जिले में 129 सौर ऊर्जा संयंत्र स्थापित

 जिले में 129 सौर ऊर्जा संयंत्र स्थापित

ऊर्जा के गैर परम्परागत स्त्रोतों के उपयोग को बढ़ावा देने तथा ऊर्जा संरक्षण के उद्देश्य से जिला जांजगीर-चांपा के विभिन्न स्थलों पर 129 नग ऊर्जा संयत्रों की स्थापना की गई है। इनमें से 116 सिस्टम कार्यशील है और शेष 13 अकार्यशील संयंत्रों को स्पेयर इन्वर्टर तथा बैटरियों के माध्यम से कार्यशील किया गया है। यह जानकारी छत्तीसगढ़ राज्य अक्षय ऊर्जा विकास अभिकरण (क्रेडा) प्रधान कार्यालय रायपुर के मुख्य अभियंता संजीव जैन ने विज्ञप्ति के माध्यम से दी है।
प्रमुख अभियंता जैन ने बताया है कि जांजगीर-चांपा जिले में सौर ऊर्जा संयंत्रों की ओर से 2 ग्रामों, 75 आश्रम, छात्रावासों 9 सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों, 30 उपस्वास्थ्य केन्द्रों तथा 13 अन्य स्थलों पर नि:शुल्क विद्युत सुविधा उपलब्ध कराई जा रही है। उन्होंने बताया कि इन सभी सौर ऊर्जा संयंत्रों से प्रतिमाह 16000 यूनिट बिजली की बचत हो रही है। स्वास्थ्य केन्द्रों में स्थापित सौर ऊर्जा संयंत्रों से 24 घंटे विद्युत सुविधा उपलब्ध होने के कारण डिलीवरी के प्रकरणों में काफी वृद्धि हुई है। मरीजों को भी सुविधा हो रही है। सघन वन क्षेत्रों के आश्रम, छात्रावासों में जहां बिजली उपलब्ध नहीं है, वहां संयत्र की स्थापना से रात में छात्र-छात्राओं को अध्ययन में सुविधा मिल रही है। सभी स्थापित सौर ऊर्जा संयंत्रों के मरम्मत और रख-रखाव का कार्य क्रेडा की ओर से नियमित रूप से क्लस्टर तकनीशियन के माध्यम से किया जा रहा है।
जिला अस्पताल व जिपं में 50 किलोवाट का सिस्टम
राज्य शासन की ओर से सोलर सिस्टम को बढ़ावा देने के लिए प्रारंभिक रूप से जिला अस्पताल व जिला पंचायत में 50 किलो वाट का सोलर सिस्टम लगाया गया हैं। शीघ्र ही इसके बाद जिला जेल, कलेक्टोरेट सहित जिले में संचालित विभिन्न सीएचसी में सोलर सिस्टम लगाए जाने की योजना है।
सौर सुजला के तहत 710 लक्ष्य के विरूद्ध 323 आवेदन
जिले में व्यापक प्रचार-प्रसार के अभाव में किसानों को सोलर सिंचाई पंप की सुविधा नहीं मिल पा रही है। साल भर में गिनती के हितग्राहियों को सोलर सिंचाई पंप की सुविधा मिल सकी है। क्रेडा की ओर से किसानों को सोलर सिंचाई पंप के लिए 3 लाख 60 हजार रुपए अनुदान दिया जाता है, बावजूद इसके किसान सोलर पंप की खरीदी के मामले में गंभीर नहीं हैं। इस पंप में बिजली की आश्यकता नहीं होगी और किसान 5 व 3 एचपी के पंप से खेतों की सिंचाई बिना बिजली के कर सकेंगे। इससे किसानों की आर्थिक स्थिति सुधरेगी। इस वर्ष जिले में सौर सुजला योजना के तहत 710 हितग्राहियों को योजना के तहत सोलर सिस्टम उपलब्ध कराया जा रहा है। हालांकि इनमें से अब तक 323 हितग्राहियों ने योजना के तहत आवेदन किया है, मगर इनमें से अब तक 129 हितग्राहियों को सोलर सिस्टम का उपलब्ध कराया गया है।

Source: 
Vision News Service

Related News