नोट बंदी का असर धान खरीदी पर नहीं होगा : दयाल दास बघेल

Dayal das baghel

राज्य की सहकारी समितियों में आज 15 नवम्बर से शुरू धान खरीदी के दौरान किसानों को भुगतान उसी दिन कर दिया जाएगा। प्रतिदिन खरीदे गए धान की राशि का भुगतान शाम तक किसानों के खाते में कर दिया जाएगा। केन्द्र सरकार द्वारा देश में 500 और 1000 रूपए के पुराने नोटों का प्रचलन बंद करने के निर्णय का छत्तीसगढ़ की सहकारी समितियों में धान खरीदी पर कोई असर नहीं होगा। उक्त बातें सहकारिता मंत्री दयाल दास बघेल ने कही।
श्री बघेल ने आज नया रायपुर के होटल प्रबंध संस्थान के `हमर छत्तीसगढ़Ó परिसर में 63वें अखिल भारतीय सहकारी सप्ताह का शुभारंभ करते हुए यह जानकारी दी। उन्होंने कार्यक्रम में बस्तर संभाग से आए सहकारी समितियों के प्रतिनिधियों और पदाधिकारियों से कहा कि धान खरीदी कार्यों के सुचारू संचालन की जिम्मेदारी सहकारिता विभाग की है। विभाग यह सुनिश्चित कर रहा है कि उपार्जन केन्द्रों में प्रतिदिन किसानों का धान शाम तक खरीद लिया जाए और उसकी राशि उनके खातों में उसी दिन जमा हो जाए और किसान जरूरत पडऩे पर अपने खाते से राशि निकाल सकें। इससे नोट बंदी का कोई प्रभाव किसानों पर नहीं पड़ेगा। राज्य सरकार पिछले वर्ष के सूखा पीडि़त किसानों को राहत राशि का वितरण कर रही है, जिसका लाभ जरूरतमंद किसानों को मिले, यह देखना भी सहकारी समितियों के प्रतिनिधियों की जिम्मेदारी है।
दयालदास बघेल ने कहा कि छत्तीसगढ़ सरकार सहकारीता समितियों के सदस्य किसानों को खेती के लिए ब्याज मुक्त ऋण दे रही है। खेती के साथ-साथ किसान कृषि आधारित कोई छोटा व्यवसाय भी करें। खाद और बीज मार्च-अपै्रल में उठा लिए जाएं तो जरूरत पडऩे पर वह साल में कभी भी उसका उपयोग कर सकते हैं। सहकारिता मंत्री ने बताया कि डेयरी व्यवसाय के लिए बारह लाख रूपए का ऋण लेने पर छह लाख रूपए का अनुदान मिलता है। किसानों को इसका भी लाभ लेना चाहिए। श्री बघेल ने कहा कि राज्य में संचालित तीन सहकारी शक्कर कारखानों में उत्पादित शक्कर का वितरण उस क्षेत्र के ग्रामीणों को 28 रूपए 50 पैसे प्रति किलो की दर से किया जा रहा है।
श्री बघेल ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में प्राथमिक कृषि साख सहकारी समितियों और आदिम जाति सेवा सहकारी समितियों (लैम्प्स) के प्रतिनिधियों को राज्य सहकारी संघ द्वारा संचालित प्रशिक्षण कार्यक्रमों में अधिक से अधिक संख्या में शामिल होना चाहिए, ताकि उन्हें नियम प्रक्रियाओं सहित योजनाओं की भी पर्याप्त जानकारी मिले। इससे उनका ज्ञानवर्धन होगा और सहकारी समितियों के सुचारू संचालन में सहुलियत होगी। श्री बघेल ने उनसे यह भी आग्रह किया कि वे हमर छत्तीसगढ़ परिसर में आयोजित प्रदर्शनी को ध्यान से देखें और अधिकारियों से योजनाओं के बारे में भी जानकारी प्राप्त करें। छत्तीसगढ़ राज्य सहकारी (अपेक्स बैंक) के अध्यक्ष अशोक बजाज ने समारोह को संबोधित करते हुए बताया कि अगले साल राज्य के लगभग 14 लाख 50 हजार किसानों को ए.टी.एम. कार्ड दिए जाएंगे, ताकि वे देश में कही भी आसानी से अपना पैसा निकाल सकें।
छत्तीसगढ़ राज्य सहकारी संघ के प्राधिकारी लखन लाल साहू ने स्वागत भाषण दिया। छत्तीसगढ़ राज्य सहकारी विपणन संघ (मार्कफेड) के अध्यक्ष राधाकृष्ण गुप्ता, राज्य सहकारी संघ के प्रबंध संचालक युगल किशोर, जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक राजनांदगांव के पूर्व अध्यक्ष शशिकांत द्विवेदी सहित कई वक्ताओं ने समारोह को संबोधित किया। इस अवसर पर रायपुर जिला सहकारी संघ के अध्यक्ष जितेन्द्र धुरंधर, सहकारिता विभाग के सचिव डी.डी. सिंह, राज्य सहकारी संघ के मुख्य कार्यपालन अधिकारी व्ही.के. शुक्ला और अन्य अनेक अधिकारी तथा बड़ी संख्या में सहकारिता प्रतिनिधि उपस्थित थे।

Source: 
visionnewsservice.in

Related News