दिवाली पर बाजारों में रहेंगे तैनात 150 जवान

दीपावली और धनतेरस पर शहरवासियों को जाम से निजात मिलेगी। जनता आसानी से बाजार में खरीदारी कर सकेगी। इसके लिए यातायात विभाग डेढ़ सौ से ज्यादा जवानों को तैनात करेगा। शहर के बाजारों में 14 से 19 अक्टूबर तक जवान तैनात हो जाएंगे। हेल्पलाइन नंबर पर 24 घंटे जाम की समस्या पर शिकायत दर्ज कराई जा सकती है।
00 कैसी रहेगी यातायात व्यवस्था :
यातायात डीएसपी सतीश ठाकुर ने बताया कि इंदिरा मार्केट दुर्ग, आकाश गंगा सुपेला, सूर्या मॉल जुनवानी, जवाहर मार्केट पावरहाउस, सिविक सेंटर और सेक्टर 6 ए मार्केट में दर्जनभर पेट्रोलिंग पार्टी यातायात की व्यवस्था को बनाए रखने के लिए घूमेगी। साथ ही दुर्ग इंदिरा मार्केट में तीन जगह पर पार्किंग बनाई जाएगी। यातायात विभाग जिला अस्पताल के पीछे, इंदिरा मार्केट और सीएसपी कार्यालय में पार्किंग की व्यवस्था की जाएगी। धनतेरस और दीपावली के दिन दुर्ग सीएसपी कार्यालय से फरिश्ता कॉम्पलेक्स तक वन-वे ट्रैफिक कर सिर्फ मोटरसाइकिल चालकों के लिए ही खोला जाएगा। इंदिरा मार्केट में कार प्रतिबंध रहेगी।
00 नो पार्किंग जोन में कड़ी की गाडी तो खैर नहीं :
यातायात विभाग धनतेरस और दीपावली के दिन नो पार्किंग इलाके में गाड़ी खड़ी करने वालों से सख्ती से निपटेगा। इसके लिए दो क्रेन चलाई जाएगी। नो पार्किंग जोन में खड़े वाहनों को जब्त किया जाएगा। यात्रियों की सुविधा के लिए हेल्प लाइन नंबर 1095 और 9479192029 जारी किया गया है। जनता इन दोनों नंबरो पर फोन कर यातायात संबंधी सूचना दे सकती है। सूचना पर पांच मिनट में जवान मौके पर पहुंच जाएंगे। यातायात के अधिकारी ने शहरवासियों से अपील की है कि वह धनतेरस और दीपावली के दिन बाजार में आने वाले लोग कार का इस्तेमाल न कर मोटरसाइकिल इस्तेमाल करें। इससे जाम में नागरिक नहीं फंसेगी और यातायात में भी परेशानी नहीं आएगी।
यातायात अधिकारी ने बताया कि धमधा से होकर दुर्ग राजेन्द्र चौक आने वाले भारी वाहन को शहर में प्रवेश नहीं दिया जाएगा। भारी वाहन रात दस बजे के बाद ही प्रवेश कर सकेंगे। भारी वाहन का प्रवेश वर्जित होने से पचास प्रतिशत जाम खुद कम हो जाएगा।
यातायात डीएसपी सतीश सिंह ठाकुर ने बताया कि यातायात पुलिस डेढ़ सौ से ज्यादा जवान तैनात कर रही है, यातायात व्यवस्था को सुचारू रूप से बनाए रखने के लिए दो कंट्रोल रूम बनाया गया है। जिससे जनता को किसी प्रकार की दिक्कत न हो ।

Source: 
Vision News Service

Related News