नहीं होंगे छात्र संघ चुनाव, मनोनयन से होगा गठन

su.jpg

छत्तीसगढ़ में इस साल छात्रसंघ चुनाव नहीं होंगे। राज्य सरकार ने अधिसूचना जारी कर मनोनयन के जरिए छात्रसंघ गठन किए जाने का निर्देश जारी किया है। सरकार ने लिंगदोह कमेटी की रिपोर्ट को आधार बनाते हुए इस साल चुनाव पर रोक लगाते हुए प्रदेश के सभी विश्वविद्यालयों के कुलपति को आदेश दिया है। आदेश के विरोध में एनएसयूआई प्रदर्शन करने जा रही है।

छात्रसंघ चुनाव को लेकर प्रदेश के छात्र संगठन सरकार से लगातार मांग कर रहे थे। कई बार इस मामले को लेकर संगठनों ने विरोध-प्रदर्शन किया। गौरतलब है कि कल ही एनएसयूआई ने ज़ोरदार प्रदर्शन करते हुए मुख्यमंत्री निवास का घेराव किया था।

जिसके बाद ही माना जा रहा है की आनन-फानन में उच्श शिक्षा विभाग ने मनोनयन के ज़रिये चुनाव करवाए जाने का आदेश सभी विश्वविद्यालयों को भेजा। जिसके विरोध में आज करीब 12:30 बजे एनएसयूआई यूनिवर्सिटी का घेराव करने की बात कही है।

इस मामले में एनएसयूआई के प्रदेशाध्यक्ष आकाश शर्मा ने लल्लूराम डॉट कॉम से बात करते हुए इसे छात्र राजनीति की लोकतांत्रिक हत्या करार दिया है। उसने कहा कि छात्र ही अपने नेता का चुनाव मत देकर करते थे लेकिन राज्य सरकार ने उनसे उनका यह अधिकार छीन लिया है।

Related News