बेटे ने पिता के हत्या की तारीख 8 नंवबर 2017 याद रखा, और 8 नंवबर 2018 को आरोपी को दी मौत की सजा, पढ़िए पूरी रिपोर्ट

बेटे ने पिता के हत्या की तारीख 8 नंवबर 2017 याद रखा, और 8 नंवबर 2018 को आरोपी को दी मौत की सजा, पढ़िए पूरी रिपोर्ट

यहां से एक ऐसा वाक्या सामने आया है जिसे जानकर आप ही हैरान रह जाएंगे. दरअसल एक बेटे ने पिता की हत्या का बदला लेने के लिए एक-दो नहीं बल्कि पूरे 12 महिना तक इंतजार किया. दुश्मनी के बीज तो पहले ही पड़ चुके थे बस इंतजार था सही वक्त का. सही वक्त भी पूरे एक साल बाद मिला और आरोपी ने अपने पिता के हत्यारे को मौत के घाट उतारकर खुद ही अपने आप को पुलिस थाने में आत्मसमर्पण कर दिया.

दरअसल ये मामला शहर के बरटोली मुहल्ले का है. (आरोपी) बेटा निशांत नायक उर्फ मोटू ने अपने पिता की हत्या का बदला उसी तारीख को लिया है जिस तारीख पर आज उसने पिता के हत्यारे (मृतक) राहुल रजक को मौत के घाट उतारा है. वो दिन है पहले 8 नंवबर 2017 था औऱ अब 8 नंवबर 2018 हो गया है.

पूरे एक साल के बाद उसी तारीख को धारदार हथियार से हत्या कर पिता के हत्यारे को मौत की नींद सुला दी. इस घटना को उस वक्त अंजाम दिया जब राहुल रजक बकरी चराने जंगल की ओर गया हुआ था. उसका पीछा करते हुए सुनसान जगह पर निशांत गला काटकर हत्या कर दी. घटना के बाद से इलाके में सनसनी का माहौल है.

ग्रामीणों से मिली जानकारी के अनुसार एक साल पहले निशांत नायक के पिता शराब पीने राहुल के घर गए थे, जहां विवाद होने लगा और निशांत के पिता के द्वारा गाली-गलौच करने से नाराज होकर राहुल रजक ने कुल्हाड़ी से हमला कर हत्या कर दी. जिसको लेकर निशांत नायक अपने पिता की हत्या का बदला लेने की ताक में रहने लगा.

जेल से निकलने के बाद आज 8 नवम्बर को नहर किनारे बकरी चरा रहे राहुल रजक की धारदार हथियार से सर काटकर हत्या कर दी. कोतवाली पुलिस की टीम मौके पर पहुंच कर जाँच में जुट गई है. वहीं आरोपी युवक पुलिस थाने में आत्मसमर्पण कर दिया है, लेकिन पुलिस सुरक्षा कारणों को लेकर आरोपी को सामने नहीं ला रही है.

Source: 
lalluram.com

Related News