देश के विकास में खिलाड़ी दें अपना योगदान : कश्यप

देश के विकास में खिलाड़ी दें अपना योगदान : कश्यप

स्कूल शिक्षा, मंत्री केदार कश्यप रविवार को रायगढ़ स्टेडियम में आयोजित 63 वीं राष्ट्रीय शालेय क्रीड़ा प्रतियोगिता के समापन समारोह में शामिल हुए। उन्होंने रायगढ़ के खिलाडिय़ों की मांग पर रायगढ़ जोन की स्वीकृति प्रदान की। उन्होंने कहा कि रायगढ़ जिले को खेल जोन के रूप में विकसित किया जाएगा। बच्चों का मार्चपास्ट देखकर खुशी हुई। आपसी तालमेल और समन्वय शिक्षा के क्षेत्र में ही नहीं अन्य क्षेत्रों में भी महत्वपूर्ण है। बच्चों में प्रतिभा की कमी नहीं है वे आईआईटी और मेडिकल प्रवेश परीक्षाओं में चयनित हो रहे है। उन्होंने कहा कि खिलाडिय़ों ने इस खेल प्रतियोगिता में अपनी खेल प्रतिभा से सबका मन मोहा है। उन्होंने जीतने और हारने वाली दोनों टीमों को बधाई दी।
00 खेल में मिली असफलता अंतिम नहीं :
उन्होंने कहा कि खेल में मिली असफलता अंतिम नहीं है। इससे सबक लेेते हुए और उत्कृष्ट प्रदर्शन करने का जज्बा होना चाहिए। आगे भी खेलने के कई अवसर मिलेंगे, जहां अपनी प्रतिभा का पूर्ण प्रदर्शन कर सफलता हासिल कर सकते है। खेल से ऊर्जा और सकारात्मकता परिलक्षित होती है। युवा खिलाड़ी अपनी शक्ति और ऊर्जा से देश के विकास में अपना योगदान दें। इस अवसर पर संसदीय सचिव व लैलूंगा विधायक सुनीति राठिया के अलावा जिले की कलेक्टर शम्मी आबिदी सहित शिक्षा अधिकारी और देश के राज्यों से आए खेल अधिकारी भी उपस्थित थे।
00 38 हजार बच्चे होंगे सम्मानित :
स्कूल शिक्षा मंत्री ने रायगढ़ में तेजस्विनी कोचिंग के जरिए 100 चयनित बच्चों को पीएमटी और आईआईटी के लिए दी जा रही कोचिंग और किए जा रहे प्रयासों की सराहना की। उन्होंने कहा कि नया रायपुर में शहीद वीर नारायण सिंह स्टेडियम होने से छत्तीसगढ़ में अंतरराष्ट्रीय खेल आयोजनों का होना गौरव की बात है। शासन खेल को बढ़ावा देने की दिशा में हरसंभव प्रयास कर रही है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में खेल में केवल 7 जोन होते थे जिसमें 18 हजार बच्चे भाग लेते थे, जिसे बढ़ाकर अब 12 जोन कर दिया गया है। जिसमें 38 हजार बच्चे राज्य स्तरीय खेल प्रतियोगिता में शामिल हो रहे है। उन्होंने कहा कि नवीन खेल बच्चे रूचि के साथ खेलते है, लेकिन इसके साथ ही प्राचीन और परम्परागत खेलों पर विशेष ध्यान देते हुए बढ़ावा देने की जरूरत है।
संसदीय सचिव सुनीति सत्यानंद राठिया ने कहा कि राष्ट्रीय खेल प्रतियोगिता में बच्चों ने खेल भावना से खेलकर विजय हासिल की है। हर सिक्के के दो पहलू होते है हार और जीत। उन्होंने जीतने और हारने वाले टीम को अच्छे खेल प्रदर्शन के लिए शुभकामनाएं दी। उन्होंने कहा कि यहां जो सीख और सुविधाएं मिली है उनकी अच्छी यादें लेकर जाएं। विधायक रोशन लाल अग्रवाल ने कहा कि रायगढ़ को इस प्रतियोगिता के मेजबानी का अवसर मिला यह गौरव की बात है। उन्होंने व्यवस्था के लिए सभी संबंधितों को धन्यवाद दिया।
00 रायगढ़ जिले के लिए यह एक गौरवशाली अवसर : कलेक्टर
कलेक्टर शम्मी आबिदी ने कहा कि रायगढ़ जिले के लिए यह एक गौरवशाली अवसर रहा कि इस राष्ट्रीय खेल प्रतियोगिता के आयोजन का सौभाग्य प्राप्त हुआ। उन्होंने कहा कि 8 नवंबर से लेकर 5 दिन तक सभी प्रतियोगिताएं खेल भावना के साथ हुई। उन्होंने कहा कि सभी मेहमान खिलाड़ी और उनके कोच रायगढ़ से अच्छी और मीठी यादें लेकर जाएंगे। उन्होंने प्रतियोगिता में विजयी सभी खिलाडिय़ों को शुभकामनाएं दी और कहा कि भविष्य में और ऊंचाइयां हासिल करें और देश का नाम रौशन करें। छत्तीसगढ़ ने इन खेलों में 8 स्वर्ण पदक आयोजित कर सबको गौरवान्वित किया है। उन्होंने सभी शासकीय विभागों और स्कूल प्रबंधन, धर्मशाला संचालकों को व्यवस्था प्रदान करने के लिए धन्यवाद ज्ञापित किया।

Source: 
Vision News Service

Related News