मारपीट की पूछताछ के लिए छात्र को पुलिस ले गयी, घर लौटने के बाद स्टेडियम में मिली फांसी पर लटकी लाश

जिले के पोटियाडीह गांव में एक छात्र ने बदनामी के डर से फांसी लगा ली। मृतक के परिजनों को कहना है कि, पुलिस की ओर से जबरिया पूछताछ के कारण उसने यह कदम उठाया है। छात्र 9वीं कक्षा में अध्यनरत था। घटना की खबर लगते ही तत्काल पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस के मुताबिक मृतक के दोस्तों ने गांव में किसी के साथ मारपीट की थी। रविवार को दोस्तों सहित छात्र को पूछताछ करने थाना लाया गया था।
00 पूछताछ के बाद पुलिस ने सभी को छोड़ा था गांव :
अर्जुनी पुलिस ने कहा कि, पूछताछ के बाद पुलिस अपने वाहन से सभी को पोटियाडीह छोड़कर लौट आई थी। मृतक छात्र रेखराम घर पहुंचने के बाद कही वापस निकल गया। देर रात तक घर वापस नहीं लौटा, तब परिजन घबरा गए। परिजनों ने रेखराम की तलाश शुरू की तो देर रात रेखराम का शव गांव के स्टेडियम में फांसी पर लटका मिला। जानकारी अलसुबह परिजनों ने पुलिस को दी। पुलिस मामले में मर्गकायम के बाद जांच में जुटी है।
00 पिता ने लगाया खाकी पर आरोप :
मृतक छात्र के पिता घनश्याम साहू ने आरोप लगाया है कि, पुलिस के डांट-फटकार और दबाव के कारण उनके बेटे ने फांसी लगाई है। वहीं अर्जुनी थाना निरीक्षक उमेन्द्र टंडन ने कहा कि, मृतक का नाम मारपीट की घटना में नहीं था। सिर्फ उसके दोस्त ही शामिल थे। मृतक से किसी तरह की पूछताछ नहीं की गई है।

Source: 
Vision News Service

Related News