News Repoters

1.80 लाख शिक्षाकर्मी परिवार ने पत्रकारों के आंदोलन को दिया समर्थन, बड़े आंदोलन की तैयारी में पत्रकार, पीएम मोदी के दौरे को लेकर बनाई रणनीति

a85f7a92-3e79-48c0-9fa0-617b9cbe48f5-990x556.jpg

पत्रकारों का आंदोलन हर दिन विकराल रूप लेता जा रहा है. इस धरना-प्रदर्शन में पत्रकारों के साथ लगातार सामाजिक संगठन, कर्मचारी संघ, शिक्षक संघ, लेखक, कलाकर जुड़ते जा रहे हैं. लिहाजा आंदोलन जन आंदोलन में तब्दील हो चुका है. पांच दिनों तक आंदोलन जारी रहने के बाद भी मारपीट करने वालो को भाजपा द्वारा संरक्षण देने की वजह से पत्रकारों ने इस धरने को अब बड़ा रूप देने की तैयारी की है. 8 फरवरी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के छत्तीसगढ़ दौरे को देखते हुए, पत्रकारों ने बड़ी रणनीति तैयार की है.