Sukma

Sukma

नक्सल प्रभावित अतिसंवेदनशील क्षेत्रों में सुगम मतदान के लिए मतदान दल रवाना, हेलीकाप्टर की मदद से पहुंचाई जा रही टीम

नक्सल प्रभावित अतिसंवेदनशील क्षेत्रों में सुगम मतदान के लिए मतदान दल रवाना, हेलीकाप्टर की मदद से पहुंचाई जा रही टीम

विधानसभा चुनाव के लिए के प्रथम चरण का मतदान 12 नवंबर को होना है. जिसके लिए प्रशासन ने पूरी तैयारियां कर ली गई है. नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में सुगम मतदान के लिए प्रशासन के द्वारा मतदान दल के साथ नवीन वोटिंग मसीन सहित जरुरी उपकरण को पहुंचाने का क्रम जारी है. वहीं प्रथम चरण मतदान के लिए आज शाम से प्रचार का सिलसिला थम जाएगा. जिससे सभी राजनैतिक दल मतदाओं को अपने पक्ष में लुभाने का प्रयाष कर रहे है. 40 नक्सल प्रभावित मतदान क्षेत्रों में प्रशासन के द्वारा सख्त सुरक्षा के प्रबंध किये गए है. सुगम मतदान के लिए प्रशासन के द्वारा मतदान केन्द्र की वीडियों ग्राफी भी कराई जाएगी.

नक्सलियों के चुनाव बहिष्कार को मुंहतोड़ जवाब, जवानों ने ग्रामीणों के साथ संयुक्त बैठक कर मतदान करने के लिए किया जागरुक

नक्सलियों के चुनाव बहिष्कार को मुंहतोड़ जवाब, जवानों ने ग्रामीणों के साथ संयुक्त बैठक कर मतदान करने के लिए किया जागरुक

नक्सल प्रभावित इलाकों में आए दिन माओवादी संगठन को खत्म करने के लिए जिला पुलिस ने तेदमुंता बस्तर अभियान चला रखा है. इसी अभियान के तहत शुक्रवार को जवानों ने ग्रामीणों के साथ संयुक्त बैठक किया. ग्राम आरगटा, बोदिगुड़ा, टेट्राई और आरगट्टा में बैठक कर ग्रामीणों के होने वाले चुनाव में मतदान करने की अपील किये. पुलिस महानिरीक्षक अभिषेक मीना, अतरिक्त पुलिस अधीक्षक शलभ सिन्हा के दिशा-निर्देशन में ग्रामीणों को बैठक के माध्यम से यह भी बताया जा रहा है कि, किसी भी प्रलोभन में आये बिना, अपने विवेक का प्रयोग करते हुए विकास के लिए मतदान करें.

इस विधानसभा में अधिकारियों पर पार्टी विशेष के प्रचार का लगा आरोप, कांग्रेस का प्रचार करने पर आश्रम अधीक्षक निलंबित

इस विधानसभा में अधिकारियों पर पार्टी विशेष के प्रचार का लगा आरोप, कांग्रेस का प्रचार करने पर आश्रम अधीक्षक निलंबित

जिला निर्वाचन ने एक और बड़ी कार्रवाई की है. आदर्श आचार संहिता उल्लंघन के मामले पर एक शिक्षक को निलंबित किया है. मंगलवार को भी एक महिला शिक्षक को निलंबित किया गया था.

कोंटा आश्रम में पदस्थ शिक्षक आर मुकेश पर कांग्रेस का समर्थन और प्रचार करने का आरोप लगा था. शिकायत के बाद आरोप की जांच की गई. जांच के बाद आचार संहिता उल्लंघन करना पाया गया है. इस आधार पर जिला निर्वाचन अधिकारी जय प्रकाश मार्य ने शिक्षक आर मुकेश को निलंबित कर दिया गया है. इससे पहले निर्वाचन अधिकारी ने भाजपा के प्रचार में शामिल शिक्षक दीपिका सोरी पर भी कार्रवाई की गई थी.

समर्थन मूल्य पर धान खरीदी

छत्तीसगढ़ शासन खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति उपभोक्ता संरक्षण विभाग महानदी भवन अटल नगर रायपुर की अधिसूचना 1 सितम्बर 2018 के अनुसार राज्य में 1 नवम्बर 2018 से 31 जनवरी 2019 तक राज्य के किसानों से समर्थन मूल्य पर धान खरीदी की जा रही हैं। अत: जिले के सभी किसानों से अनुरोध किया गया है कि वे निर्धारित समयावधि में उपार्जित धान विक्रय के लिए अपने क्षेत्र के संबंधित धान खरीदी केन्द्रों से अपना टोकन प्राप्त कर लेवें। साथ ही कोचियों और बिचैलियों की ओर से निकटतम राज्यों से अवैध धान परिवहन की सूचना मिलने पर इन मोबाइल नम्बर पर जानकारी दे सकते हैं। इनमें अनुविभागीय अधिकारी राजस्व केएल सोरी 9425590137 (सुकमा एवं

सर्चिंग से लौटते जवानों पर नक्सलियों ने किया हमला

सुकमा से सटे ओडिशा बॉर्डर से लगे राज्य ओडिशा में देर रात पुलिस नक्सली मुठभेड़ हुई है जिसमें जवानों ने कई नक्सलियों को मार गिराया है। बताया जा रहा है किए जवान सर्चिंग से लौटते वक्त नक्सलियों ने उनपर हमला बोल दिया जिसमें नक्सलियों को ही नुकसान उठाना पड़ा।

गगनपल्ली और गट्टापाड़ के 11 महिला समेत 53 जनमिलिशिया सदस्यों ने किया सरेंडर, नक्सलियों के लिए करते थे काम

गगनपल्ली और गट्टापाड़ के 11 महिला समेत 53 जनमिलिशिया सदस्यों ने किया सरेंडर, नक्सलियों के लिए करते थे काम

शुक्रवार को 11 महिलाओं समेत 53 नक्सलियों ने आत्मसमर्पण किया. पुलिस अधीक्षक अभिषेक मीना के समक्ष सरेडर मिलिशिया सदस्यों ने विकास की मुख्यधारा में शामिल होकर सामान्य जीवन व्यतीत करने की इच्छा जताई. इनमें गगनपल्ली से 47 और गट्टापाड़ से 6 मिलिशिया सदस्य शामिल हैं. वहीं नक्सलियों द्वारा गांव से बेघर कर दिए गए 12 पीड़ित परिवारों को पुलिस ने आर्थिक मदद कर जीवन यापन की व्यवस्था की.

तेदमुंता बस्तर अभियान, जवानों ने नक्सल इलाकों में बैठक कर शत प्रतिशत मतदान करने किया जागरुक

तेदमुंता बस्तर अभियान, जवानों ने नक्सल इलाकों में बैठक कर शत प्रतिशत मतदान करने किया जागरुक

सुकमा जिले में एसपी अभिषेक मीना, अतरिक्त पुलिस अधीक्षक शलभ सिन्हा के मार्गदर्शन में चलाये जा रहे नक्सल विरोधी तेदमुंता बस्तर अभियान के तहत आगामी विधानसभा चुनाव नक्सल हिंसा मुक्त एवं सुरक्षित रहे. इसके लिए ग्राम पेंटा में नक्सल प्रभावित ग्राम पेंटा, कोसागुड़ा एवं नागलगुण्डा के ग्रामीणों की संयुक्त बैठक ली. इन तीनो गांव से लगभग 600 से 700 ग्रामीण बैठक में शामिल हुए.

मतदान दलों का दूसरे चरण का प्रशिक्षण एक से तीन नवम्बर तक

विधानसभा निर्वाचन 2018 के लिए विधानसभा क्षेत्र क्रमांक 90 कोण्टा जिला सुकमा के तहत् मतदान दलों के अधिकारी और कर्मचारियों को दूसरे चरण का प्रशिक्षण एक, दो और तीन नवम्बर 2018 तक शासकीय पाॅलीटेक्निक काॅलेज कुम्हाररास सुकमा में होगा । कार्यक्रम में पीठासीन अधिकारी, मतदान अधिकारी एक, दो, और तीन को मास्टर ट्रेनर्स की ओर से मतदान संबंधी प्रशिक्षण दिया जाएगा। गठित मतदान दलों के अधिकारी-कर्मचारियों को प्रशिक्षण के संबंध में उनके लिए निर्धारित तिथि की जानकारी प्रेषित कर दी गई हैं। निर्धारित तिथि और समय पर अधिकारियों को अनिवार्य रूप से प्रशिक्षण के लिए उपस्थित होने के निर्देश दे दिए गए हैं। मतदान दल के अ

मतदाता जागरूकता : चित्रकला, रंगोली कार्यक्रम 31 को

विधानसभा निर्वाचन 2018 के अन्तर्गत जिले में स्वीप सह मतदाता जागरूकता के लिए कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी जय प्रकाश मौर्य के कुशल मार्गदर्शन में जिले भर में व्यापक स्तर पर कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं। जिला स्तरीय स्वीप सह मतदाता जागरूकता के तहत् 31 अक्टूबर को स्थानीय मिनी स्टेडियम सुकमा में सुबह 7 बजे से चित्रकला और रंगोली कार्यक्रम होगा। इसी प्रकार 1 नवम्बर को शाम 5 बजे से दीप प्रज्ज्वलन का कार्यक्रम होगा, 3 नवम्बर को शाम 5 बजे मशाल रैली, 4 नवम्बर को दोपहर 3 बजे से ब्लाॅक स्तरीय क्रिकेट (लोकतंत्र का क्रिकेट) और 5 नवम्बर को दोपहर 3 बजे से जिला स्तरीय क्रिकेट (लोकतंत्र का क्रिकेट) कार्य

मतदाताओं को मिलने वाली सुविधाओं का लिया गया जायजा

मतदाताओं को मिलने वाली सुविधाओं का लिया गया जायजा

विधानसभा निर्वाचन 2018 के लिए विधानसभा क्षेत्र क्रमांक 90 कोण्टा जिला सुकमा (छ.ग.) के लिए नियुक्त सामान्य प्रेक्षक चन्द्राकर भारती और व्यय प्रेक्षक सुशील कुमार सिंह और कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी जयप्रकाश मौर्य ने 28 अक्टूबर को जिले के छिन्दगढ़ विकासखण्ड के अंतर्गत ग्राम तोंगपाल में विधानसभा निर्वाचन के लिए बनाए गए मतदान केन्द्र का निरीक्षण किया, प्रेक्षक और जिला निर्वाचन अधिकारी ने मतदान केन्द्र में मतदाताओं की सुविधा के लिए की गई व्यवस्थाओं का जायजा लिया तथा वहां पर मौजूद निर्वाचन कार्य से जुड़े अधिकारियों एवं कर्मचारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।