मड़कड़ा चेक डैम निर्माण की होगी जांच

चुनाव आचार संहिता समाप्त होने के बाद जिला कार्यालय में आयोजित पहली जनदर्शन में आज बड़ी संख्या में लोग आवेदन लेकर पहुंचे। कलेक्टर जे.पी.पाठक के नेतृत्व में अधिकारियों की टीम ने बड़ी इत्मीनान के साथ उन सबकी समस्याएं सुनी और इनका सार्थक निराकरण के लिए अधिकारियों को निर्देशित किया। कलेक्टर ने मनरेगा के अंतर्गत कसडोल विकासखण्ड के ग्राम मड़कड़ा चेक डैम निर्माण में घटिया सामग्री के इस्तेमाल को गंभीरता से लेते हुए इसकी जांच करने के निर्देश दिए। उन्होंने खैरी में पेयजल की समस्या को देखते हुए पीएचई विभाग के ईई को स्वयं गांव जाकर समस्या का निदान करने को कहा है। जनदर्शन में जिला पंचायत के सीईओ एस. जयवर्धन, अपर कलेक्टर जोगेन्द्र नायक, एसडीएम तीर्थराम अग्रवाल और डिप्टी कलेक्टर अरविन्द पाण्डेय ने भी समस्याएं सुनी और उनका यथासंभव समाधान किया।
जनदर्शन में जिले के ग्राम कोसमंदी के किसान परदेशी राम वर्मा ने भी जनदर्शन में आवेदन सौंपकर खेती के रकबे में सुधार करने की मांग की। उन्होंने कहा कि उनकी कुल 4.5 एकड़ कृषि भूमि है। इनमें से केवल 3.2 एकड़ का पंजीयन धान विक्रय के लिए हो सका है और 1.3 एकड़ पंजीयन के लिए छूट गया है। कलेक्टर ने तहसीलदार पलारी को मामले की जांच कर सुधारने के निर्देश दिए। बलौदाबाजार तहसील के ग्राम सोनाडीह निवासी नि:शक्तजन ऐश्वर्य कुमार साहू ने आजीविका के लिए ई-रिक्शा प्रदाय करने का अनुरोध किया। उन्होंने बताया कि कौशल विकास योजना के अंतर्गत उन्हेांने आईटीआई संकरी से तीन महीने का इसे चलाने का कोर्स किया है। आर्थिक हालात बदतर होने के कारण स्वयं होकर खरीदने में असमर्थ है। कलेक्टर ने उप संचालक समाज कल्याण को उनका आवेदन भेजकर आवश्यक कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। जिले के ग्राम खैरी आर में पानी की समस्या को लेकर ग्राम वासियों ने कलेक्टर को आवेदन दिए। कलेक्टर ने पीएचई विभाग के ईई को परीक्षण करके जरूरत के अनुरूप समाधान करने कहा है। कसडोल विकासखण्ड के गांव मड़कड़ा में निर्मित चेक डैम और टार नाली निर्माण में घटिया सामग्री के इस्तेमाल की जांच करने का आग्रह किया। मनरेगा योजना के अंतर्गत वर्ष 2018-18 में ढोडिया नाला और बरनाला पर इसका निर्माण किया गया है। कलेक्टर ने सीईओ जनपद को उनका आवेदन भेजकर इसकी जांच कर रिपोर्ट प्रस्तुत करने को कहा है।
पलारी तहसील के ग्राम साहड़ा के लोगों ने बड़ी संख्या में पहुंचकर वृद्धावस्था और विधवा पेंशन के आवेदन लम्बे समय से स्वीकृति के लिए पड़े रहने का आरोप लगाया। कलेक्टर ने सीईओ पलारी को निर्देशित कर उनके आवेदनों का परीक्षण कराने के लिए निर्देशित किया। कानाकोट गांव के बिसनु सतनामी ने कच्चे मिट्टी का घर होने और गरीबी का हवाला देते हुए अपने लिए आवास स्वीकृत करने का आग्रह किया। कलेक्टर ने जिला पंचायत के सीईओ को उनका आवेदन भेजकर आवश्यक कार्रवाई के निर्देश दिए। बलौदाबाजार तहसील के गांव सिंघारी निवासी प्रेरक चोलाराम पटेल ने तीन महीने का वेतन नहीं मिलने की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि शासकीय पूर्व माध्यमिक शाला भालूकोना में उनके द्वारा किए गए पढ़ाई कार्य के दौरान तीन महीने का वेतन नहीं मिला है। अपर कलेक्टर ने सीईओ बलौदाबाजार को मामले की जांच कर भुगतान करने के निर्देश दिए हैं। पलारी विकासखण्ड के ग्राम सैहा से आए युवाओं ने स्वरोजगार के लिए बैंक से ऋण दिलाने की मांग रखी। जिला पंचायत के सीईओ ने लीड बैंक अफसर को उनका आवेदन सौंपकर आवश्यक कार्रवाई करने को कहा है।

Source: 
visionnewsservice.in

Related News