जगदलपुर में बनेगा एक करोड़ का योग भवन : बृजमोहन

जगदलपुर में बनेगा एक करोड़ का योग भवन : बृजमोहन

छत्तीसगढ़ में अंतरर्राष्ट्रीय योग दिवस पर जगदलपुर में एक करोड़ रुपए की लागत से योग भवन बनाए जाने की घोषणा की गई है। यह घोषणा प्रदेश के कृषि मंत्री व जगदलपुर के प्रभारी मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने की। मंत्री बृजमोहन जगदलपुर में अंतरर्राष्ट्रीय योग दिवस पर योगाभ्यास करने पहुंचे थे।
उन्होंने कहा कि पहला सुख निरोगी काया है और योग शरीर को निरोगी रखने का कार्य करता है। योग आयोग के माध्यम से आज छत्तीसगढ़ में एक करोड़ लोग एक साथ योग कर रहे हैं और इस विश्व कीर्तिमान को स्थापित करने का महत्वपूर्ण कार्य भी आज किया जा रहा है। इस कीर्तिमान को स्थापना के लिए योग कर रहे लोगों को सौभाग्यशाली बताया।
उन्होंने कहा कि योग ऋषि-मुनियों की संस्कृति है। यह शरीर और मन, मनुष्य और प्रकृति के बीच सामंजस्य स्थापित करने के लिए किया जाता है। शरीर और मन को निरोगी रखने की इस आसान विधा को पूरे विश्व में प्रसार के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने संयुक्त राष्ट्र में अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के आयोजन का प्रस्ताव रखा था, योग के महत्व को देखते हुए इसे स्वीकार किया गया।
उन्होंने कहा कि योग जोड़ने का कार्य करता है। योग मन की चंचलता को नियंत्रित करता है। यह शरीर, मन, बुद्धि और आत्मा इन सभी को नियंत्रित कर सकता है। सिंधुघाटी की सभ्यता में भी योग साधना से संबंधित आकृतियां इस प्राचीन विधा के महत्व को दर्शित करती हैं। उन्होंने कहा कि योग जीवन में नकारात्मकता को दूर कर सकारात्मकता का संचार करता है।
प्रशिक्षक मनोज पाणीग्राही, तरुण राठी, अर्जुन भारती, संतोष कुमार सिंह, संध्या जोग ने योगाभ्यास का प्रारंभ शिथिलीकरण का अभ्यास के अंतर्गत ग्रीवा चालन, कटि चालन, घुटना संचालन के साथ किया। खड़े होकर किए जाने वाले आसनों के अंतर्गत तड़ासन , वृक्षासन, पादहस्तासन, अर्ध चक्रासन, त्रिकोणासन किया गया। बैठ के किए जाने वाले आसनों में भद्रासन, अर्ध उष्ट्रासन,शशंकासन, वक्रासन कराया गया। उदर के बल लेटकर किए जाने वाले आसनों के अंतर्गत भुजंगासान, शलभासन, मकरासन किया गया। पीठ के बल लेटकर किए जाने वाले आसनों के अंतर्गत सेतुबंधासन, पवनमुक्तासन किया गया। इसके अलावा कपालभाति, प्राणायाम के अंतर्गत अनुलोम विलोम, भ्रामरी किया गया।

Source: 
visionnewsservice.in

Related News