ठेका मजदूरों को नाइट एलाउंस दिलाने यूनियन हुई सक्रिय

स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया के सभी इकाइयों में नाइट शिफ्ट ड्यूटी करने वाले ठेका मजदूरों को भत्ते की वकालत बीएसपी से राउरकेला तक की जा रही है। राउरकेला स्टील प्लांट से कर्मचारियों का प्रतिनिधिमंडल भिलाई पहुंचा है। यहां कर्मचारियों के साथ वार्ता हुई। एक-एक बिन्दुओं पर चर्चा के बाद ठेका श्रमिकों को नाइट अलाउंस की मांग की गई है।
दोनों संयंत्रों की सोशल परफार्मेंस टीम ने संयुक्त रूप से मुहिम चलाकर इसको लागू कराने की सहमति बना ली है। ठेका श्रमिकों को भी रात्रि भत्ता दिलाने के लिए प्रबंधन से वार्ता करके अमल कराना है। प्रतिनिधि मंडल के सदस्यों ने कहा कि, आउट सोर्सिंग की वजह से अकुशल श्रमिकों की संख्या में बढ़ोतरी से काम का बोझ स्थायी कर्मियों पर बढ़ रहा है। इस पर भी चिंता व्यक्त की गई। इसी तरह राउरकेला इस्पात संयंत्र में संयंत्र में कैंटीन के ठेका श्रमिकों का भी बीमा कराया जाता है। इससे उनके संयंत्र में आवाजाही के समय दुर्घटना होने पर उन्हें राहत दी जाती है। भिलाई में इसी तर्ज पर बीमा की संभावनाएं तलाशने की कोशिश की जाएगी।
हिदुस्तान स्टील एम्प्लाइज यूनियन सीटू के कार्यकारी अध्यक्ष पूरन वर्मा ने कहा कि, सामाजिक उत्तरदायित्व मानक के परिपालन के लिए सोशल परफारर्मेंस टीम का गठन किया जाता है। राउरकेला इस्पात संयंत्र की सोशल परफार्मेंस टीम भिलाई इस्पात संयंत्र के दौरे पर गुरुवार को पहुंची। टीम के सदस्यों ने भिलाई इस्पात संयंत्र के एसपीटी सदस्यों से मुलाकात की। दोनों संयंत्रों की मौजूदा हालात और बेहतरी के प्रयासों पर गंभीर चर्चा की गई।
उन्होंने कहा कि, सामजिक उत्तरदायित्व मानक को भिलाई इस्पात संयंत्र ने स्वीकार किया है। इसी मानक का नया रूप दिया गया, जिसे संयंत्र प्रबंधन ने स्वीकार किया है। इसमें प्रबंधन और कर्मचारियों की सामान भागीदारी से सामाजिक उत्तरदायित्वों के मानकों का परिपालन किया जाएगा। इसी उद्देश्य को ध्यान में रखकर सोशल परफॉर्मेंस टीम गठित की गई है। इस दौरान बीएसपी सोशल परफार्मेंस टीम सदस्य सीटू कार्यकारी अध्यक्ष पूरन वर्मा, हेमंत जगम आदि मौजूद थे।

Source: 
Vision News Service

Related News