Dantewada

CG-18, Dantewada

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने ली अधिकारियों की बैठक, विधानसभा निर्वाचन तैयारियों की समीक्षा कर दिए दिशा-निर्देश

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने ली अधिकारियों की बैठक, विधानसभा निर्वाचन तैयारियों की समीक्षा कर दिए दिशा-निर्देश

छत्तीसगढ़ के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी सुब्रत साहू ने दंतेवाड़ा में निर्वाचन से जुड़े सभी जिला स्तरीय अधिकारियों की बैठक लेकर विधानसभा निर्वाचन-2018 की तैयारियों की समीक्षा करने सहित आवश्यक दिशा-निर्देश दिये। उन्होने विधानसभा निर्वाचन-2018 के तहत मतदान संपन्न कराने के लिए मतदान दलों का गठन, प्रशिक्षण, माइक्रो आब्जर्वर का प्रशिक्षण, ईव्हीएम रेंडमाईजेशन एवं सीलिंग, मतदान केन्द्रों पर पेयजल-बिजली, रेम्प एवं शौचालय की सुविधा, दिव्यांग मतदाताओं वाले मतदान केन्द्रों में रेम्प एवं व्हील चेयर की उपलब्धता तथा सुरक्षा व्यवस्था इत्यादि तैयारी की बिन्दुवार जानकारी ली और अधिकारियों को निर्देशित किया कि निष्

आप पार्टी ने पत्रकारों, जवानों और नेताओं पर हुए नक्सली हमले का किया घोर निंदा…

आप पार्टी ने पत्रकारों, जवानों और नेताओं पर हुए नक्सली हमले का किया घोर निंदा…

इस वक्त चुनाव दौर पर कई ऐसे हमले हो रहे हैं जो कि बहुत ही ज्यादा दुखद व निन्दनीय हैं. इन हमलों की हम घोर निंदा करते हैं. हमला चाहे भाजपा कार्यकर्ता व जिला पंचायत सदस्य अमन नंदलाल मुड़ामी पर हो या निलवाया जवानों, और पत्रकारों व कल जो बचेली के CISF के जवानों पर हमला हो हम इन सभी हमलों की घोर निंदा आप पार्टी की कार्यकर्ता सोनी सोरी ने किया हैं.

नक्सलियों ने बिछा रखा था बूबी ट्रैप, जवानों ने नापाक मंसूबे को किया नाकाम, मुठभेड़ के दौरान भागे नक्सली

नक्सलियों ने बिछा रखा था बूबी ट्रैप, जवानों ने नापाक मंसूबे को किया नाकाम, मुठभेड़ के दौरान भागे नक्सली

नक्सलियों ने जवानों पर हमला करने के लिए सड़क पर बूबी ट्रैप बिछा रखा था. उनके इस मंसूबे को जवानों ने नाकाम कर दिया है. दरअसल कुआकोंडा पुलिस के 24 जवानों की पार्टी ने धनीकरका के जंगलों में नक्सलियों के 14 बूबी ट्रैप (स्पाईक होल्स) बरामद करने में सफलता मिली है. बूबी ट्रैप बरामद कर वापसी लौटने के दौरान जवानों और नक्सलियों के बीच जमकर मुठभेड़ भी हुई. मुठभेड़ में जवानो को भारी पड़ता देख नक्सली जंगल का सहारा लेकर फरार हो गए.

नक्सलियों के बीच हलबारास के जंगल में मुठभेड़, जवानों को भारी पड़ता देख नक्सली हुए फरार

नक्सलियों के बीच हलबारास के जंगल में मुठभेड़, जवानों को भारी पड़ता देख नक्सली हुए फरार

दंतेवाड़ा जिले में नक्सलियों के आईईडी ब्लास्ट में जवान व ग्रामीणों के शहीद होने के बाद अब एक बार फिर से खबर आ रही है कि हलबारास के जंगलों में जवानों की नक्सलियों के बीच मुठभेड़ हो गई है. दोनों तरफ से फायरिंग हो रही है. यह फायरिंग अभी भी जारी है.

इस घटना की पुष्टि एएसपी जीएन बघेल ने करते हुए बताया कि कुआकोंडा थाना की जिला पुलिस बल के जवान चुनावी गश्त में निकले थे, तभी हलबारास के पास नक्सलियों ने जवानों को देख उन पर फायरिंग करना शुरु कर दिया. जिसके जवाबी कार्रवाई में जवान भी फायरिंग कर रहे है. अभी भी दोनों तरफ से गोली बारी हो रही है.

सोशल मीडिया में प्रचार : रोजगार सहायक सेवा से बर्खास्त

कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी सौरभ कुमार ने विनोद कोड़ोपी रोजगार सहायक ग्राम पंचायत गढ़मिरी ब्लॉक कुआकोण्डा की ओर से एक राजनैतिक दल के प्रत्याशी को समर्थन कर फेसबुक में प्रचार करने के कारण विनोद कोड़ोपी को लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम 1951 तथा सिविल सेवा आचरण नियम 1965 के उल्लंघन करने के फलस्वरूप तत्काल सेवा से बर्खास्त कर दिया है। यह कार्रवाई सोशल मीडिया मानिटरिंग टीम के प्रतिवेदन के आधार पर की गई है। ज्ञात हो कि विनोद कोड़ोपी ने एक राजनैतिक दल के प्रत्याशी का समर्थन कर सोशल मीडिया अपने फेसबुक में प्रचार-प्रसार किया था।

गीदम एवं दंतेवाड़ा में संगवारी मतदान केन्द्र, महिला कर्मचारी कराएंगी मतदान

भारत निर्वाचन आयोग के मंशानुरूप विधानसभा निर्वाचन-2018 के तहत महिला मतदाताओं को मतदान करने के लिए प्रेरित करने के उद्देश्य से स्थापित महिला मतदान केन्द्रों को संगवारी मतदान केन्द्र का नाम दिया गया है। इस दिशा में जिले के गीदम एवं दंतेवाड़ा के दो बूथों को संगवारी मतदान केन्द्र बनाया गया है। इसके तहत गीदम तहसील के मतदान केन्द्र क्रमांक 61 गीदम और दंतेवाड़ा तहसील के मतदान केन्द्र क्रमांक 106 दंतेवाड़ा को संगवारी मतदान केन्द्र बनाया गया है। इन दोनों संगवारी मतदान केन्द्रों पर मतदान प्रक्रिया संपादन कराये जाने मतदान दल के कर्मचारी और माइक्रो आब्जर्वर केवल महिलाएं होंगी। वहीं सुरक्षा व्यवस्था के लिए

मतदान समाप्ति के नियत समय के 48 घंटे पूर्व से बंद रहेगी मदिरा दुकानें

कलेक्टर सौरभ कुमार की ओर से छत्तीसगढ़ आबकारी अधिनियम 1915 के तहत विधानसभा निर्वाचन 2018 प्रथम चरण की नियत तिथि 12 नवंबर 2018 के लिए जिले के समस्त देशी-विदेशी मदिरा दुकानें एवं मतदान एफ.एल.7 केंटीन को मतदान समाप्ति के नियत समय के 48 घंटे पूर्व की अवधि अर्थात 10 नवंबर को सायंकाल 5 बजे से 12 नवंबर 2018 को सायंकाल 5 बजे तक बंद रखे जाने शुष्क दिवस घोषित किया गया है। इसी तरह मतगणना दिवस 11 दिसंबर को संपूर्ण दिवस सभी देशी एवं विदेशी मदिरा दुकानें तथा एफ.एल. 7 केंटीन को बंद रखे जाने शुष्क दिवस घोषित किया गया है।

नक्सली लीडर के सफाई पर भड़के छबीन्द्र कर्मा, कहा- पहले जान से मारों फिर सफाई दो, ये कैसा न्याय

नक्सली लीडर के सफाई पर भड़के छबीन्द्र कर्मा, कहा- पहले जान से मारों फिर सफाई दो, ये कैसा न्याय

दंतेवाड़ा के नीलावाया जंगल में हुए मुठभेड़ में मारे गए दूरदर्शन के कैमरामैन अच्युतानंद साहू की मौत के बाद नक्सलियों के दरभा डिवीजन के सचिव साईनाथ ने प्रेस नोट जारी सफाई दी. जिसकी छबीन्द्र कर्मा ने कड़ी निंदा करते हुए कहा कि पहले जान से मार दो फिर माफी मांग लो, ये कहा का न्याय है. उन्होंने कहा कि मीडिया जनता और जनता के दुश्मनों के बीच सेतु की तरह काम करता है, उन पर हमला करना नक्सलियों की कायराना हरकत है.

नक्सली लीडर ने कैमरामैन की मौत पर जताया दुख, कहा- पत्रकारों पर जानबूझ के नहीं किया हमला, पुलिस हमें कर रही बदनाम

नक्सली लीडर ने कैमरामैन की मौत पर जताया दुख, कहा- पत्रकारों पर जानबूझ के नहीं किया हमला, पुलिस हमें कर रही बदनाम

छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा जिले के अरनपुर में नक्सली हमले में दूरदर्शन का कैमरामैन अच्युतानंद मारा गया था, जिस पर नक्सली दरभा डिवीजन कमेटी के सचिव साईनाथ ने प्रेस नोट जारी कर कैमरामैन अच्युतानंद की मौत पर दुख जताया है. नक्सली लीडर ने कहा कि सुरक्षा बलों के लिए लगाए गए एम्बुश में फंसकर कैमरामैन की मौत हुई है. पत्रकारों को निशाना बनाने का हमारा कोई इरादा नहीं था और पत्रकारों पर जानबूझ कर हमला नहीं किया गया है, पुलिस मीडिया के सामने नक्सलियों को बदनाम करने की कोशिश कर रही है.

भाजपा नेता मुड़ामी पर हमले के बाद नक्सलियों के विरोध में एकजुट हुए ग्रामीण, बड़े लीडरों से पूछेंगे हमले की असल वजह

भाजपा नेता मुड़ामी पर हमले के बाद नक्सलियों के विरोध में एकजुट हुए ग्रामीण, बड़े लीडरों से पूछेंगे हमले की असल वजह

जिले के पालनार में 28 अक्टूबर की रात जिला पंचायत सदस्य नन्दलाल मुड़ामी पर प्राणघातक नक्सली हमला हुआ. जिस हमले में वे बाल-बाल बच गये. इस हमले के बाद से ही क्षेत्र में हवा बनी हुई है कि नन्दलाल जैसे आदिवासियों की मदद करने वाले जनप्रतिनिधी की आखिर नक्सलियों से क्या दुश्मनी हो सकती है और साथ ही दरभा डिवीजन का काले रंग का घटना से बरामद पर्चे से भी कई सवाल खड़े हो गए है. इसी के चलते दस पंचायतों के हजारों ग्रामीण इस घटना के विरोध में पालनार पर आदिवासी नेताओं और सामाजिक कार्यकर्ता सोनी सोरी के साथ मुखर विरोध करते नजर आये.