अमृत मिशन के कार्य की प्रगति जानने कलेक्टर पहुंचे नवागांव और चिखली

अमृत मिशन

कलेक्टर भीम सिंह ने आज अमृत मिशन के अंतर्गत जलप्रदाय के लिए बन रही टंकियों का निरीक्षण किया। उन्होंने कहा कि समय पर टंकियों का निर्माण एवं पाइपलाइन का निर्माण सर्वोच्च प्राथमिकता है ताकि शीघ्रताशीघ्र लोगों की जरूरत पूरी हो सके। उन्होंने कहा कि प्रशासन की सर्वोच्च प्राथमिकता पटरी पार की बसाहटों में अबाधित जलापूर्ति देना है इसके लिए नियमित रूप से मिशन की प्रगति की मानीटरिंग करते रहें।
नगर निगम कमिश्नर अश्विनी देवांगन ने बताया कि इन टंकियों पर काम युद्धस्तर पर जारी है। अभी पांच टंकियों पर काम शुरू हो चुका है तथा एक टंकी का टांकाघर में निर्माण किया जाना निश्चित हुआ है। उन्होंने बताया कि अभी खरखरा जलाशय से 13 किमी की पाइप लाइन बिछ चुकी है। शहर के भीतर भी 10 किमी की राइजिंग पाइप बिछ चुकी है। इन टंकियों की क्षमता एक लाख लीटर की होगी, जिससे शहर में आने वाले 20 वर्षों तक पेयजल की दिक्कत नहीं होगी। उल्लेखनीय है कि पूरे शहर की पेयजल की जरूरत पूरी करने वाली यह योजना 210 करोड़ रुपए की है।
सुरक्षा का भी रखें ध्यान-
कलेक्टर ने टंकियों के निर्माण के दौरान सेफ्टी उपायों की भी जानकारी ली। कमिश्नर ने बताया कि टंकियों के नीचे नेट लगाए गए हैं। लोगों को हेलमेट भी उपलब्ध कराए गए हैं। सुरक्षा संबंधी सभी प्रावधानों का पूरा ध्यान रखा जा रहा है। कलेक्टर ने कहा कि समयसीमा पर काम करने के साथ ही कार्य की गुणवत्ता एवं सुरक्षा उपाय बेहद महत्वपूर्ण हैं इनका पूरा ध्यान रखें।
स्काडा सिस्टम से होगा संचालन-
अमृत मिशन के अंतर्गत बन रही टंकियों में स्काडा सिस्टम से संचालन होगा ताकि सभी नागरिकों को समय पर अबाधित जलापूर्ति हो सके।
निर्माणाधीन आवासों का किया निरीक्षण-
कलेक्टर ने आवास योजना के अंतर्गत निर्माणाधीन आवासों का निरीक्षण भी किया। उन्होंने इसकी प्रगति पर संतोष जताया। जिन लोगों को आवास नहीं मिल पाया है यदि वे पात्र हैं तो सर्वे कर इनका नाम जोड़कर इन्हें आवास का लाभ दिलाने निर्देश दिए। रहवासियों ने बताया कि छप्पर वाले घरों में सबसे ज्यादा परेशानी बंदरों से होती थी। अब पक्के मकान बन जाने से बंदरों की समस्या से मुक्ति मिल सकेगी।
तिलक बाई का घर रौशन करने दिया निर्देश-
नवागांव में एक वृद्धा तिलकबाई ने अपनी समस्या कलेक्टर के समक्ष रखी। उन्होंने आवास के लिए मांग की। तिलक बाई ने बताया कि उनके खप्पर वाले घर में बारिश में काफी दिक्कत होती है। कलेक्टर ने निगम अमले को इनकी पात्रता की जांच कर समुचित कार्रवाई करने के निर्देश भी दिए। उन्होंने देखा कि वृद्धा के घर में लाइट नहीं है। जानकारी लेने पर पाया कि बीपीएल कोटा की जो नि:शुल्क बिजली मिलती है उसका लाभ उनका बेटा ले लेता है। कलेक्टर ने वृद्धा को इसका लाभ उपलब्ध कराने के निर्देश दिए।

Source: 
visionnewsservice.in

Related News