मिजल्स रूबेला अभियान की समन्वय बैठक

खसरा वायरस से होने वाला एक जान लेवा रोग है। जिससे प्रति वर्ष देश में हजारों बच्चें असमय कालकवलित हो जाते हैं। रूबेला भी वायरस से होने वाला रोग है जिसके लक्षण खसरा रोग के लक्षण के समान होते है। इन बीमारियों से बच्चों को बचाने के लिए शासन की ओर से देश भर में मिजल्स रूबेला अभियान चलाया जा रहा है। अभियान के अंतर्गत 9 माह से 15 वर्ष तक के बच्चों को शालाओं, आंगनबाड़ी केन्द्रों, मदरसों में खसरा रूबेला का टीका नि: शुल्क लगाया जा रहा है। जिले में अभियान के लिए 406750 बच्चों को चिन्हाकित कर सूक्ष्म कार्य योजना बनाई जा चुकी है। वर्तमान में 203224 बच्चों को टीकाकरण के माध्यम से सुरक्षित किया जा चुका है जो कि लक्ष्य का 50 प्रतिशत है। जिले में यह अभियान 6 अक्टूबर से प्रारंभ किया जा चुका है। अभियान की समीक्षा करते हुए कलेक्टर जेपी पाठक की ओर से मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को निर्देशित किया गया कि वे सहयोगी विभिन्न विभागो की समन्वय बैठक करें और अभियान में तेजी लाएं।
कलेक्टर जेपी पाठक के निर्देशानुसार 26 अक्टूबर को जिले के सभी विकासखण्डों में समन्वय बैठक किए गए। विकासखण्ड भाटापारा के शिवलाल मेहता उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में स्वास्थ्य, शिक्षा और महिला एवं बाल विकास विभाग के अधिकारी एवं कर्मचारियों की समन्वय बैठक हुई।

Source: 
visionnewsservice.in

Related News