Durg

CG-07, Durg

मनवा कुर्मी कल्याण का मिलन समारोह 3 को

मनवा कुर्मी कल्याण समिति भिलाई नगर का पारिवारिक मिलन समारोह 3 दिसंबर को कुर्मी भवन सेक्टर-7 में होगा। कार्यक्रम के प्रथम सत्र में रंग भरो, चित्रकारी, रंगोली प्रतियोगिता सहित मनोरंजक खेलकूद होगा। दूसरे सत्र में दोपहर 3 बजे से मंचीय कार्यक्रम होगा, जिसमें बच्चों और महिलाओं की ओर से सांस्कृतिक प्रस्तुति दी जाएगी। समाज के प्रतिभाशाली बच्चों को शिक्षा, खेल और राज्य, राष्ट्रीय स्तर पर पुरस्कार मिले सामाजिकजनों को सम्मानित किया जाएगा। समारोह में मुख्य अतिथि समाज के अपील सिमिति सदस्या चोवाराम वर्मा होंगे। विशिष्ट अतिथि बीएसपी ओए अध्यक्ष एनके बंछोर, प्रो.

लोगों को दी जा रही है स्वच्छता के संबंध में जानकारी

लोगों को दी जा रही है स्वच्छता के संबंध में जानकारी

नगर पालिक निगम भिलाई के आयुक्त के निर्देश पर निगम का स्वास्थ्य अमला लगातार निगम क्षेत्र में तीनों पालियों में सफाई कार्य किया जा रहा है। इसके साथ ही स्वच्छता के संबंध में जानकारी देते हुए स्वच्छता एप्प अपने मोबाईल पर डाउनलोड करने के लिए लोगों में जानकारी भी दिया जा रहा है। जोन 2 के अंतर्गत गौरव पथ सड़क की सफाई की गई।

स्टील सिटी चेंबर के प्रतिनिधि मंडल ने की केबिनेट मंत्री से मुलाकात

बीएसपी संपत्ति कर और यूजर चार्ज वसूली को लेकर व्यापारियों का परेशान नहीं करेगा। जब तक इन मामलों को लेकर अंतिम निर्णय नहीं हो जाता। यह जानकारी मंत्री प्रेमप्रकाश पांडेय ने टाउनशिप के भिलाई स्टील सिटी चेंबर ऑफ कामर्स के प्रतिनिधि मंडल को दी, जिन्होंने बुधवार को कारोबार बंद कर प्रबंधन के रवैए का विरोध किया था। बंद को मिली सफलता के बाद मंत्री पांडेय ने तत्काल सीईओ से संपर्क किया और मामले को लेकर प्रबंधन का पक्ष रखने कहा। सीईओ ने कहा कि मामले का निराकरण होने तक वसूली को लेकर किसी तरह का दबाव विभाग की ओर से नहीं बनाया जाएगा। इसके लिए विभागीय अफसरों को निर्देशित किया गया है। व्यापारियों के प्रतिनिधि

एसीसी के नाराज मजदूरों ने गेट पर किया प्रदर्शन

एसीसी के मजदूरों ने गुरुवार की शाम 4.30 बजे छुट्टी के बाद एसीसी होलसिम नए गेट के सामने प्रदर्शन किए। मजदूरों में नाराजगी इस बात को लेकर है कि, प्रगतिशील सीमेंट श्रमिक संघ के साथ हुए समझौते का प्रबंधन की ओर से समय पर पालन नहीं किया जा रहा है।

ठेका श्रमिकों का आंदोलन सोमवार से होगा और तेज

हिंदुस्तान इस्पात ठेका श्रमिक यूनियन के बैनर तले एसपी-3 के 50 ठेका श्रमिकों का आंदोलन 11वें दिन भी जारी रहा। गुरुवार को प्रबंधन के साथ आंदोलनकारियों की बैठक हुई, लेकिन इसमें भी कोई नतीजा नहीं निकला।

यूनियन का सदस्य बनने कर्मियों का किया जा रहा है ब्रेनवॉश

प्रदेश में सियासी घमासान मचा हुआ है, कुछ ऐसा ही माहौल भिलाई स्टील प्लांट में भी बन चुका है। दूसरे संगठनों में नाराज और उपेक्षित कर्मचारी नेताओं को फ्रंटलाइन में लाने के लिए बिसात बिछाई जा रही है। सुबह से शाम तक प्लांट से बाजार तक एक-एक कर्मचारी नेताओं का ब्रेनवॉश किया जा रहा है, ताकि जीरो से कॅरियर शुरू करने वाली यूनियन छत्तीसगढ़ मजदूर संघ खुद को मजबूत कर सके।
00 क्या है इनके काम का तरीका :

सेवा का चुनाव नहीं होने से यूनियन नेताओं का बढ़ रहा है गुस्सा

स्टील इम्प्लाइज वेलफेयर एसोसिएशन (सेवा) की नई कार्यकारिणी गठन के लिए 30 नवंबर तक चुनाव का वादा और दावा किया गया था। न तो चुनाव की तारीख तय की गई और न ही कोई आगे की संभावना दिख रही है। इस बात को लेकर कर्मचारी यूनियन नेताओं में गुस्सा बढ़ता जा रहा है। वहीं एसोसिएशन ने यह भी बोल दिया है कि, अगर चुनाव कराया गया तो 10 से 12 लाख रुपए खर्च होंगे। ऐसे में आर्थिक भार सेवा पर थोपना मुनासिब नहीं। इसलिए बातचीत के जरिए ही बीच का रास्ता निकाला जाएगा।

वीआर की मियाद बढऩे से वीआर लेने वालों का आंकड़ा बढा

बीएसपी की स्वेच्छा से छोडऩे की तारीख 30 दिन बढ़ते ही 60 कार्मिकों ने बॉय-बॉय कर दिया है। वीआर लेने वालों का आंकड़ा बढ़ गया है।

ठेका मजदूरों को नाइट एलाउंस दिलाने यूनियन हुई सक्रिय

स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया के सभी इकाइयों में नाइट शिफ्ट ड्यूटी करने वाले ठेका मजदूरों को भत्ते की वकालत बीएसपी से राउरकेला तक की जा रही है। राउरकेला स्टील प्लांट से कर्मचारियों का प्रतिनिधिमंडल भिलाई पहुंचा है। यहां कर्मचारियों के साथ वार्ता हुई। एक-एक बिन्दुओं पर चर्चा के बाद ठेका श्रमिकों को नाइट अलाउंस की मांग की गई है।

डाकघर में सीसीटीवी नहीं होने से लेटर बम फोड़ने वाले का कोई सुराग नहीं

नगर पालिक निगम भिलाई के एमआईसी सदस्य के लेटर पैड़ पर मंत्री, विधायक, आयुक्त, महापौर सहित पार्षदों और अन्य लोगों के खिलाफ लेटर बम फोड़ने वाले का सुराग मिल पाना मुश्किल होगा। उक्त पत्र बीते पिछले शनिवार की दोपहर दुर्ग के जिस डाकघर से स्पीड पोस्ट के माध्यम से भेजा गया है, वहां सीसीटीवी कैमरा नहीं लगा है। हालांकि सदस्य डा. दिवाकर भारती के वास्तविक लेटर पैड और विवादित पत्र का प्रारूप बिल्कुल अलग है। दोनों को देखने से स्पष्ट हो रहा है कि वह पत्र फर्जी है।
00 क्या है पूरा मामला :