Bilaspur

CG-10, Bilaspur

प्रदेश में एक और नसबंदीकांड, ऑपरेशन के बाद 8 महिलाओं की हालत गंभीर, फिर भी लापरवाही देखिए

Community health center Masturi

छत्तीसगढ़ में स्वास्थ्य विभाग की लापरवाहियां थमने का नाम नहीं ले रही है। तीन साल पहले 18 महिलाओं की नसबंदी से हुई मौत की यादें अभी धुंधलाई भी नहीं थी कि एक बार फिर बिलासपुर जिले से दिल दहला देने वाली खबर आ रही है। आधा दर्जन से ज्यादा महिलाओं की नसबंदी के ऑपरेशन के बाद इन्फेक्शन फैल गया है। चौंकाने वाली बात यह है कि घटना सामने आने के बाद भी डाक्टरों की लापरवाही थमी नहीं, महिलाओं का चेकअप करने पहुंची टीम ने मोबाइल की रोशनी में महिलाओं का चेकअप किया।

नाफरमान एसडीएम आया हद में तो हाईकोर्ट ने दी माफी

Haigh Cord Bilaspur

हाईकोर्ट के एक आदेश ने उस अधिकारी को ज़मीन पर ला दिया, जो बार-बार कोर्ट के आदेश की नाफरमानी कर रहा था. हम बात कर रहे हैं बिलासपुर के एसडीएम आलोक पांडेय की. वही आलोक पांडेय जिसके खिलाफ हाईकोर्ट ने गुरुवार गिरफ्तारी का वारंट जारी कर दिया था.

जैसे ही आलोक पांडेय को गिरफ्तारी की सूचना मिली. उनके हाथ पैर कांपने लगे, उनकी जान हलक में अटक गई. आलोक पांडेय ने तत्काल अपने बड़े अधिकारियों से बात की. वकीलों से सलाह ली. सबने हाईकोर्ट के आदेश के सामने हाथ खड़े कर दिए तब किसी जानकार ने आलोक पांडेय को हाईकोर्ट में जाकर माफी मांगने की सलाह दी.

बिलासपुर संभाग में 16 करोड़ के सात पुलों का निर्माण पूर्णता की ओर

लोक निर्माण विभाग द्वारा बिलासपुर संभाग के अन्तर्गत चालू माह अगस्त तक सात वृहद पुलों का निर्माण पूर्ण कर लिया जाएगा। इनका निर्माण 15 करोड़ 98 लाख रूपए की राशि से किया जा रहा है।

जानकारी के आभाव में लोगों को नहीं मिल रहा फायदा

amar agrwal

15 अगस्त को शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र गांधी चौक के उन्नयन कार्य की शुरुआत नगरीय प्रशासन, उद्योग एवं वाणिज्यिक मंत्री ने की। इस अवसर पर नगरीय प्रशासन मंत्री अमर अग्रवाल ने कहा कि सरकार ने स्वास्थ्य के लिए वह सभी योजनाएं बनाई है, जिससे पैसे के अभाव में किसी की मृत्यु न हो, लेकिन जानकारी के अभाव में लोगों को इसका फायदा नहीं मिल रहा है। छत्तीसगढ़ बाल हृदय योजना की चर्चा पूरे देश में हैं। क्योंकि ऐसी योजना किसी राज्य में नहीं बनी।

छत्तीसगढ़ में तीन महिलाओं की चोटी रहस्यमय तरीके से कटी

चोटी कटी

पहली घटना भिलाई के खुर्सीपार थाने क्षेत्र की माँ और बेटी की चोटी कटी मिली. सड़क न2 दो की रहने वाली गीता देवी आज दोपहर में अपने घर पर सोई हुई थी उठने के बाद उसने देखा कि बिस्तर पर करीब 6 इंच लम्बा बाल के गुच्छा पडा हुआ है तभी उसका ध्यान अपने सिर के बालों पर गया उसके अपने बाल कटे हुए थे. वो काफी घबरा गई थी. उसने अपनी बिटिया को पानी के लिये आवाज लगाई.

दिव्यांग बच्चों के साथ कलेक्टर ने फहराया तिरंगा

vns diwang baccho.jpg

जस्टिस तन्खा मेमोरियल रोटरी स्कूल फार स्पेशल चिड्रन के बच्चों के बीच कलेक्टर ने स्वतंत्रता दिवस मनाया। उन्होंने स्कूल में तिरंगा फहराया। इस अवसर पर उपस्थित स्कूल के शिक्षकों और बच्चों को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि, स्पेशल चिड्रन के लिए स्कूल का प्रयास सराहनीय है। यह मानवता हम सभी में होनी चाहिए। यह सामाजिक जिम्मेदारी है कि, दिव्यांगों को समाज की मुख्य धारा में लेकर आएं। सबका विकास होगा तभी हम आगे बढ़ेंगे।

आजादी के 71वें वर्षगांठ में नगरीय प्रशासन मंत्री ने किया ध्वजारोहण

Amar Agrwal

15 अगस्त को आजादी का 71वां वर्षगांठ हर्षोंल्लास के साथ मनाया गया। जिला मुख्यालय के पुलिस ग्राउण्ड में मुख्य समारोह में उद्योग, नगरीय प्रशासन और वाणिज्यिककर मंत्री ने आन-बान और शान का प्रतीक राष्ट्रीय तिरंगा ध्वज फहराया।

छत्तीसगढ़ आयुर्विज्ञान संस्थान (सिम्स) बिलासपुर के अधिष्ठाता डॉ. विष्णु दत्त निलंबित

Chhattisgarh Institute of Medical Sciences (CIMS), Bilaspur

राज्य शासन द्वारा मंत्रालय स्थित चिकित्सा शिक्षा विभाग द्वारा आदेश जारी कर छत्तीसगढ़ आयुर्विज्ञान संस्थान (सिम्स) बिलासपुर के अधिष्ठाता डॉ. विष्णु दत्त को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। निलंबन अवधि में उनका मुख्यालय स्वर्गीय श्री बलीराम कश्यप स्मृति चिकित्सा महाविद्यालय जगदलपुर रहेगा।

स्वतंत्रता दिवस की तैयारी पूरी

 Independence day

स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर पुलिस ग्राउण्ड पर होने वाले कार्यक्रम का 13 अगस्त को पूर्वाभ्यास किया गया। इस अवसर पर कलेक्टर, पुलिस अधीक्षक, अतिरिक्त कलेक्टर, नगर निगम आयुक्त और अन्य विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

घटना की जानकारी होने पर एफआईआर जरुर कराएं : तिवारी

Trivedi Dental

हमारा दायित्व है कि किसी घटना की जानकारी प्राप्त होने पर उसकी शिकायत एफआईआर पुलिस में आवश्यक रूप से करायें। लोग पुलिस में शिकायत या एफआईआर करने से डरते हैं कि उन्हें गवाह बना दिया जाएगा या उनके खिलाफ मामला बना दिया जाएगा, जबकि ऐसा नहीं है। उक्त बात छत्तीसगढ़ राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के सदस्य सचिव विवेक कुमार तिवारी ने कही। उन्होंने कहा कि गवाह के खिलाफ किसी तरह का मामला नहीं बनता। न्यायालय में एक दिन गवाही के लिए जाना पड़ता है, जिसका आने-जाने एवं खुराक खर्च का भुगतान भी मिलता है। बिना गवाही के केस में सजा भी नहीं होती। जब तक लोग आगे नहीं आएंगे, न्याय नहीं मिलेगा।