मंत्री पाण्डेय की कार्ययोजनाओं से भिलाई में दिख रहा हर जगह विकास

मंत्री पाण्डेय की कार्ययोजनाओं से भिलाई में दिख रहा हर जगह विकास

प्रदेश के उच्चशिक्षा और राजस्व मंत्री प्रेमप्रकाश पाण्डेय की कोशिशों और विकास की सोच का ही नतीजा है कि आज पूरे भिलाई में हर जगह विकास दिखाई दे रहा है। यह विकास चाहे निगम क्षेत्र में हों या टाउनशिप। क्षेत्रवासियों की मांग के अनुसार प्रेमप्रकाश पाण्डेय सुनियोजित कार्ययोजना तैयार राज्य शासन से करोड़ों रुपए स्वीकृत कराकर यहां विकास कार्य कराया। 2013 में चौथी बार विधानसभा का चुनाव जीते पाण्डेय ने जो कुछ इस क्षेत्र को दिया, वह दूसरा कोई नहीं दे पाएगा। वे खुद इस बात को स्वीकारते हैं। ये उन्ही की देन है कि यहां आईआईटी, दुर्ग विवि की स्थापना की। लाल बहादुर शास्त्री हॉस्पिटल को 100 बिस्तर का दर्जा दिलवाने सहित यहां अच्छी उपचार की व्यवस्था का श्रेय भी उन्हीं को है। निगम क्षेत्र में शिवनाथ नदी का पानी पहुंचाने का सराहनीय कार्य, औद्योगिक क्षेत्र छावनी क्षेत्र में पृथक से पेयजल की व्यवस्था किया। यहां के हजारों लोगों केमिकल युक्त पानी पीकर बीमार पड़ते थे, उन्हें शुद्ध पानी नसीब नहीं था। यह पाण्डेय की ही देन है। इसके अलावा उन्होंने 2008 में विधानसभाध्यक्ष के पद पर रहते हुए हुडको के मकानों की रजिस्ट्री , मोतीलाल वोरा के समय से अधूरी पड़ी वृहद पेयजल योजना को उन्होंने भागीरथी पेयजल योजना के नाम से शुरू करवाकर अपने कार्यकाल के दौरान पटरीपार के ज्यादा हिस्सों में शिवनाथ नदी का पानी पहुंचाया। आज क्षेत्र के ज्यादातर तालाब भिलाई की सुंदरता में जो चार चांद लगा रहे हैं वह इन्ही की देन है।
भिलाई विधानसभा के अंतर्गत आने वाले बीएसपी टाउनशिप के सभी वार्डों में उद्यानों का निर्माण पाण्डेय की पहल और सोच का ही नतीजा है। ताकि वार्डवासियों के बैठने और बच्चों के खेलने के लिए एक अच्छा सुंदर स्थान उपलब्ध हो सके। सेक्टर-1 में डिमोनिटाइजेशन पार्क सहित सेक्टर -7 में सुंदर उद्यानों को मॉडल उद्यान के तर्ज पर विकसित किया गया है। बीएसपी टाउनशिप के सभी वार्डों में 2-3 सड़कों के मध्य इसी तरह उद्यान का निर्माण कराया जा रहा है ताकि आसपास के लोग यहां समय बिता सकें। इन गार्डनों को लेकर इस बात का आशंका रही कि इनका संरक्षण कौन करेगा? किन्तु इसका समाधान भी मंत्री पाण्डेय ने ही निकाला और इसका जिम्मा नगर निगम को दिलवाया। टाउनशिप में करीब 40 गार्डन हैं। यहां बिजली आपूर्ति की जिम्मेदारी बीएसपी की है। इसके अलावा 32 बंगला से पावर हाउस तक जाने वाले गैरेज रोड को संवारे जाने की भी योजना है। इसे पॉवर स्ट्रीट के रूप में डेवलप किया जाएगा। यहां एलईडी लाइट लगेंगी। साथ ही आकर्षक लाइट भी लगाई जाएगी। इसकी सभी प्लानिंग कर ली गई है। बीएसपी क्वार्टरों की तारफेल्टिंग भी कराई जा रही है, यह काम जल्द ही पूरा हो जाएगा। अभी तारफेल्टिंग नहीं होने से बारिश के दिनों में सीपेज होता है। लंबे समय से संयंत्र के आवासों के मेंटेनेंस की मांग की जा रही थी।
प्रेमप्रकाश पाण्डेय ने बीएसपी टाउनशिप क्षेत्र में सेक्टर -1 में पावर हाउस रेलवे स्टेशन के सामने 1.45 करोड़ की लागत से ओपन जिम गार्डन स्टेशन के समानांतर ही बनाया जाएगा, जहां चारों ओर हरे- भरे पेड़ लगाए जाएंगे। साथ ही बच्चों के खेलने के लिए झूले और पाथवे का निर्माण भी किया जाएगा।
लम्बे समय बाद यह अवसर आया जब हुड़को क्षेत्र की सड़कें चकाचक हो रही हैं। यह क्षेत्र के लोगों की लम्बे समय से मांग थी। लोगों को खासतौर पर बारिश के दिनों में दिक्कतों का सामना करना पड़ता था। क्षेत्र के दो वार्डों के लिए अब 5 करोड़ की राशि मिली है। इससे मार्गों का अन्नयन और ड्रेनेज सिस्टम का संधारण होगा। नगर निगम के ये दोनों वार्ड क्रमांक 69 और 70 के लिए करीब 14.4 किमी सड़कों का डामरीकरण किया जाना है। इसके अलावा 2.9 किमी मार्गों का निर्माण भी प्रारम्भ हो गया है। मंत्री पाण्डेय के प्रयासों से ही हुड़को के सभी मार्गों का डामरीकरण होना है। यह कार्य भी शुरू हो चुका है। यह काम 51.90 लाख की लागत से होना है। वहीं 34 सड़कों का कुल 1 करोड़ 54 लाख की लागत से डामरीकरण होना है। वार्ड क्रमांक 69 के 5.7 किमी सड़कों के डामरीकरण के लिए भी 1 करोड़ 38 लाख 59 हजार की राशि स्वीकृत हुई है। इसके अलावा टाउनशिप के सभी प्रमुख इलाकों और बाजार क्षेत्रों में वाटर एटीएम भी लगाए जाएंगे। पाण्डेय ने इसके लिए निगम अफसरों को पहले ही प्रस्ताव करने को कहा है। दरअसल ये वे इलाके हैं, जहां लोगों को पेयजल के लिए दिक्कतें होती है।

Source: 
visionnewsservice.in

Related News