जागरूकता लाने स्कूलों में शिविर

धरमजयगढ़ के कन्या शाला उमावि और उर्सुलाइन उमावि में पॉक्सो एक्ट के प्रति जागरूकता लाने नेहा वर्मा एसडीओपी और थाना स्टाफ की ओर से शिविर लगाया गया। नेहा वर्मा ने पॉक्सो एक्ट के संबंध में विस्तार से जानकारी दी। बच्चों के साथ यौन अपराधों की खबरें समाज को शर्मसार करती नजर आती है। इस तरह के मामलों की बढ़ती संख्या को देखकर सरकार ने वर्ष 2012 में एक विशेष कानून बनाया है, जो बच्चों को छेडख़ानी, दुराचार जैसे मामलों से सुरक्षा प्रदान करता है, उस कानून का नाम पाक्सो एक्ट यानी लैंगिक उत्पीडऩ से बच्चों के संरक्षण का अधिनियम इस एक्ट के तहत नाबालिक बच्चों के साथ होने वाले यौन अपराध और छेड़छाड़ के मामलों में कार्रवाई की जाती है। यह एक्ट बच्चों को सेक्सुअल हरासमेंट, सेक्सुअल असाल्ट और पोर्नोग्राफी जैसे गंभीर अपराधों से सुरक्षा प्रदान करता है। बनाए गए इस कानून के तहत अलग अलग अपराध के लिए अलग अलग सजा तय की गई है यहीं नहीं इसका कड़ाई से पालन करने का भी सख्त निर्देश दिया गया है।

Source: 
Vision News Service

Related News