आदिवासी बालक क्रीडा परिसर में 16 से प्रवेश प्रारंभ

आदिवासी बालक क्रीडा परिसर में शैक्षणिक सत्र 2018-19 के लिए 16 जून से खिलाड़ी छात्रों को प्रवेश दिया जाएगा। सहायक आयुक्त आदिवासी विकास गरियाबंद ने बताया कि क्रीडा परिसर में प्रवेश के लिए नियम और शर्ते निर्धारित की गई है, जिसके अनुसार छात्र की आयु की गणना 31 दिसम्बर 2018 की स्थिति में होगी। माध्यमिक स्तर के विद्यार्थियों के लिए अधिकतम आयु 14 वर्ष तथा उच्चतर माध्यमिक स्तर के विद्यार्थियों के लिए अधिकतम आयु 18 वर्ष निर्धारित की गई है।
निर्धारित शर्त के अनुसार छात्र कक्षा 6वीं से 12वीं तक अध्ययनरत हो। चयन के लिए छात्र को 10-10 अंक का 10 बैटरी टेस्ट देना होगा। कुल 100 अंक के टेस्ट में प्रत्येक छात्र को प्रत्येक टेस्ट में न्यूनतम 50 प्रतिशत अंक प्राप्त करना अनिवार्य है। छात्रों की चयन सूची मेरिट आधार पर जारी होगी। क्रीडा परिसर में केवल अनुसूचित जनजाति के छात्र ही प्रवेश के लिए पात्र होंगे।
राष्ट्रीय एवं राज्य स्तर के खेल में प्रतिनिधित्व कर चुके छात्रों को प्राथमिकता के आधार पर प्रवेश दिया जाएगा। बैटरी टेस्ट का आयोजन 22 और 23 जून को सवेरे 8 बजे से शासकीय बालक उच्चतर माध्यमिक विद्यालय प्रांगण में किया जाएगा। चयनित छात्रों की सूची 25 जून तक क्रीडा परिसर में चस्पा कर दी जाएगी। उन्होंने बताया कि बैटरी टेस्ट 1 जून से प्रारंभ हो गया है। प्रवेश के लिए इच्छुक छात्र बैटरी टेस्ट के लिए 22 जून तक आदिवासी बालक क्रीडा परिसर गरियाबंद में उपस्थित होकर पंजीयन करा सकते हैं।
सहायक आयुक्त ने बताया कि क्रीडा परिसर में छात्रों को निःशुल्क आवास एवं भोजन की सुविधा दी जाती है। खेल गणवेश, ट्रेक सूट, जूता-मोजा आदि वर्ष में एक बार निःशुल्क प्रदाय किया जाता है। अलग-अलग विधा की खेल सामग्री, खेल उपकरण, समाचार पत्र एवं खेल संबंधी साहित्य उपलब्ध कराया जाता है। बालक क्रीडा परिसर में शासन की और से चार विधा स्वीकृत है, जिसमें वालीबाल, बास्केट बाल, हाॅकी और एथलेटिक्स शामिल है। इसके अतिरिक्त अन्य प्रतियोगिताओं में भी अच्छे खिलाड़ियों को सम्मिलित किया जाता है। प्रत्येक विधा के लिए विधावार अनुभवी व्यायाम अनुदेशक की नियुक्ति शासन ने की है।

Source: 
visionnewsservice.in

Related News