ख़बर का असर: तमिलनाडु से रिहा कराए गए जशपुर के बंधक बनाए गए मज़दूर

labour-symbol-768x512.jpg

तमिलनाडु के मल्लूर में बंधक बनाए गए सभी मजदूरों को रिहा करा लिया गया गया है. रिहा कराये गये मजदूरों की संख्या 6 बतायी जा रही है जिन्हें रबर फैक्ट्री के मालिक ने इसलिये बंधक बना लिया था क्योंकि ये वेतन की मांग कर रहे थे. इस खबर को लल्लूराम डॉट कॉम ने प्रमुखता से और सबसे पहले सामने लेकर आया था.
इसके बाद जशपुर पुलिस अधीक्षक ने दुलदुला थानेदार देवेंद्र सिंह ठाकुर के नेतृत्व में टीम बनाकर टीम को तमिलनाडु के मल्लूर रवाना की हई. इस मामले में जानकारी देते हुए जशपुर पुलिस ने बताया कि जशपुर जिले के कुल 10 मजदूर काम करने गये थे. लेकिन फैक्ट्री मालिक की प्रताड़ना के चलते 4 मजदूर यहां से भागने में सफल हो गए. जबकि 6 मजदूर वही फंसे के फंसे रह गए थे.

आपको बता दें कि इस पुरे मामले में सांसद रणविजय सिंह की सबसे अहम भूमिका रही क्योंकि बंधक मजदूरों ने सांसद को फोन पर उनपर हो रहे जुल्म को बताया था और अपनी दुर्दशा की तस्वीर भी भेजी थी. इसके बाद सांसद ने इसकी सूचना पुलिस अधीक्षक जशपुर को दी गई और पुलिस हरकत में आयी. बहरहाल ,पुलिस टीम मजदूरों को लेकर तमिलनाडु से रवाना हो चुकी है उम्मीद है देर शाम तक सभी बंधक मजदूर अपने अपने घर पहुच जाएंगे.

Source: 
lalluram.com

Related News