ग्रामीण बैंक के कैशियर ने ग्राहक के खाते से करीब 7 लाख किया पार, चाय पीने के बहाने हुआ फरार…

bemetara-cash-theft-1434369124_835x547.jpg

ग्रामीण बैंक से राशि घोटाला करने का मामला सामने आया है. ग्रामीण बैंक के कैशियर के द्वारा 7 लाख 2 हजार 578 रुपये का गबन किए जाने की शिकायत बैंक मैनेजर ने अन्तागढ़ थाना में दर्ज करवाई है. मामला दर्ज होने के बाद आरोपी कैशियर फरार हो गया है. अन्तागढ़ पुलिस मामले की जांच में जुट गई है.

लंच के बहाने हुआ कैशियर गायब

जानकारी के मुताबिक बैंक में जगदलपुर से आडिट के लिए टीम आई हुई थी. इसी दौरान कैशियर राजू कोमा दिन में करीब ढाई बजे लंच टाइम में बैंक से कहीं चला गया. ड्यूटी टाइम शुरू होने पर भी वह बैंक वापस नहीं पहुंचा. इसी बीच बैंक में पैसे निकालने और जमा कराने वालों की लंबी लाइन लग गई. जिससे बैंक प्रबंधन भी हैरान हो गए कि अब तक वह वापस लौटा क्यों नहीं है.

ग्राहकों की लग गई लंबी कतार

वहीं दूसरी तरह ग्राहकों की लम्बी लाइन लगते जी रही थी. एक ग्राहक ने करीब सवा तीन बजे अपने खाते में पैसा जमा नहीं होने की शिकायत लेकर पहुंचा. जिसके बाद बैंक के द्वारा कैशियर राजू कोमा के मोबाइल पर फोन किया, तो उसका नंबर बंद मिला. बैंक प्रबंधक का शक कैशियर पर बढ़ता गया.

खाते में नहीं चढ़ाई गई राशि

कुछ देर इंतजार करने के बाद आरोपी राजू कोमा के निवास बैंक कालोनी आवास में बैंककर्मी को भेजा गया, तो उसके घर में ताला लगा हुआ था. शाम तक भी जब कैशियर राजू घर नहीं लौटा तो बैंक मैनेजर महादेव ने शक होने पर तुरंत खातों का मिलान कराया. वाउचर्स से मिलान करने पर इस बात का खुलासा हुआ कि ग्राहकों की 7 लाख 2 हजार 578 रुपये की राशि ग्राहकों के खाते में चढ़ाई ही नहीं गई है.

तलाश में जुटी पुलिस

जिसके बाद बैंक मैनेजर ने वरिष्ठ अधिकारियों एवं अन्तागढ़ थाना में इसकी सूचना दी. जिसके बाद आरोपी राजू कोमा के खिलाफ अपराध दर्जकर तलाश कर रही है. फिलहाल पूरे मामले की जांच में जुट गई है.

Source: 
lalluram.com

Related News