Mungeli

Mungeli New District of Chhattisgarh

छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस को बड़ा झटका, टीएस सिंहदेव के सामने 40 कार्यकर्ता कांग्रेस में हुए शामिल

छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस को बड़ा झटका, टीएस सिंहदेव के सामने 40 कार्यकर्ता कांग्रेस में हुए शामिल

विधानसभा चुनाव से पहले ही जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ पार्टी को एक बड़ा झटका लगा है. जोगी कांग्रेस के एक पार्षद समेत 40 कार्यकर्ताओं ने कांग्रेस का दामन थाम लिया है. कार्यकर्ताओं ने नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंह देव को आवेदन देकर कांग्रेस में शामिल होने की मंशा जाहिर करते हुए कांग्रेस मिलकर चुनाव लड़ने की बात कही है. जिसके बाद टीएस सिंह देव ने आवेदन स्वीकार कर लिया है.

दिव्यांगों को बांटी गई ट्राई साइकिल कुछ महीने बाद ही हुई खराब, अब हितग्राही लगा रहे अधिकारियों के दफ्तरों का चक्कर

दिव्यांगों को बांटी गई ट्राई साइकिल कुछ महीने बाद ही हुई खराब, अब हितग्राही लगा रहे अधिकारियों के दफ्तरों का चक्कर

प्रदेश सरकार की सामर्थ योजना के द्वारा दी गई दिव्यांगों को बैट्री चलित साइकल कुछ महीने बाद ही खराब हो चुके है. दिव्यांग बनवाने के लिए ऑफिस का चक्कर काट रहे है. लेकिन सुनवाई नहीं हो रही है. जिले में छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा सामर्थ योजना के तहत दिव्यांगों को वितरण की गई बैट्री चलित ट्राई साइकिल गुणवत्ता विहीन माना जा रहा है. एक दो महीने बाद खराब हो रहा है जिसे बनवाने के लिए हितग्राही कार्यालय के चक्कर लगा लगा के थक गए है, लेकिन कोई भी जिम्मेदार अधिकारी इनके समस्याओं को गंभीरता से नहीं ले रहे है.
अधिकारी बाद में आने की दे रहे नसीहत

जिला मुख्यालय से महज 4 किमी दूर इस सड़क की बदहाली बताती है कि अभी ‘विकास’ के दावों में बहुत झोल है !

जिला मुख्यालय से महज 4 किमी दूर इस सड़क की बदहाली बताती है कि अभी ‘विकास’ के दावों में बहुत झोल है !

जिला मुख्यालय से महज 4 किमी दूर बसा नवागांव जहां लोग आज भी मूलभूत सुविधाओं के लिए तरस रहे हैं. इस गांव के मुख्यमार्ग में फैला कीचड़ प्रदेश सरकार के विकास के दावों की पोल खोल रहा है. इस गांव के लोग हर चुनाव में अपने मतदाता होने का फर्ज निभाते रहे है. लेकिन जिन नेताओं ने इनको विकास के सुनहरे सपने दिखाकर वोट लिए है वो सत्ता में काबिज होते ही सबसे पहले इन्हें ही भूले है. इतना ही नहीं इनके द्वारा जिला प्रशासन से भी बदहाल हो चुके सड़क को दुरुस्त करने के लिए निवेदन और आवेदन किये, लेकिन किसी भी जिम्मेदार अधिकारी ने इनके समस्याओं को गंभीरता से नहीं लिया.

मुख्यमंत्री ने किया 173 करोड़ 37 लाख के कार्यों का लोकार्पण-भूमिपूजन

मुख्यमंत्री ने किया 173 करोड़ 37 लाख के कार्यों का लोकार्पण-भूमिपूजन

मुख्यमंत्री ने प्रदेश व्यापी विकास यात्रा में आज लोगों को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि मां दंतेश्वरी से आशीर्वाद लेकर विकास यात्रा का शुभारंभ किया। अब जनता-जनार्दन का आशीर्वाद लेने मुंगेली आया हूं। 12 मई से विकास यात्रा शुरू किया। आज 31 मई को मुंगेली पहुंचा हूं मुंगेली की सड़कों में उमड़ी भीड़ साबित कर दिया कि यहां की जनता ने मुझे हमेशा स्नेह और सम्मान दिया। महिलाओं और सभी वर्गो के लोगों ने अभूतपूर्व स्वागत किया है इसके लिए हृदय से आभारी हूं। मुख्यमंत्री शहीद धनंजय सिंह राजपूत स्टेडियम बीआरसाव उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में आमसभा में लोगों को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कम्प्यूटर का बटन दबाकर 6

विधायक तोखन साहू को लोरमी से टिकट नहीं देने भाजपा कार्यकर्ता ही कर रहे मांग, जानिए सोशल मीडिया पर किसलिए हो रही जमकर किरकिरी

विधायक तोखन साहू को लोरमी से टिकट नहीं देने भाजपा कार्यकर्ता ही कर रहे मांग,

विधायक तोखन साहू को लोरमी से टिकट नहीं देने की भाजपा कार्यकर्ता ही लामबंद हो चुके हैं. विधायक की सोशल मीडिया पर जमकर किरकिरी हो रही है. भाजपा विधायक तोखन साहू के खिलाफ उनके ही पार्टी के लोगों की लॉबी तैयार हो चुकी है. भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता ही सोशल मीडिया पर विधायक की जमकर आलोचना कर रहे हैं. बीते दिनों विधायक तोखन साहू ने बेजा-कब्जा हटाने गए नायब तहसीलदार को जान से मारने की धमकी दिया था.

मुंगेली व्यापार मेला 2017- सांस्कृतिक कार्यक्रम के लिए ऑडिशन, छात्र-छात्राओं में दिखा उत्साह,

मुंगेली व्यापार मेला 2017- सांस्कृतिक कार्यक्रम के लिए ऑडिशन, छात्र-छात्राओं में दिखा उत्साह,

मुंगेली व्यापार मेला 2017 के लिए सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया. इसमें सामूहिक लोकनृत्य, लोकगीत, स्टैंडअप कॉमेडी का ऑडिशन लिया गया. पंडित शिवकुमार पाठक सभा कक्ष बी आर साव बहु उच्चतर माध्यमिक शाला मुंगेली में किया गया.

जब कवि सम्मेलन में तब्दील हो गया शिक्षाकर्मी आंदोलन, महिला शिक्षाकर्मियों ने कविताओं के जरिए साथियों का बढ़ाया मनोबल:

जब कवि सम्मेलन में तब्दील हो गया शिक्षाकर्मी आंदोलन

एक ओर जहां शिक्षाकर्मियों के आंदोलन पर सरकार ने सख्त रवैया अख्तियार कर साफ कर दिया है कि शिक्षाकर्मियों के संविलियन की मांग किसी भी सूरत में पूरी नहीं की जा सकती,वहीं दूसरी ओर शिक्षाकर्मी भी आंदोलन वापस न लेकर और आक्रामक रुख अपनाते जा रहें हैं.ब्लॉक मुख्यालयों में आंदोलन कर रहे शिक्षाकर्मी अपने साथियों का हौसला बढ़ाने के लिये तरह-तरह के जतन कर रहें हैं.मुंगेली में चल रहे आंदोलन में महिला शिक्षकों ने अपनी क्रांतिकारी कविताओं के जरिये ऐसा माहौल बनाया कि “नारी शक्ति जिंदाबाद” के नारों से पूरा पांडाल गूंजने लगा.

महिलाओं की बेबसी, 5 किलोमीटर दूर जाकर पानी लाने को मजबूर महिलाएं

महिलाओं की बेबसी, 5 किलोमीटर दूर जाकर पानी लाने को मजबूर महिलाएं

एक तरफ तो रमन सरकार पानी बचाने के लिए कई योजनाएं चला रही हैं, वहीं दूसरी तरफ मुंगेली जिला मुख्यालय से सटे धनगांव में पेयजल की भारी समस्या है.
आधे से ज्यादा हैंडपंप खराब

धनगांव में पीएचई विभाग ने जो हैंडपंप लगाए थे, उनमें से आधे से ज्यादा हैंडपंप खराब हैं, वहीं जो हैंडपंप चालू भी हैं, उनमें से गंदा पानी निकल रहा है, जो पीने के लायक नहीं है. इसके कारण गांव के लोगों को तालाब से निस्तारी करनी पड़ रही है.
गंदा पानी पीकर लोग हो रहे हैं बीमार

मुंगेली कलेक्टर के खिलाफ कर्मचारी ने की शिकायत, कलेक्टर ने दी गोली मारने की दी धमकी

मुंगेली कलेक्टर के खिलाफ कर्मचारी ने की शिकायत, कलेक्टर ने दी गोली मारने की दी धमकी

एक कर्मचारी संगठन के नेता ने जिला कलेक्टर एनएन एक्का के ऊपर आंदोलन को कुचलने और गोली मरवाने की धमकी देने का सनसनीखेज आरोप लगाते हुए पुलिस में इसकी शिकायत दर्ज कराई है. कर्मचारी नेता राजेन्द्र कोशल ने पुलिस में आवेदन देकर कार्रवाई करने की मांग की है.

पुलिस को दिए आवेदन में कोशले ने लिखा है कि वे लोग मजदूरों के हितों को लेकर 15 दिन से कलेक्ट्रेट के सामने धरना दे रहे थे. जिसकी कलेक्टर से विधिवत अनुमति भी लिए थे. लेकिन 30 सितंबर की रात 8 बजे 9425280067 एवं 7746051733 से उनके मोबाइल में एक कॉल आया.

अब किसान को चिंता करने की जरूरत नहीं : रमन

अब किसान को चिंता करने की जरूरत नहीं : रमन

किसी भी किसान को चिंता करने की जरुरत नहीं है एक-एक पैसा किसानों के खाते में जाएगा। गुरुवार को ये बातें मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कही। वे बोनस तिहार के लिए मुंगेली में कार्यक्रम में शामिल हुए। उन्होंने कहा कि, किसानों के लिए दीपावली का पूर्व एक और दीपावली है। अकाल की स्थिति पर पहली बार विधानसभा का विशेष सत्र बुलाकर किसानों के लिए 2100 करोड़ रुपए के बोनस की घोषणा की गई। दीपावली तक प्रदेश के 13 लाख 50 हजार किसानों के खाते में राशि आ जाएगी।