Narayanpur

Narayanpur

जानिए क्या कहता है नारायणपुर का चुनावी समीकरण, इस सीट पर होगी बीजेपी और कांग्रेस की सीधी टक्कर…

जानिए क्या कहता है नारायणपुर का चुनावी समीकरण, इस सीट पर होगी बीजेपी और कांग्रेस की सीधी टक्कर…

छत्तीसगढ़ का नारायणपुर क्षेत्र धुर नक्सली प्रभावित इलाका है और आए दिन यहां नक्सली घटनाएं होती रहती हैं. यह क्षेत्र भाजपा का गढ़ रहा है और पिछले 15 सालों से बीजेपी यहां अपनी जीत दर्ज कराती आई है. इस बार भी 2018 के विधानसभा चुनाव में यहां जबर्दस्त चुनावी दंगल देखने को मिलेगा. कोंटा विधानसभा की तरह यहां त्रिकोणीय मुकाबला देखने को नहीं मिलता. यहां बीजेपी और कांग्रेस के बीच सीधी टक्कर होने वाली है.

कौन कौन है प्रत्याशी-
केदार कश्यप- बीजेपी
चंदन कश्यप- कांग्रेस
बलीराम कचलाम- आम आदमी पार्टी
इस चुनाव में क्या हैं जनता के मुद्दे-

ईवीएम सह व्हीव्हीपेट से आई निर्वाचन प्रणाली में पारदर्शिता

ईवीएम सह व्हीव्हीपेट से आई निर्वाचन प्रणाली में पारदर्शिता

ईवीएम मशीन और व्हीव्हीपेट मशीन के उपयोग से निर्वाचन प्रणाली में अत्याधिक पारदर्शिता आयी है। यह इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम ) और वोटर वेरिफाएबल पेपर ऑडिट ट्रेल (व्हीव्हीपेट) का मैनुअल का तृतीय संस्करण है, जो शतप्रतिशत खरा है। जिसने मतपेटी का स्थान ले लिया है, निर्वाचन प्रक्रिया का महत्वपूर्ण भाग है। इसके लिए ईव्हीएम सह व्हीव्हीपेट मशीन की उपयोगिता सुनिश्चित की गई है। ईव्हीएम की दो यूनिटें होती है एक कंट्रोल यूनिट (सीयू) और वैलेट यूनिट (व्हीयू) और दोनों को जोडऩे के लिए एक केबल होती है। एक वैलेट यूनिट 16 अभ्यर्थियों तक को शामिल कर लेती है। समय-समय पर इसका विकास हुआ है यह और अधिक विश्वसनीय एवं

एक दिन में बीस हजार से अधिक का भुगतान न करें- वर्मा

स्वतंत्र और निष्पक्ष मतदान के लिए सभी राजनीतिक दल उनके प्रत्याशियों को नकद लेन-देने करने से बचना चाहिए । निर्वाचन आयोग के दिशा-निर्देशानुसार बड़ी मात्रा में नकद राशि लेकर चलने से भी बचें। कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी टोपेश्वर वर्मा ने राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों की समय-समय पर ली गई बैठकों में यही सलाह दी है, और उनसे अपेक्षा की है कि वे निर्वाचन व्यय में आत्म-संयम बरतें और अपने प्रत्याशियों को तदनुरूप उचित सलाह दें । कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि कोई भी प्रत्याशी निर्वाचन संबंधी किसी प्रकार व्यय कर रहा है तो वह यह सुनिश्चित करे कि 20 हजार रुपए से अधिक का कोई भी भुगतान एक दि

कलेक्टर ने ली निर्वाचन लडऩे वाले अभ्यर्थियों की बैठक

कलेक्टर टोपेश्वर वर्मा ने विधानसभा क्षेत्र-84 नारायणपुर में अभ्यर्थिता वापस लेने के बाद निर्वाचन लडऩे वाले अभ्यिर्थियों और उनके प्रतिनिधियों और स्टेंडिंग कमेटी के सदस्यों की बैठक ली। वर्मा ने बताया कि आठ (विधिमान्य रूप से नामनिर्देशित अभ्यर्थी) में से एक अभ्यर्थी ने शुक्रवार को अन्तिम दिन अपनी अभ्यर्थिता वापस ली है। अब निर्वाचन क्षेत्र विधानसभा 84-नारायणपुर के लिए निर्वाचन लडऩे वाले सात (7) उम्मीदवार हैं। इनमें दो अभ्यर्थी मान्यता प्राप्त राष्ट्रीय और राज्य राजनैतिक दलों से, चार अभ्यर्थी रजिस्ट्रीकृत राजनैतिक दलों (मान्यता प्राप्त राष्ट्रीय ओर राज्य राजनैतिक दलों से भिन्न ) और एक अन्य अभ्यर्थी

कलेक्टर और सामान्य प्रेक्षक की मौजूदगी में खुला स्ट्रांग रूम का ताला

कलेक्टर और सामान्य प्रेक्षक की मौजूदगी में खुला स्ट्रांग रूम का ताला

कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी और सामान्य प्रेक्षक की मौजूदगी में आज कार्यालय कलेक्टोरेट में सुरक्षित रखी इव्हीएम सह व्हीव्हीपेट मशीन के स्ट्रांग रूम का ताला खोला गया। निर्वाचन आयोग की ओर से प्रदत्त सॉफ्टवेयर इटीएस के जरिए इव्हीएम सह व्हीव्हीपेट मशीनों के बार कोड नम्बरों को स्कैन किया गया। कलेक्टर टोपेश्वर वर्मा और सामान्य प्रेक्षक राकेश वर्मा ने की जा रही कार्य प्रणाली को देखा। उन्होनें सभी मशीनों के बार कोड को सावधानी पूर्वक स्कैन करने के बाद सुरक्षित रखने के निर्देश दिए। इस अवसर पर उप जिला निर्वाचन अधिकारी गौरीशंकर नाग, निर्वाचन शाखा के अधिकारी-कर्मचारी मौजूद थे।

दीपावली पर पटाखे रात्रि 8 से 10 बजे के बीच फोड़े जाएं: कलेक्टर

कलेक्टर टोपेश्वर वर्मा ने जारी संदेश में नारायणपुर जिले की आम जनता से सर्वोच्च न्यायालय के आदेश का सम्मान करने और पर्यावरण को स्वच्छ बनाने के लिए पटाखों का इस्तेमाल रात्रि 8 बजे से 10 बजे तक ही करने की अपील की है। इसके साथ ही उन्होंने सिर्फ ऐसे पटाखे फोडऩे जिनसे ध्वनि प्रदूषण और वायु प्रदूषण न्यूनतम स्तर पर और निर्धारित मानकों के अनुरूप है, उनका इस्तेमाल का आव्हान किया है। राज्य सरकार के उपक्रम छत्तीसगढ़ पर्यावरण संरक्षण मंडल ने प्रदेश के सभी कलेक्टरों और पुलिस अधीक्षकों को पत्र जारी कर सर्वोच्च न्यायालय के आदेश के अनुरूप दीपावली के दौरान पटाखें रात्रि 8 बजे से 10 बजे के बीच फोड़े जाएं। यह सुन

नारायणपुर में 29 अक्टूबर से 3 नवम्बर तक सतर्कता जागरूकता सप्ताह

नारायणपुर जिले में 29 अक्टूबर से 3 नवम्बर 2018 सतर्कता जागरूकता सप्ताह मनाया जाएगा। इसकी शुरुआत 29 अक्टूबर को प्रात: 11 बजे जिले के समस्त शासकीय शासकीय सेवक कार्यालय परिसर में सत्यनिष्ठा की प्रतिज्ञा लेंगे। सर्तकता जागरूकता सप्ताह का आयोजन भ्रष्टाचार मिटाओ नया भारत बनाओ विषय पर किया जाएगा। छत्तीसगढ़ शासन के सामान्य प्रशासन विभाग से मिले निर्देशानुसार कलेक्टर टोपेश्वर वर्मा ने जिले के सभी शासकीय कार्यालय प्रमुखों को इस आशय का पत्र जारी कर दिया गया है।

नारायणपुर जिले में रहेगी महिला मतदाताओं की महत्वपूर्ण भूमिका

नारायणपुर जिले में विधानसभा निर्वाचन-2018 की प्रक्रिया नजदीक आते ही जिले में मन पसंदीदा प्रत्याशी को चुनने की मतदाताओं में सुगबुगाहट शुरू हो गई है। जिले की मतदाता सूची का अंतिम प्रकाशन पिछले माह हो गया। पिछले विधानसभा निर्वाचन में जिले में जहां मतदान केन्द्रों की संख्या 113 थी, वहीं इस बार के निर्वाचन में 9 मतदान केन्द्र दो शहरी क्षेत्र और सात ग्रामीण क्षेत्रों में नये बनाये गए है। इस बार के विधानसभा निर्वाचन में सबसे कम मतदाता मतदान केन्द्र 08 ग्राम बड़ापेंदा में 72 और सबसे ज्यादा मतदाता 1111 मतदान केन्द्र-64 जगदीश मंदिर नारायणपुर में अपने मताधिकार का इस्तेमाल करेंगे।

नारायणपुर मेंं 4 महिला सहित 12 नक्सली गिरफ्तार

छत्तीसगढ़ के जिला नारायणपुर में थाना ओरछा क्षेत्र के ग्राम आसनार जंगल में पुलिस की टीम ने आज मंगलवार को 12 नक्सलियों को गिरफ्तार किया है। पुलिस महानिरीक्षक बस्तर रेंज विवेकानंद सिन्हा, उप पुलिस महानिरीक्षक कांकेर रेंज टीआर पैकरा, पुलिस अधीक्षक नारायणपुर जितेन्द्र शुक्ल, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अनिल सोनी के निर्देशन में सर्चिंग पर टीम रवाना हुई थी। टीम ने घेराबंदी कर यह कार्यवाही की है। 12 नक्सलियों में 4 महिला नक्सली भी शामिल है।

जिले के मतदान केन्द्रों पर दिव्यांग मतदाताओं के लिए रहेगी व्हील चेयर की सुविधा

जिले के मतदान केन्द्रों पर दिव्यांग मतदाताओं के लिए रहेगी व्हील चेयर की सुविधा

नारायणपुर जिले में विधानसभा निर्वाचन की तैयारी तेज कर दी है। शनिवार 6 अक्टूबर शाम से आदर्श आचार संहिता लगने के बाद कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी ने ताबड़तोड़ बैठक कर अधिकारी-कर्मचारियों को आचार संहिता संबंधी महत्वपूर्ण टिप्स एवं दिशा-निर्देश दिए।