भगवान धन्वंतरि जयंती पर आयुर्वेद डॉक्टर ने की देहदान की घोषणा

भगवान धन्वंतरि जयंती पर आयुर्वेद डॉक्टर ने की देहदान की घोषणा

स्थानीय जिला आयुर्वेद कार्यालय में भगवान धन्वंतरि की जयंती आयुर्वेद दिवस के रूप में मनाई गई। भगवान धन्वंतरि पुरस्कार से सम्मानित डॉ. मनोहर टेकचंदानी समारोह के मुख्य अतिथि थे। इस अवसर पर आयुर्वेद से जनस्वास्थ्य विषय पर जिला स्तरीय संगोष्ठी का भी आयोजन किया गया।
समारोह में दामाखेड़ा के आयुर्वेद चिकित्सक डॉ. रविन्द्र नारायण पाण्डेय ने देहदान की घोषणा की। उनके निधन के बाद उनका पार्थिव शरीर शासकीय आयुर्वेद महाविद्यालय रायपुर को सौंपा जाएगा। जिला आयुर्वेद अधिकारी डॉ. हेमंत कौशिक ने उपस्थित सभी लोगों को भगवान धनवंतरि की विधिवत पूजा-अर्चना कराई। आयुर्वेद चिकित्सा विभाग के अधिकारियों और फार्मासिस्टों ने उपस्थित सभी अतिथियों को आत्मीय स्वागत किया। मुख्य अतिथि टेकचंदानी ने आयुर्वेद से जनस्वास्थ्य विषय पर सारगर्भित व्याख्यान दिए। उन्होंने अपने जीवन का अनुभव सुनाते हुए आयुर्वेद के कई गूढ़ तत्वों की जानकारी दी। मुख्य अतिथि का आयुर्वेद परिवार की ओर से शाल, श्रीफल और प्रतीक चिन्ह भेंटकर सम्मान किया गया। बिलासपुर से आए पंचकर्म विशेषज्ञ डॉक्टर मनोज चौकसे ने भी इस अवसर पर अपने विचार व्यक्त किए। कार्यक्रम का संचालन जिला आयुर्वेद अधिकारी डॉ. कौशिक और आभार ज्ञापन डॉ. आरके बंजारे ने किया। इस अवसर पर डॉ. एमएन योगी, डॉ. एलएस ध्रुव, डॉ. ममता मिश्र, डॉ. रजनी ध्रुव ,डॉ. उत्तरा खण्डेल, डॉ. नम्रता सिंघानिया, डॉ. सुरेश मेहता, डॉ. देवेन्द्र भैना सहित बड़ी संख्या में आयुर्वेद चिकित्सक एवं फार्मासिस्ट उपस्थित थे।

Source: 
visionnewsservice.in

Related News