कार्यों को समय-सीमा में पूरा कराएं- कलेक्टर

कलेक्टर ने जिले में महत्वपूर्ण योजनाओं के अंतर्गत चल रहे कार्यों को निर्धारित समयावधि में गुणवत्तायुक्त ढंग से पूरा कराने के निर्देश अधिकारियों को दिए है। कलेक्टर भीम सिंह ने आज 29 नवम्बर को कलेक्टोरेट सभाकक्ष में संबंधित विभाग के अधिकारियों की बैठक लेकर कार्यों की प्रगति की विस्तृत समीक्षा की। बैठक में आयुक्त नगर निगम अश्वनी देवांगन, डिप्टी कलेक्टर दुष्यंत रायस्त सहित संबंधित विभाग के अधिकारीगण उपस्थित थे।
बैठक में सिंह ने डोंगरगढ़ में एडवेंचर स्पोट्र्स निर्माण की प्रगति की समीक्षा की। उन्होंने शिक्षा विभाग के सहायक संचालक आदित्य खरे से निर्माण कार्य के प्रगति के संबंध में जानकारी दी। खरे को एडवेंचर स्पोट्र्स में फर्नीचर आदि की समुचित व्यवस्था के अलावा विद्युतीकरण के कार्य को भी पूरा करने के निर्देश दिए। डिप्टी कलेक्टर दुष्यंत रायस्त को एडवेंचर स्पोट्र्स के शेष कार्यों को पूरा कराने के लिए जिला खनिज न्यास निधि से राशि स्वीकृत करने के निर्देश भी दिए। इस दौरान उन्होंने विकासखंड मुख्यालयों में कैरियर काउंसिलिंग के लिए भवन निर्माण और अन्य आवश्यक सामग्री की व्यवस्था की भी समीक्षा की। सहायक आयुक्त आदिवासी विकास तारकेश्वर देवांगन ने खैरागढ़, छुईखदान, डोंगरगढ़ में कैरियर काउंसिलिंग के लिए भवन निर्माण के अलावा सभी जरूरी व्यवस्था पूरी होने की जानकारी दी। उन्होंने कैरियर काउंसिलिंग के प्रभार और देख-रेख की जिम्मेदारी सहायक विकासखंड शिक्षा अधिकारियों को देने की जानकारी भी दी। इसके अलावा कैरियर काउंसिलिंग के लिए कांउसलर नियुक्त करने की भी जानकारी दी। सिंह ने कैरियर काउंसिलिंग भवन में पाठ्यपुस्तक, फर्नीचर आदि के अलावा जरूरी सुविधाएं सुनिश्चित करने के निर्देश भी अधिकारियों को दिए।
बैठक में उन्होंने राजनांदगांव शहर में एजुकेशन हब निर्माण की प्रगति की भी समीक्षा की। उन्होंने आयुक्त नगर निगम अश्वनी देवांगन से एजुकेशन हब निर्माण की पूरा होने की अवधि की जानकारी लेते हुए इसे निर्धारित समयावधि में पूरा कराने के निर्देश दिए। सिंह ने जिले के सभी स्कूलों में शौचालयों और विद्युतीकरण की स्थिति की भी समीक्षा की। उन्होंने जिला शिक्षा अधिकारी को इसकी सूची प्रस्तुत करने को कहा। इसके अलावा उन्होंने आंगनबाड़ी केन्द्रों में शौचालयों की स्थिति की भी समीक्षा की। कलेक्टर सिंह ने मार्डन स्कूल के अलावा ई-लाईब्रेरी के निर्माण कार्य के संबंध में भी जानकारी ली। इसके अलावा उन्होंने मेडिकल और इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा के लिए प्री-कोचिंग और एनडीए कोचिंग के कार्यों की प्रगति की समीक्षा की। सहायक आयुक्त आदिवासी विकास को मेडिकल इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा में शामिल होने वाले विद्यार्थियों को आवेदन कराने के निर्देश भी दिए।
सिंह ने जिले में कुपोषण मुक्त ग्राम पंचायत बनाने के लिए किये जा रहा कार्यों की भी समीक्षा की। जिला कार्यक्रम अधिकारी को कुपोषण मुक्त हो चुके ग्राम पंचायतों को चिन्हित कर इन ग्राम पंचायतों को विधिवत कुपोषण मुक्त घोषित करने के निर्देश दिए। इसके साथ ही उन्होंने महिला शक्ति केन्द्र और बीपीओ के निर्माण कार्य की प्रगति की भी समीक्षा की। उन्होंने बीपीओ में बाऊण्ड्रीवाल कैटिन, लैण्डस्कोपिंग आदि निर्माण कार्यों की समीक्षा करते हुए इसे शीघ्र पूरा कराने के निर्देश दिए।

Source: 
visionnewsservice.in

Related News