भाजपा नेता के पुत्र सहित दो गिरफ्तार

भाजपा नेता के पुत्र सहित दो गिरफ्तार

वाहन मरम्मत दुकान संचालन की आड़ में डीजल के अवैध कारोबार का पर्दाफाश करते हुए रामानुजगंज पुलिस ने दो लोगों से 450 लीटर डीजल जब्त किया है। आरोपियों द्वारा अवैध तरीके से भंडारित डीजल का कोई वैध दस्तावेज प्रस्तुत नहीं करने पर पुलिस ने आवश्यक वस्तु अधिनियम के तहत कार्रवाई कर रिमांड पर भेज दिया। गिरफ्तार एक आरोपी के पिता अविभाजित सरगुजा के भाजपा किसान मोर्चा के जिलाध्यक्ष रह चुके हैं व कुछ सदस्य अन्य बड़े पद पर हैं। पुलिस की कार्रवाई से अवैध कारोबारियों में खलबली मची है।
पेट्रोलिंग पर निकली पुलिस टीम को सूचना मिली कि बुलगांव मुख्यमार्ग पर दीपक पिता शिवशंकर सिंह (42) वर्ष व अखिलेश पिता कृष्ण प्रसाद कुशवाहा (25) वर्ष बड़ी मात्रा में अवैध रूप से डीजल भंडारित कर रखे है। इस पर पुलिस टीम ने जब बुलगांव में दबिश दी तो पता चला कि दीपक सिंह व अखिलेश कुशवाहा लगभग 50 मीटर की दूरी पर बड़े वाहनों के पहियों का पंचर बनाने के साथ ही हवा भरने की दुकान खोल रखी है। इसकी आड़ में वे डीजल की अवैध खरीद-बिक्री करते हैं। दबिश में बड़ी संख्या में ड्रम मिले, जिनमें अवैध रूप से डीजल संग्रहित कर रखा गया था। थाना प्रभारी निरीक्षक भारद्वाज सिंह ने कहा है कि आरोपी दीपक सिंह व अखिलेश कुशवाहा को नियमानुसार नोटिस जारी कर डीजल संग्रहण के वैध दस्तावेजों की मांग की गई, लेकिन ऐसा कोई दस्तावेज इनके द्वारा प्रस्तुत नहीं किया गया। मामले में दीपक सिंह से 31 हजार 948 रुपए का 400 लीटर और अखिलेश कुशवाहा से 3 हजार 950 रुपए का 50 लीटर डीजल बरामद किया गया। दोनों के खिलाफ आवश्यक वस्तु अधिनियम की धारा 3, 7 के तहत अपराध पंजीबद्ध कर न्यायिक रिमांड पर भेजा गया है। गिरफ्तार आरोपी दीपक सिंह के पिता शिवशंकर सिंह अविभाजित सरगुजा के भाजपा किसान मोर्चा जिलाध्यक्ष रह चुके हैं। परिवार के दूसरे सदस्य वर्तमान में भी भाजपा के महत्वपूर्ण पद पर हैं। प्रशासनिक अधिकारी का कामकाज भी परिवार के सदस्य कर रहे हैं।
अवैध कमाई के चक्कर में चल रहा था धंधा: अंबिकापुर-रामानुजगंज राष्ट्रीय राजमार्ग पर बलरामपुर व रामानुजगंज के बीच रोज सैकड़ों मालवाहक वाहनों का आवागमन होता है। इनमें से कई मालवाहक वाहनों के चालक वाहन का डीजल निकालकर बिक्री कर देते हैं। जिसे आरोपियों की ओर से खरीदा जाता था। जिसे पेट्रोल पंप से बिकने वाले डीजल से कम दर में वाहन मालिकों को बेच दिया जाता था। यह गोरखधंधा लंबे समय से चल रहा था। सत्ताधारी दल से जुड़े होने का फायदा भी इस अवैध कारोबार में संलिप्त एक आरोपी उठा रहा था।
रामानुजगंज थाना प्रभरी भारद्वाज सिंह ने कहा कि सूचना पर बुलगांव में दबिश देकर पंचर व हवा भरने की दुकान चलाने वाले आरोपी दीपक सिंह के कब्जे से 400 लीटर व अखिलेश कुशवाहा के पास से 50 लीटर डीजल बरामद हुआ। दोनों के खिलाफ आवश्यक वस्तु अधिनियम के तहत मामला पंजीबद्ध कर न्यायिक रिमांड पर भेजा गया है।

Source: 
visionnewsservice.in

Related News