नचनिया स्कूल में जल्द होगी शिक्षकों की व्यवस्था

 नचनिया स्कूल में जल्द होगी शिक्षकों की व्यवस्था

छुईखदान विकासखंड के हायर सेकेण्डरी स्कूल नचनिया में शिक्षकों की कमी की समस्या का शीघ्र निराकरण किया जाएगा। कलेक्टर भीम सिंह ने सोमवार को छुईखदान के जनपद उपाध्यक्ष खम्हन ताम्रकार के की ओर से ई-जनदर्शन के माध्यम से हायर सेकेण्डरी स्कूल नचनिया में शिक्षकों की कमी दूर करने की मांग पर जिला शिक्षा अधिकारी एसके भरतद्वाज को एक सप्ताह के भीतर शिक्षकों की व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं। जनपद उपाध्यक्ष खम्हन ताम्रकार ने जनपद पंचायत कार्यालय छुईखदान से ई-जनदर्शन के माध्यम से शासकीय हायर सेकेण्डरी स्कूल नचनिया में गणित, अंग्रेजी और अन्य विषयों की शिक्षकों की कमी होने की जानकारी दी।
00 ई-जनदर्शन का अधिक से अधिक प्रचार-प्रसार करने के निर्देश :
कलेक्टर ने ताम्रकार को आश्वस्त किया कि एक सप्ताह के भीतर विद्यामितान शिक्षकों की नियुक्ति कर स्कूल में गणित और अंग्रेजी विषय के शिक्षकों की कमी को दूर किया जाएगा। इसके साथ ही उन्होंने एक माह के भीतर विद्यालय में और भी शिक्षकों की पदस्थापना करने का आश्वासन भी दिया। कलेक्टर भीम सिंह ने ई-जनदर्शन के माध्यम से जिला प्रशासन की ओर से जिले के दूर दराज के इलाकों के लोगों को अपनी समस्या को लेकर जिला कार्यालय तक आने की समस्या से मुक्ति प्रदान करने के लिए शुरू की गई ई-जनदर्शन का अधिक से अधिक प्रचार-प्रसार करने के निर्देश भी दिए हैं। कलेक्टर ने कहा कि जिले के दूरदराज के लोगों को अपनी समस्याओं को बताने के लिए जिला कार्यालय में आने की आवश्यकता नहीं है। जिले के आम नागरिक जनपद पंचायत कार्यालयों में प्रत्येक सोमवार को प्रात: 11 बजे से 12 बजे तक वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से उन्हें अपनी मांगों और समस्याओं की जानकारी दे सकते हैं। कलेक्टर ने कहा कि जिले के सभी राजस्व अनुविभागीय अधिकारियों, तहसीलदार और जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों सहित अन्य विभाग के अधिकारियों को ई-जनदर्शन के संबंध में उचित प्रचार-प्रसार कर जनपद पंचायत कार्यालयों के विडियो काफ्रेंसिंग कक्ष में आवेदकों की समुचित उपस्थिति सुनिश्चित कराने के निर्देश दिए हैं।
00 दिव्यांगों के लिए तत्काल एक लाख का ऋण मंजूर :
जनपद पंचायत कार्यालय छुरिया के वीडियो कांफ्रेंसिंग कक्ष से 2 सगे दिव्यांग भाइयों ने दोनों भाईयों के दिव्यांगताग्रस्त होने के कारण घर की माली हालत अत्यंत खराब होने और उनके सामने जीविकोपार्जन करने के लिए समस्या उपस्थित होने की जानकारी दी। इस पर कलेक्टर ने कार्यपालन अधिकारी अंत्यावसायी सहकारी विकास समिति को उनके व्यवसाय के लिए तत्काल एक लाख रुपए ऋण स्वीकृत करने के निर्देश दिए।

Source: 
Vision News Service

Related News