जगदलपुर के हर घर तक पानी पहुंचाने नगरीय प्रशासन मंत्री ने दिए 103 करोड़

Minister Amar Agrwal

जगदलपुरवासियों को 130 करोड़ रुपए से अधिक के विकास कार्यों की सौगात नगरीय प्रशासन एवं विकास मंत्री ने दी। गुरुवार को बस स्टैण्ड परिसर में भूमिपूजन, लोकार्पण कार्यक्रम में नगरीय प्रशासन मंत्री ने कहा कि, राज्य शासन जगदलपुर के विकास के लिए कृत संकल्पित है। शासन की ओर से जगदलपुर के हर घर तक पानी पहुंचाने के लिए 103 करोड़ रुपए की लागत से अमृत मिशन योजना के तहत स्वीकृति प्रदान की गई है तथा इस क्षेत्र में जल प्रदाय के लिए यह इतिहास में सबसे बड़ी राशि है।
नगरीय प्रशासन मंत्री अमर अग्रवाल ने कहा कि, बस्तर के विकास में मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के शासनकाल में तेजी आई है और उन्होंने विभिन्न अवसरों पर पहुंचकर स्वयं यहां की विकास यात्रा को देखा है। बस्तर को देश दुनिया से जोडऩे का सबसे बड़ा कार्य किया जा रहा है। राजधानी रायपुर से जगदलपुर के बीच राष्ट्रीय राजमार्ग का चौड़ीकरण किया जा रहा है और इससे आवागमन सुगम हो जाएगी। केशकाल घाट में लगने वाली लम्बी जाम की समस्या से भी क्षेत्रवासियों को छुटकारा मिल जाएगा। जगदलपुर से रावघाट होते हुए दल्ली राजहरा तक रेल लाइन बिछाने से बस्तर के विकास की गति तेज होगी। शासन की ओर से जगदलपुर को हवाई मार्ग से जोडऩे का कार्य भी शुरू कर दिया गया है और जल्द ही यहां से हवाई यात्रा की सुविधा भी शुरू हो जाएगी। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की ओर से 2022 तक देश के सभी आवासहीनों के लिए पक्के आवास की व्यवस्था का संकल्प लिया गया है। इस संकल्प को पूरा करने के लिए छत्तीसगढ़ में 6 लाख आवास बनाए जा रहे हैं, जिसमें 40 से 50 हजार आवास सिर्फ शहरी क्षेत्रों में हैं। जगदलपुर में भी 200 आवास स्वीकृत किए जा चुके हैं। महिलाओं को धुएं और बीमारी से आजादी के लिए प्रधानमंत्री उज्जवला योजना प्रारंभ की गई और इस योजना के तहत अब तक प्रदेश में 13 लाख गैस कनेक्शन बांटे जा चुके हैं। पंडित दीनदयाल पथ प्रकाश योजना के तहत 6 शहरों में सड़कों को एलईडी से रोशन करने की योजना प्रारंभ की गई थी। आदिम जाति कल्याण मंत्री केदार कश्यप और जगदलपुर विधायक संतोष बाफना की ओर से इस योजना के तहत जगदलपुर शहर को भी शामिल करने का अनुरोध किया गया और अब प्रदेश की सभी 13 शहरों में इस योजना के तहत सड़कों में एलईडी लाईट लगाई जा रही है। इस योजना के तहत एलईडी लगाने वाली संस्था ही इसका रखरखाव करेगी, जिससे सड़कों में अब कभी भी अंधेरा नहीं रहेगा।
मंत्री अग्रवाल ने कहा कि, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की ओर से लाल किले में अपने पहले भाषण में स्वच्छता और शौचालय का विषय उठाया था और पूरे देश को 2 अक्टूबर 2019 तक खुले में शौच मुक्त करने का संकल्प लिया था। प्रदेश के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की ओर से इससे एक कदम आगे बढ़कर 2 अक्टूबर 2018 तक छत्तीसगढ़ को खुले में शौचमुक्त घोषित करने का संकल्प लिया गया। जगदलपुर शहर में शौचालयों के तेजी से हो रहे निर्माण पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए आशा व्यक्त की कि, यह शहर 2 अक्टूबर 2017 में ही खुले में शौचमुक्त हो जाएगा। शहर में एक बड़ी समस्या कचरा का उचित प्रबंधन है। आमतौर पर कचरे को जिस मोहल्ले में डम्प किया जाता है, वहां के नागरिक विरोध करते हैं। प्रधानमंत्री द्वारा कचरे के उचित प्रबंधन से धन अर्जित करने के लिए `वेस्ट टू वेल्थ` की कल्पना की गई और कचरे को अलग-अलग कर सडऩे वाले कचरे से खाद निर्माण की बात कही गई। आज यह कल्पना साकार हो रही है और कचरे से लोगों को रोजगार मिल रहा है। उन्होंने कहा कि, प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री की ओर से लोगों के आर्थिक समृद्धि का सपना देखकर उसे साकार करने का कार्य किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि, यहां 150 महिला स्वसहायता समूह की महिलाएं राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन से जुड़ चुकी हैं और इन महिलाओं बैंक लिंकेज और ऋण उपलब्ध कराकर रोजगार उपलब्ध कराया गया है। इससे ये महिलाएं अब आत्मनिर्भरता और आर्थिक सशक्तिकरण की दिशा में अपने कदम बढ़ा चुकी हैं।
इस अवसर पर कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे सांसद दिनेश कश्यप ने जगदलपुर में अमृत मिशन योजना के शुरुआत को महत्वपूर्ण अवसर बताया। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री की ओर से शहरों के समग्र विकास के लिए अमृत मिशन योजना शुरू की गई है। शहर और गांवों के सुनियोजित और सुव्यवस्थित विकास की कल्पना के साथ कार्य किया जा रहा है।
आदिम जाति कल्याण मंत्री केदार कश्यप ने कहा कि, विगत 13-14 वर्षों में नगरीय विकास में तेजी आई है। इस दौरान अंचल में कोंटा, सुकमा, दोरनापाल, भैरमगढ़ जैसे क्षेत्र नगरीय निकाय बने और इन क्षेत्रों में भी विकास कार्य तेजी से हो रहे हैं। बस्तर में योजनाओं के बेहतर ढंग से क्रियान्वयन के लिए मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह भी प्रशंसा करते हैं। इस अवसर पर विधायक बाफना और महापौर जतीन जायसवाल ने भी सभा को संबोधित किया।
कुशाभाऊ ठाकरे बस स्टैण्ड परिसर में सुबह 11 बजे से कार्यक्रम में मंत्री अमर अग्रवाल की ओर से मिशन अमृत के तहत् जल प्रदाय योजना के लिए 10390 लाख रुपए तथा अधोसंरचना मद के अंतर्गत नगर के विभिन्न वार्डो में नाली, पुलिया और सीसी रोड़ निर्माण कार्य के लिए 1448.34 लाख रुपए की लागत से भूमिपूजन तथा 900 लाख रुपए के पंडित दीनदयाल पथप्रकाश योजना के द्वितीय चरण का शुरुआत किया गया।
इसके साथ ही 40 लाख रुपए की लागत से बस स्टैण्ड में निर्मित रैन बसेरा भवन, 48.20 लाख रुपए से सुन्दर लाल शर्मा वार्ड क्रमांक-32 में निर्मित वेस्ट कलेक्शन और सेग्रीगेशन सेंटर, 3.00 लाख रुपए से पं. दीनदयाल उपाध्याय वार्ड क्रमांक-19 में निर्मित आंगनबाड़ी भवन, विवेकानंद वार्ड और क्रमांक-30, रविन्द्र नाथ टैगोर वार्ड क्रमांक-12 और रमैया वार्ड क्रमांक-17 में 04.50-4.50 लाख रुपए से निर्मित आंगनबाड़ी भवन, दलपत सागर वार्ड क्रमांक-18, छत्रपति शिवाजी वार्ड, गंगानगर वार्ड क्रमांक-23, गंगानगर वार्ड क्रमांक-23, दंतेश्वरी वार्ड क्रमांक-20, गुरूघासीदास वार्ड क्रमांक-28, महात्मा गांधी वार्ड क्रमांक-22, लोकमान्य तिलक वार्ड क्रमांक-37, पं. दीनदयाल उपाध्याय वार्ड क्रमांक-19, मदर टेरेसा वार्ड क्रमांक-26, सिविल लाईन वार्ड क्रमांक-7, अम्बेडकर वार्ड क्रमांक-29, में 14.68-14.68 लाख रुपए की लागत से निर्मित उचित मूल्य की दुकान सह गोदाम भवन का लोकार्पण किया गया और मिशन क्लीन सिटी के अंतर्गत स्वसहायता समूह के 112 सदस्यों को नगर निगम क्षेत्र में घर-घर कचरा संग्रहण कार्य के शुभारंभ की कुंजी प्रदान किया गया।
इस अवसर पर जिला पंचायत अध्यक्ष जबिता मंडावी, नगर निगम के सभापति शेषनारायण तिवारी, पूर्व विधायक बैदूराम कश्यप, डॉ. सुभाऊ कश्यप, पूर्व महापौर किरण देव, कलेक्टर धनंजय देवांगन, पुलिस अधीक्षक आरिफ शेख सहित जनप्रतिनिधि और नागरिक उपस्थित थे।

Source: 
visionnewsservice.in

Related News