अधिक कमाने का दंभ भरता था वेणुधर इसलिए हत्या

बागबाहरा के फुलवारी पारा निवासी वेणुधर राजपूत (35) की हत्या की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली है। युवक की हत्या उनके ही दोस्तों ने व्यवसायिक प्रतिस्पर्धा की वजह से की थी। चारों आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।
00 कैसे और क्यों हुई उसकी हत्या :
सोमवार को पुलिस कंट्रोल रूप में हुई पत्रकारवार्ता में एएसपी संजय ध्रुव ने हत्याकांड का खुलासा करते हुए कहा कि, फुलवारी पारा बागबाहरा के नेमीचंद बगीचा में सात सितंबर को एक अज्ञात युवक का रक्त रंजिश शव मिला था। शरीर में धारदार हथियार के चोट के निशान थे। मृत युवक की पहचान वेणुधर राजपूत (35) निवासी फुलवारीपारा बागबाहरा के रूप में हुई। प्रथमदृष्टया युवक का शव को देखने से धारदार हथियार से हत्या किया जाना प्रतीत हो रहा था। पतासाजी दौरान यह भी पता चला कि 6 सितंबर में दुर्गा उत्सव समिति की ओर से मीटिंग की गई थी, जिसमें सम्मिलित होने मृतक वेणुधर भी गया था। मीटिंग करीब रात्रि साढ़े 10 बजे तक चली। मीटिंग समाप्ति के बाद मृतक घर नहीं पहुंचा दूसरे दिन 7 सितंबर को उक्त युवक की लाश नेमीचंद बगीचा बागबाहरा में मिलने से हत्या का मामला पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया। आरोपी की गिरफ्तारी के लिए क्राइम स्क्वाड और थाना बागबाहरा की टीम गठित की गई।
00 कैसे जोड़ी गई एक-एक कड़ी :
पूछताछ के दौरान यह जानकारी मिली कि 6 सितंबर की रात्रि 11-12 बजे मृतक को उनके व्यवसायिक साथी मो. शकील और पुरूषोत्तम के साथ मोटर साइकिल में जाते देखा गया था और राजेश राजपूत को भी मृतक के घर के आसपास जाते देखा गया जिन्हें संदेह के आधार पर हिरासत में लेकर पूछताछ की गई। जिन्होंने पूछताछ पर कहा कि, मो. शकील, राजेश राजपूत, पुरूषोत्तम राजपूत और वाहिद एक साथ मिलकर घटना दिनांक की रात्रि में मृतक को पार्टी मनाने के बहाने बगीचा पास वाले तालाब ले जाकर छड़, चापड़ और चाकू जैसे धारदार हथियार से मारपीट कर हत्या करना स्वीकार किया और साक्ष्य छुपाने के लिए हत्या में प्रयुक्त छड़, चाकू, चापड़ को तालाब के अंदर पचरी पास फेंक देना बताया।
पूछताछ में यह पता चला कि मृतक वेणुधर राजपूत रेडीमेड कपड़े का फुटकर व्यवसायी था जो साप्ताहिक बाजार बागबाहरा के अलावा गांव-गांव जाकर कपड़े बेचता था और अपने व्यवसायी मित्रों से अधिक रकम कमाने का दंभ भरता था। आरोपी मो. शकिल खान चैना सामग्री और राजेश राजपूत, वाहिद फुटकर रेडिमेड कपड़ा और पुरूषोत्तम राजपूत ट्रक चालक हैं, सभी आरोपीगण पास में मित्र हैं। मृतक वेणुधर अपने व्यवसाय में आगे बढ़ रहा था। व्यवसायिक प्रतिस्पर्धा के चलते मृतक को रास्ते से हटाने के लिए सभी ने एक राय होकर हत्या की वारदात को अंजाम दिया। आरोपियों की निशानदेही पर घटना में प्रयुक्त हथियार तालाब से मोहल्लेवासियों के सहयोग से बरामद किया गया है।

Source: 
Vision News Service

Related News