प्रसव वेदना से पीड़ित गर्भवती महिला का उप स्वास्थ्य केंद्र के दहलीज पर हुआ प्रसव, उप स्वास्थ्य केंद्र में जड़ा रहा ताल, स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही उजागर

प्रसव वेदना से पीड़ित गर्भवती महिला का उप स्वास्थ्य केंद्र के दहलीज पर हुआ प्रसव, उप स्वास्थ्य केंद्र में जड़ा रहा ताल, स्वास्थ्

नगर पंचायत क्षेत्र कूँरा के उपस्वास्थ्य केंद्र में लापरवाही का मामला सामने आया है.प्रसव वेदान से व्याकुल महिला स्वास्थ्य केंद्र के बाहर कई घंटों तक जड़ा ताला खुलने का इंतजार करती रही. मगर लापरवाह स्वास्थ्य केंद्र के कर्मचारियों के द्वारा अनसुना कर दिया गया. प्रशव वेदना से तड़प रही गर्भवती महिला की सहयोगी महिलाओं के द्वारा उप स्वास्थ्य केंद्र के बाहर ही साड़ी का घेरा बना कर प्रसव कराया. स्वास्थ्य विभाग की अनदेखी के कारण ग्रामीण क्षेत्र में बने उप स्वास्थ्य केंद्रों में मौजूद कर्मचारियों की अनिमियतता के कारण लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. वहीं शासन, प्रशासन के द्वारा नागरिकों दी जाने वाली स्वास्थ्य सुविधाओं के ललायित होना पड़ा रहा है.

गौर जिम्मेदाराना काम करने वाले कर्मचारियों के खिलाफ स्वास्थ्य विभाग के आला अधिकारियों को सख्त कार्रवाई करनी चाहिए. क्षेत्र के समाजित कार्यकर्ता प्रदीप शर्मा ने बताया कि उक्त घटना रविवार में 10 से 11 के बीच की है, जहां कई घंटों का इंतजार करने के बाद उप स्वास्थ्य केंद्र में कार्यरत कर्मचारी नदारद रहे. कूँरा नगर पंचायत के वार्ड क्रमांक 12 निवासी द्रोपती साहू पिता ओम प्रकाश साहू जो कि प्रशव के समय देखभाल के लिए अपने मायके में रह रही थी.

गांव की मितानिन माया निर्मलकर के साथ प्रशव पीड़ा होने पर उपस्वास्थ्य केंद्र पहुंची. लेकिन उपस्वास्थ्य केंद्र में ताला लगा हुआ था. तभी पीड़िता को प्रसव पीड़ा बढ़ने लगी ऐंसे में तुरन्त दो महिलाओं ने साड़ी की व्यवस्था कर उसका घेरा बनाया. और उपस्वास्थ्य केंद्र के सामने ही इस तरह खुले में उक्त महिला की डिलिवरी कराई. हालांकि डिलेवरी के बाद जच्चा और बच्चा दोनों की हालत स्वास्थ रही.

इस सम्बंध में बीएमओ डॉ लकड़ा मैडम से बात की तो उन्होंने बताया कि इस घटना की उन्हें कोई जानकारी नहीं है. उन्होंने कहा कि उपस्वास्थ्य केंद्र में एनएम कल्याणी डे पदस्थ है. और वह छह दिन तो नियमित रूप से रहती है.रविवार को यदि कहीं कोई जरूरी काम हो तब वह घण्टे आधे घण्टे के लिए अपने काम से जाती है. उन्होंने कहा कि कूँरा में सबसे अधिक डिलेवरी होती है लेकिन आज ऐसी घटना कैसे हुई वह इस बारे में पता लगाएंगी. और जांच के बाद लापरवाही बरतने वाले के खिलाफ उचित कार्रवाई की जाएगी.

Source: 
lalluram.com

Related News