गुरु घासीदास लोक कला महोत्सव के लिए दस्तावेज 15 जनवरी तक मंगाए

अनुसूचित जाति वर्ग के लोगों की पारंम्परिक लोक कला यथा लोकगीत, लोक गायन, लोक नृत्य जैसे-पंथी नृत्य, पंडवानी, भरथरी और अनुसूचित जाति वर्ग के लोगों के पारंम्परिक लोक वाद्य आदि कलाकारों की प्रतिभा की पहचान करने और उन्हे पुरस्कृत कर प्रोत्साहित करने के लिए गुरु घासीदास लोक कला महोत्सव के लिए प्रविष्टियां आमंत्रित की गई है। प्रविष्टि में क्रमांक, लोक कला दल का नाम, दल प्रभारी का नाम, पता और मोबाइल नंबर, प्रतिभागियों की संख्या और अन्य कोई रिमार्क का उल्लेख होना चाहिए। प्रविष्टि सहायक आयुक्त आदिवासी विकास में 15 जनवरी तक जमा किया जा सकता है।
सहायक आयुक्त आदिवासी विकास ने बताया कि जिला स्तर पर प्रविष्टि में से राज्य स्तरीय प्रतिस्पर्धा में शामिल करने के लिए कलेक्टर की अध्यक्षता में गठित समिति की ओर से प्रविष्टियां का परीक्षण पर या जिला स्तर पर प्रतियोगिता कर दो प्रविष्टियां भेजी जाएगी। यदि किसी प्रविष्टि के चयन के लिए जिला स्तर पर कलेक्टर की ओर से प्राप्त प्रविष्टिकत्र्ताओं के बीच प्रतिस्पर्धा कराने का निर्णय लिया जाता है तो संबंधित प्रविष्टिकत्र्ता दलो को जिला स्तर की प्रतिस्पर्धा के लिये आने-जाने और अन्य व्यय स्वयं करना होगा परन्तु जिला स्तर से चयनित सर्वश्रेष्ठ दो दलों को राज्य स्तरीय प्रतिस्पर्धा के लिये आने-जाने और ठहराने और भोजन की व्यवस्था विभाग की ओर से की जाएगी।

Source: 
visionnewsservice.in

Related News