तालाब सौंदर्यीकरण से प्रभावित लोगों ने माँगी पुर्नवास राहत

स्थानीय नगर पालिका अंतर्गत वार्ड क्रं. 3 कंवरपारा में रामबांधा तालाब के किनारे रहने वालों ने तालाब सौंदर्यीकरण के नाम पर पालिका की ओर से बेदखल किए जाने का विरोध में कहा कि उन्हें पुर्नवास की व्यवस्था प्रशासन पहले मुहैया कराए फिर बेदखली की कार्रवाई करें। लोगों का कहना है कि बढ़ती ठण्ड में परिवार की छत उजड़ जाने से उन्हें भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है। इसी बात को लेकर प्रभावित लोग स्थानीय विधायक मोतीलाल देवांगन के निवास पहुंचे थे। विदित हो कि चांपा स्थित रामबांधा तालाब के सौदर्यीकरण का काम शुरू किया जा रहा है, जिसके लिए तालाब का पानी खाली कराने की प्रक्रिया जारी है।
लोगों ने पालिका की ओर से उन्हें रामबांधा तालाब के सौंदर्यीकरण के लिए तालाब के पार पर किया गया अतिक्रमण 15 दिवस के भीतर हटाने का नोटिस दिए जाने पर विरोध जताते हुए विधायक को बताया कि तालाब पार की जमीन पर वें 30 वर्षों से भी अधिक समय से काबिज है, जिनका उन्हें पूर्व में पट्टा भी प्रदान किया गया है। इसके अलावा वे पालिका में काबिज भूमि का संपत्ति कर भी जमा करते है। इसके बावजूद उन्हें शासकीय प्रयोजन के लिए तालाब पार की जमीन की आवश्यकता होने पर पट्टाधारी होते हुए भी अतिक्रमणकारी मानकर नोटिस थमा दिया गया है। विधायक देवांगन से मिलने आए लोगों में जीवन लाल देवांगन, एकादशिया देवांगन, ललिता देवांगन, क्रांति देवांगन, निशा देवांगन, हेमलता देवांगन, दूजबाई पटेल, नारायण प्रसाद देवांगन आदि शामिल थे।

Source: 
Vision News Service

Related News