कलेक्टर ने बैठक लेकर आबादी पट्टा वितरण की समीक्षा की

कलेक्टर ने बैठक लेकर आबादी पट्टा वितरण की समीक्षा की

कलेक्टर डॉ. सी.आर. प्रसन्ना ने आज दोपहर आबादी पट्टा वितरण के संबंध में बैठक लेकर तहसीलवार समीक्षा की तथा आगामी फरवरी माहांत तक सभी लंबित प्रकरणों को दुरूस्त कर वितरित करने के निर्देश दिए। उन्होंने बैठक में इस बिन्दु पर विशेष तौर पर ध्यान देने कहा कि कोई भी पात्र व्यक्ति छूटने न पाए और अपात्र व्यक्ति इसका इसका अनुचित लाभ न ले सके। कलेक्टर ने नगरीय एवं ग्रामीण क्षेत्रों में किए गए सर्वेक्षण में पात्र लोगों का पट्टा जनरेट करने, वितरण तथा शेष वितरण का तहसीलवार गोशवारा तैयार करने के अलावा प्रकरणों की बारीकी से परीक्षण करने व फरवरी माहांत तक हरहाल में वितरण सुनिश्चित करने के लिए राजस्व अधिकारियों को निर्देशित किया। विशेष तौर पर नगरीय निकायों में पट्टा निर्माण की धीमी गति पर असंतोष प्रकट करते हुए खामियों को दूर करने और शत-प्रतिशत पट्टों का वितरण सुनिश्चित करने के लिए निर्देशित किया।
कलेक्टोरेट सभाकक्ष में आज दोपहर आयोजित बैठक में अपर कलेक्टर के.आर. ओगरे ने बताया कि नगर पंचायत आमदी में 587 भू-खण्डों का सर्वेक्षण किया गया, जिनमें से पात्र 543 हितग्राहियों के पट्टे तैयार किए जा चुके हैं तथा 44 प्रकरण लंबित हैं। इसी तरह नगर पंचायत कुरूद में 2020, भखारा में 619, मगरलोड में 570 और नगर पंचायत नगरी में 290 पात्र हितग्राही पाए गए, जिनका कुल योग 4040 है। इनमें से 3787 फोटो रहित पट्टे तैयार किया जाना शेष है। कलेक्टर ने पट्टा निर्माण के लंबित प्रकरणों को जल्द निराकृत करने के निर्देश दिए। इसी तरह ग्रामीण आबादी पट्टा सर्वेक्षण में कुल 69318 हितग्राही पात्र पाए गए तथा इनमें से 68202 पट्टों का वितरण राजस्व विभाग द्वारा किया जा चुका है। श्री ओगरे ने बताया कि धमतरी तहसील में 19738, कुरूद में 25122, मगरलोड में 10798 और नगरी तहसील में 13660 पात्र हितग्राही सर्वेक्षण के दौरान पाए गए। बैठक में राजस्व विभाग के अधिकारीगण मौजूद थे।

Source: 
visionnewsservice.in

Related News