कृमि की दवा खाने के बाद बिगड़ी तबीयत, तीसरी के छात्र की मौत

बालक आश्रम मर्दापाल में अध्ययनरत पुष्पराज कोर्राम पिता तुलाराम कोर्राम (9 साल) की आज जिला अस्पताल में उपचार के दौरान मौत हो गई। बताया जा रहा कि सोमवार को मर्दापाल के आश्रम के बच्चों को कृमि की दवा ऐल्बेन्डाजोल की दवा दी गई थी, जिसमें दो बच्चे पुष्पराज और रामसिंह को उल्टी हुई थी, जिसे प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र मर्दापाल में भर्ती किया गया। उपचार के बाद रात को वापस दोनों बच्चों को आश्रम भेज दिया गया। जहां पर मंगलवार सुबह पुष्पराज को फिर चक्कर आए और जमीन पर गिर गया। जिसे प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र मर्दापाल में ले लाया गया। पर वहां से उसे जिला अस्पताल कोंडागांव रिफर कर दिया। जिसका उपचार के दौरान मौत हो गई। मृतक छात्र के पिता ने बताया कि उनकी तीन संतान हैं। जिसमें दो लड़कियां और एक लड़का पुष्पराज ही था। हमने सोचा कि बच्चा आश्रम में रहकर पढ़ाई करेगा और आगे बढ़ेगा पर आज में उसकी मौत से सन्न हूं। उन्हें सुबह ही जानकारी मिली थी।
वहीं आश्रम अधीक्षक मंजूराम कोर्राम ने बताया कि बालक पहले स्वस्थ था, कभी बीमार नहीं रहता था, पर कल जब से उसको दवाई दी उसके बाद ही उसकी तबीयत खराब हुई। हमने पुलिस में मामला दर्ज करवा दिया है।

Source: 
visionnewsservice.in

Related News