीके से जवाब दिया, इसके बाद मौके से नक्सली भाग खड़े हुए.

इस दौरान नक्सलियों ने एक पोकलेन को भी आग के हवाले कर दिया. ये घटना भांसी थाना क्षेत्र में हुई. Lalluram.com से बात करते हुए गोरखनाथ बघेल ASP, नक्सल ऑपरेशन दंतेवाड़ा ने इसकी पुष्टि की.
पहले भी होता रहा है हमला

विकास यात्रा- मां दंतेश्वरी के मंदिर में विधि-विधान से मुख्यमंत्री के विकास रथ की पूजा-अर्चना

विकास यात्रा- मां दंतेश्वरी के मंदिर में विधि-विधान से मुख्यमंत्री के विकास रथ की पूजा-अर्चना

आज से सरकार के विकास यात्रा की शुरुआत हो रही है. इस मौके पर आज दंतेवाड़ा के प्रसिद्ध दंतेश्वरी मंदिर में मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह के विकास रथ की विधि-विधान से पूजा-अर्चना की गई. इस मौके पर भाजपा के संगठन मंत्री पवन साय, प्रभारी मंत्री केदार कश्यप, रामप्रताप सिंह, किरण देव, बस्तर सांसद दिनेश कश्यप समेत कई नेता रहे मौजूद रहे.

दंतेवाड़ा की 300 करोड़ से बदल जाएगी सूरत

डीएमएफ मद पर विधायक कर्मा ने प्रशासन पर बड़े सवाल खड़े किए हैं। उन्होंने कहा कि दंतेवाड़ा के लिए हर वर्ष 300 करोड़ रूपए खर्च किए जाने हैं। इस राशि से दंतेवाड़ा जिला स्वर्ग सा बन जाएगा, लेकिन ऐसा भाजपा शासन काल में संभव नहीं है। ग्रामीण इलाकों की बात तो छोड़ ही दो, लौह नगरी जहां का यह पैसा है वहां भी लोग गंदा पानी पी रहे हैं। इस बात को विधानसभा में भी उठाया गया। हालात यह है कि सोमवार को प्रशासन की ओर से अवगत कराया गया कि डीएमएफ की समीक्षा बैठक हैै। एक विधायक को 24 घंटे पहले बताया जाता है। यह इसलिए भी किया जाता है ताकि वह बैठक में न पहुंच सके। इस बैठक में सांसद दिनेश कश्यप को भी पहुंचना था। उन्